मुख्यमंत्री ने लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी कोविड हॉस्पिटल का लोकार्पण किया

डी0आर0डी0ओ0 द्वारा स्थापित 500 बेड के इस चिकित्सालय में वेंटिलेटर युक्त 150 बेड तथा शेष बेड आॅक्सीजन की सुविधा युक्त
प्रदेश में कोविड बेड की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी की जा रही: मुख्यमंत्
री कोरोना के खिलाफ जंग में हम सभी को एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा
संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों से आशाजनक परिणाम मिलने लगे
मरीज के परिजनों को दिन में एक बार मरीज के स्वास्थ्य की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी जाए
लखनऊ: 05 मई, 2021 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां अवध शिल्प ग्राम में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी कोविड हॉस्पिटल का लोकार्पण किया। डी0आर0डी0ओ0 द्वारा स्थापित 500 बेड के इस चिकित्सालय में वेंटिलेटर युक्त 150 बेड तथा शेष बेड आॅक्सीजन की सुविधा युक्त हैं। मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर कोविड हाॅस्पिटल के होल्डिंग एरिया, आई0सी0यू0-1, आई0सी0यू0-2 तथा आॅक्सीजन बेडेड वाॅर्ड एवं फार्मेसी का भ्रमण किया। उन्होंने चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ एवं अन्य कर्मचारियों से अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। वे हाॅस्पिटल के कमाण्ड कक्ष में भी गये, जहां उन्होंने उपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ संवाद किया। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में कोविड बेड की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी की जा रही है। इसी क्रम में गत दिवस लखनऊ के कैंसर संस्थान में आॅक्सीजन एवं वेंटिलेटर युक्त 100 बेड के डेडिकेटेड कोविड हाॅस्पिटल को लोकार्पित किया गया। आज 500 बेड का यह हाॅस्पिटल मरीजों की सेवा के लिए उपलब्ध हो गया है। इस चिकित्सालय की स्थापना में प्रदेश सरकार द्वारा हर सम्भव सहयोग प्रदान किया गया है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जंग में हम सभी को एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा। संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों के आशाजनक परिणाम मिलने लगे हैं। स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होने वाले लोगों की संख्या पिछले 24 घण्टे में संक्रमण के नये मामलों की संख्या से अधिक रही है। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पताल में वरिष्ठ चिकित्सक नियमित राउण्ड लें। मरीज के परिजनों को दिन में एक बार मरीज के स्वास्थ्य की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी जाए। उन्होंने आपदा की इस स्थिति में मरीजों तथा उनके परिजनों के साथ पूरी संवेदनशीलता के साथ व्यवहार किये जाने पर बल दिया। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, महिला कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाती सिंह एवं वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि