वैक्सीनेशन सेंटरों का डीएम व सीडीओ ने किया औचक निरीक्षण

दवाओं की उपलब्धता के साथ नियमों का पालन करने के दिये निर्देश
शिवम अग्निहोत्री ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार एवं मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडेय ने जनपद के ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 अंतर्गत वैक्सिनेशन कार्य का औचक निरीक्षण किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने तालबेहट क्षेत्र अंतर्गत कडेसराकलां एवं असउपुरा में उपस्थित एमओआईसी, सीएचओ व एएनएम से ग्राम स्तर पर किये जा रहे वैक्सिनेशन की प्रगति की जानकारी ली। यहां पर जिलाधिकारी ने संबंधित लेखपाल, उचित दर विक्रेता, आशा, आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका को निर्देशित किया कि वह अपने-अपने क्षेत्र में ग्रामीण जनता को वैक्सीनेशन के प्रति संपूर्ण जानकारी देते हुए प्रोत्साहित करें। मौके पर जिलाधिकारी ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय असउपुरा परिसर में अधूरे पड़े कक्ष का संज्ञान लेते हुए उप जिला अधिकारी को निर्देशित किया कि निर्माण कार्य की जांच कर कार्य पूर्ण ना किए जाने के दोषी के विरुद्ध कार्रवाई करें, इसके साथ ही वैक्सीनेशन हेतु तैनात मेडिकल स्टाफ द्वारा यदि लोगों से किसी प्रकार की अभद्रता की जाती है तो सम्बन्धित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करें। इसके साथ ही वैक्सीनेशन को त्वरित गति से कराए जाने एवं शत प्रतिशत आच्छादन हेतु एमओआईसी से समन्वय स्थापित कर आवश्यक पर्यवेक्षण करें। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने आयुष्मान भारत योजना के तहत हेल्थ एंड वैलनेस जमालपुर का भी निरीक्षण किया। यहां पर जिलाधिकारी ने पेयजल व्यवस्था सुचारू बनाए रखने हेतु एमओआईसी को निर्देश दिए, साथ ही कहा कि बुखार-खांसी से पीडि़त मरीजों की जांच कराते हुए आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराएं। मौके पर जिलाधिकारी ने केंद्र पर सफाई व्यवस्था, दवाओं की उपलब्धता का भी जायजा लिया तथा केंद्र पर नियमित सफाई कराने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन्होंने अभिलेखों का सत्यापन भी किया। केंद्र के बाहर व पंचायत भवन के बाहर खराब पड़े हैंडपंप की मरम्मत हेतु ग्राम प्रधान को निर्देशित किया। इसी प्रकार मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय द्वारा भी ग्राम गिदवाहा, नैनवारा एवं साडूमल में वैक्सीनेशन कार्य का जायजा लेने के लिए औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान नैनवारा एवं साडूमल में वैक्सीन लगाई जा रही थी। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित स्वास्थ्य कर्मियों से वैक्सीनेशन के संबंध में जानकारी प्राप्त की साथ ही निर्देश दिये कि लोगों को वैक्सीन लेने हेतु प्रेरित करें एवं शत प्रतिशत वैक्सिनेशन कराएं। इसके साथ ही मुख्य विकास अधिकारी ने ग्राम गिदवाहा में जन चौपाल लगाकर लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाओ के उपाय एवं वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने स्वास्थ्यकर्मियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कोविड संक्रमण को रोकने में आप सभी की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है, इसलिए आप सभी अपने दायित्वों का संवेदनशील होकर निर्वहन करें। उन्होंने निगरानी समितियों को याद दिलाते हुए कहा कि जिस तरह से पिछले साल कोविड-19 प्रसार को रोकने में निगरानी समितियों द्वारा सक्रिय भूमिका निभाई गई थी, इस वर्ष भी इतनी तत्परता से कार्य करें। उन्होंने निगरानी समिति से वार्ता करते हुए समिति द्वारा किए जाने वाले कार्यों की जानकारी ली तथा वर्तमान में किये जारहे कार्यों की समीक्षा भी की, उन्होंने कहा कि समिति गांव में रहने वाले अथवा बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जानकारी लेंगे, यदि कोई संदिग्ध मिलता है तो चेकिंग/टेस्टिंग कराते हुए उन पर नजर रखेगें। निरीक्षण के दौरान उपस्थित लोगों को बताया गया कि शासन के निर्देशों के क्रम में 10 मई 2021 से 45 वर्ष से ऊपर के समस्त नागरिकों को कोविड वैक्सीन के प्रथम डोज हेतु टीकाकरण किया जा रहा है। यह टीकाकरण उनके द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण कराने के पश्चात ही किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बॉक-इन के माध्यम से ऑन द स्पॉट पंजीकरण की व्यवस्था प्रथम डोज के लिए 10 मई, 2021 से अग्रिम आदेशों तक के लिए स्थगित की गई है। द्वितीय डोज के टीकाकरण का कार्य पूर्व की भांति यथावत किया जायेगा। मौके पर लोगों को रजिस्ट्रेशन के सम्बंध में जानकारी देते हुए बताया गया है कि टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन कोविड ऐप या आरोग्य सेतु ऐप से कराया जा सकता है। ऐप पर आपको रजिस्ट्रेशन का विकल्प दिखेगा। इस विकल्प को चुनने के बाद यह प्रक्रिया अपनाएं। मोबाइल फोन नम्बर या आधार नम्बर भरें। मोबाइल फोन नम्बर पर एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) आएगा जिसे वेरिफाइ करना होगा। वेरिफाइ करते ही वैक्सीन सेण्टर की लिस्ट दिखने लगेगी। कोविन 2.0 आधुनिक वर्जन है, और यह जीपीएस आधारित है। इसलिए यह आपकी लोकेशन से पास के सेण्टर को दर्शाएगा। आप अपनी सुविधानुसार वैक्सिनेशन सेण्टर का चयन कर लें। इसमें टाइम स्लॉट भी चुन सकते हैं। तय वक्त पर टीकाकरण सेण्टर पहुँचकर लाभ उठाएं। रजिस्ट्रेशन कराने के बाद लाभार्थी को अपॉइण्टमेण्ट लेना आवश्यक होगा। बिना स्लॉट के टीकाकरण नहीं होगा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर