तनाव का इलेक्ट्रो होम्योपैथी में है कारगर इलाज

~ हमीरपुर, 31 मई. मानसिक तनाव या दबाव आज के भाग दौड़ जिंदगी में होना आम समस्या हो गयी है. आमतौर पर हर कोई कहता है मैं तनाव में हूँ. तनाव व्यक्ति में अवसाद पैदा करता है. अत्यधिक मानसिक तनाव व दबाव में आकर कुछ लोग पागल हो जाते हैं या घर छोड़कर भाग जाते है अथवा अवसाद भरे जीवन से ऊबकर आत्महत्या कर लेते हैं. जीवन में अत्यधिक दबाव होने पर विपरीत प्रकार के संवेदक कार्य करने लगते हैं. चाहे वह शारीरिक हों या बाहरी अथवा अंदरूनी हों इससे व्यक्ति की शारीरिक और मानसिक प्रणालियों पर बुरा असर पड़ता है. व्यक्ति इससे छुटकारा पाना चाहता है. मानसिक तनाव में प्रमुख रूप से झगड़े-फसाद, निराशा, असहमति, असफलता, दिवालियापन, अधिक परिश्रम करना, पुराने व स्थायी रोग या बार-बार होने वाले रोग, हार्मोन्स में बदलाव होने से से गर्भधारण तथा मीनोपॉज व यौन रोग आते हैं. वातावरण में बाहरी बदलाव होने से भी तनाव होता है. [ इलेक्ट्रो होम्योपैथी के जिला प्रभारी ई एच चिकित्सक गणेश सिंह कहते हैं कि लगातार तनाव रहने से अनिद्रा, चिंता, उच्च रक्तचाप या निम्न रक्तचाप, शीघ्र घबराना, नाड़ियों में दुर्बलता, कमजोरी, रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाना, नर्वस सिस्टम कमजोर हो जाना, व्यग्रता, शीघ्र क्रोधित होना, ध्यान में कमी, कहीं मन ना लगना, पाचन क्रिया का कमजोर हो जाना, पेट में एसिड बनना, कोलाईटिस, सिर दर्द, माइग्रेन, मासिक धर्म में अनियमितता, शीघ्रपतन, हृदयाघात आदि लक्षण सामने आते हैं. इलेक्ट्रो होम्योपैथी में इन सबका कारगर इलाज है. जो व्यक्ति को तनाव मुक्त कर सकता है परन्तु इसके लिए रोगी को भी तनाव मुक्त रहने के लिए चिकित्सा के साथ कुछ आसान तरीके भी अपनाना होगा तभी तनाव पूर्ण रूप से दूर किया जा सकता है. जितनी जल्दी हो सके तनाव का कारण पहचान कर उस समस्या का समाधान तलाश कर उसे हल करना चाहिए. जीवन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखना चाहिए. परिवार व दोस्तों एवं सहयोगियों का यथा सामर्थ्य मानसिक रूप से सहयोग करना चाहिए. ताकि तनावग्रस्त व्यक्ति को जल्दी ठीक होने में मदद मिल सके. हल्के-फुल्के शारीरिक व्यायाम, आसान योगासन करना चाहिए. उचित पौष्टिक आहार लेना चाहिए. सात-आठ घंटे नींद लेना चाहिए ताकि तनाव को काबू में किया जा सके. धूम्रपान एवं नशा नहीं करना चाहिए. चाय-काफ़ी एवं कोल्ड ड्रिंक के सेवन से बचना चाहिए. मानसिक शान्ति एवं आराम के लिए नित्य प्रति मेडिटेशन करना (ध्यान लगाना) भी अच्छा उपाय है. [इलेक्ट्रो होम्योपैथी में ऐसी अनेक औषधियां हैं जो तनाव को दूर करने में बहुत ही कारगर हैं. जिनमें L1.A2/A3.S1/S2/S5/S9.C5.F1.Ven1.C1. C8.Ver2.WE. उल्लेखनीय हैं. लेकिन यह औषधियां केवल सुयोग्य एवं अनुभवी इलेक्ट्रो होम्यपैथिक चिकित्सक (ई एच डाक्टर) की सलाह पर लेनी चाहिए. क्योंकि इस पद्धति में रोग के लक्षण की नहीं बल्कि रोग के कारण को दूर करने वाली औषधियां दी जाती हैं, जो मानसिक तनाव व दबाव दूर करने में सहायक सिद्ध होती हैं. परन्तु सबसे ज्यादा आवश्यक है कि रोगी द्वारा तनाव व दबाव के कारणों को दूर किया जाए. तभी इस विकट समस्या का स्थायी समाधान निकल सकता है. ~ जिला प्रभारी इलेक्ट्रो होम्योपैथी ई एच चिकित्सक गणेश सिंह ए.सी.ई.एच. (बीईएचएम लखनऊ)

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या