राज्य सरकार लक्षित आयु वर्ग के समस्त लोगों को वैक्सीनेट करने के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही- योगी आदित्यनाथ

सुरेन्द्र अग्निहोत्री , लखनऊ: 24 मई, 2021
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण हमारा रक्षा कवच है। राज्य सरकार लक्षित आयु वर्ग के समस्त लोगों को वैक्सीनेट करने के लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है। प्रदेश में व्यापक स्तर पर निःशुल्क कोविड वैक्सीनेशन कार्य किया जा रहा है। उन्होंने राज्य में कोविड वैक्सीनेशन कार्य को और तेजी से आगे बढ़ाने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री जी रविवार को यहां अपने सरकारी आवास पर वृहद कोविड टीकाकरण के सम्बन्ध में उच्चस्तरीय समिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत सरकार व राज्य सरकार निःशुल्क कोविड वैक्सीनेशन करा रही हंै। केन्द्र सरकार द्वारा 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण कराया जा रहा है। राज्य सरकार अपने संसाधनों से प्रदेश के 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण करा रही है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के 23 जनपदों में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को टीकाकरण किया जा रहा है। आगामी 1 जून से प्रदेश के सभी 75 जनपदों में इस आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण प्रारम्भ हो जाएगा। उन्होंने इस सम्बन्ध में सभी व्यवस्थाओं को समय से सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि लक्षित आयुवर्गाें के लिए वैक्सीन की सुचारू उपलब्धता बनाए रखी जाए। इसके लिए केन्द्र तथा दोनों टीका निर्माता कम्पनियों से लगातार संवाद कायम रखा जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विशेषज्ञों द्वारा कोविड-19 की सम्भावित थर्ड वेव में बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की आंशका व्यक्त की जा रही है। इसके दृष्टिगत राज्य सरकार ने 12 वर्ष तक की आयु के बच्चों के अभिभावकों को वैक्सीनेट करते हुए उन्हें सुरक्षा कवच प्रदान करने का निर्णय लिया है। उन्होंने ऐसे अभिभावकों का टीकाकरण प्राथमिकता पर किये जाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए प्रत्येक जनपद में ‘अभिभावक स्पेशल’ बूथ स्थापित किये जाएं। ऐसे अभिभावकों से सम्पर्क कर उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया जाए। यह वैक्सीनेशन अभिभावकों के साथ-साथ इनके बच्चों की संक्रमण से सुरक्षा में उपयोगी होगा। उन्होंने इस कार्य को अभियान के रूप में संचालित किये जाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य कर्मचारियों के टीकाकरण के लिए सभी जनपदों में अलग से बूथ स्थापित किये जाएं। इन्हें जनपद, तहसील एवं विकास खण्ड मुख्यालय स्तर पर संचालित किया जाए। इसी प्रकार अध्यापकों के टीकाकरण कार्य को भी आगे बढ़ाया जाए। इसके लिए प्रत्येक जनपद में जिला विद्यालय निरीक्षक तथा बेसिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालयों को केन्द्र बिन्दु बनाकर प्रभावी कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारत सरकार द्वारा अभी 03 वैक्सीन के प्रयोग की अनुमति दी गयी है। आने वाले समय में कई अन्य वैक्सीन की उपलब्धता सम्भावित है। इसकी प्रगति पर सतत नजर रखी जाए। उन्होंने कहा कि वैक्सीन डोज की सुचारु उपलब्धता बनाये रखने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा ग्लोबल टेण्डर जारी किया गया है। इस सम्बन्ध में यह प्रयास किया जाए कि अधिक से अधिक वैक्सीन निर्माता कम्पनियां इस कार्यवाही में प्रतिभाग करें। इसके लिए सम्बन्धित कम्पनियों के प्रतिनिधियों से संवाद स्थापित किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि टीकाकरण के सम्बन्ध में लोगों को जागरूक किया जाए। इस सम्बन्ध में विभिन्न प्रचार माध्यमों का उपयोग किया जाए। लक्षित आयु वर्ग के अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करने की कार्यवाही में जनप्रतिनिधिगण का सहयोग लिया जाए। जनप्रतिनिधिगण को टीकाकरण केन्द्रों का भ्रमण करने के लिए आमंत्रित किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने जीरो वेस्टेज के लक्ष्य के साथ वैक्सीनेशन कार्य को संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि टीकाकरण की कार्यवाही में कोविड प्रोटोकाॅल का पूर्ण पालन कराया जाए। गांवों में काॅमन सर्विस सेण्टर के माध्यम से वैक्सीनेशन हेतु निःशुल्क पंजीयन की सुविधा दी गयी है। इसका व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाए, ताकि अधिक से अधिक पात्र लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकें।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा