मस्जिदों में पांच लोग और बाकियों ने घरों में अदा की ईद की नमाज

नमाज अदा करने के बाद कोरोना से निजात पाने की दुआ मांगी
ललितपुर/मड़ावरा। देश में फैले कोरोनावायरस कोविड-19 वायरस के संक्रमण की बजह से सरकारी गाइडलाइन अनुसार ईद की नमाज को घरों में पढऩे के दिशा-निर्देश जारी किए गए थे। ईदगाह एवं मस्जिदों में केवल पांच लोगों के लिए ही ईद की नमाज अदा करने की अनुमति थी। जिसका पालन मुस्लिम समुदाय द्वारा बखूबी किया गया और सादकी के साथ मस्जिदों में पांच-पांच लोगों ने एवं सभी ने अपने-अपने घरों में ईद-उल-फितर की नमाज अदा की। कस्बे की दोनों मस्जिदों में पांच-पांच लोगों ने नमाज अदा की। नमाज अदा करने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने देश में अमनो-चैन एवं कोरोनावायरस कोविड-19 से जल्द निजात पाने की दुआएं की। मड़ावरा जामा मस्जिद के पेश इमाम ने बताया कि दो दिन पूर्व जनपद ललितपुर के पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार के दिशा निर्देशन पर थाना मड़ावरा में पीस कमेटी की बैठक आयोजित की गई थी जिसमें ईद के लिए जो गाइडलाइन थी उसे हमे बताया गया था कि मस्जिदों में केवल पांच लोगों के साथ नमाज अदा की जाए। उसी क्रम में हम लोगों ने जामा मस्जिद में 5 लोगों के साथ ईद उल फितर की नमाज को अदा किया एवं देश में फैले कोरोना वायरस कोविड-19 जैसी घातक बीमारी से जल्द निजात पाने के लिए अल्लाह से दुआ की और देश में अमन चैन के लिए भी दुआएं मांगी। वहीं दूसरी ओर मुस्लिम भाइयों ने भी इस बार देश में जो संकट की स्थिति कोविड-19 वायरस की वजह से फैली हुई है उसकी वजह से ज्यादा खुशियां ना मनाते हुए साधारण तौर पर ईद को मनाया। यही हाल मड़ावरा टोरिया मस्जिद पर भी रहा जहां पेश इमाम को मिलाकर कुल पांच लोगों ने मस्जिद में ईद की नमाज को अदा किया और सरकारी गाइडलाइन का पालन किया। बताते चलें कि एक माह के रोजे रखने के बाद मुस्लिम समूदाय के लिये ईद का पर्व खुशी का पर्व माना जाता है। इस दौरान दोनों मस्जिदों के बाहर शांति व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस बल तैनात रहा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

होमियोपैथी कोरोना के नए वैरीअंट के खिलाफ महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है-डॉ एम डी सिंह