- मॉडर्न ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट्स, इंदौर में फ़ार्मास्यूटिकल्स कॉलेज में आयोजित की गयी कार्यशाला।

इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राईट्स ( IPR) पर मॉडर्न इंस्टीट्यूट्स में एक-दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला आयोजित।
इंदौर, विद्यार्थियों में शोध एवं नावाचार को प्रोत्साहन देने के लिये मॉडर्न इंस्टीट्यूट ऑफ़ फ़ार्मास्यूटिकल्स साईंजेस ने आई. पी. आर पर कार्यशाला आयोजित की। कार्यशाला में मुख्य वक्ता के रूप में एडवोकेट राकेश सोनी जी आमंत्रित रहे। श्री राजेश सोनी देश के जाने माने आई. पी.आर एक्सपर्ट्स में अपना विशेष स्टीव रखते हैं। मॉडर्न ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट्स के समूह निदेशक डॉ पुनीत द्विवेदी ने एडवोकेट सोनी का स्वागत किया।अपने स्वागत भाषण में डॉ.द्विवेदी ने स्टार्टअप एवं उद्यमिता विकास के क्षेत्र में IPR के महत्व को बतलाया। वक्का एडवोकेट श्री सोनी ने पावर प्वाइंट प्रेजेनटेशन के माध्यम से पेटेन्ट्स, कॉपीराइट, ट्रेडमार्क, जी.आई आदि के बारे में पूरी जानकारी दी एवं डेमो के माध्यम से विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को समझाने का सफल प्रयास किया।अपने विशेष उद्बोधन में संस्था के अध्यक्ष डॉ अनिल खरया ने विद्यार्थियों को शोध एवं नवाचार के लिये प्रेरित किया। संस्था की विभागाध्यक्षा डॉ. सपना मालवीया ने कार्यशाला के महत्व पर प्रकाश डाला। प्राध्यापिका श्रीमती प्रीति मूले ने वक्ता श्री सोनी के प्रति आभार व्यक्त किया।ज्ञातव्य है कि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) द्वारा नवाचारों के संवर्द्धन हेतु समस्त संबंधित शैक्षणिक संस्थानों में इंस्टीट्यूट इन्नोवेशन काऊंसिल (आई.आई.सी) की स्थापना की गयी है। मॉडर्न ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूट्स के अंतर्गत संचालित सभी महाविद्यालय इंदौर में नवाचार एवं उद्यमिता विकास के महत्वपूर्ण केन्द्र के रूप में जाने जाते हैं। एम.एस.एम.ई ( भारत सरकार) द्वारा समर्थित मॉडर्न इंक्युबेटर भी फ़ार्मा नवाचारों को मूर्त रूप देने में महती भूमिका निभा रहा है। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती मितेश सचदेवा ने किया।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि