पेयजल की क्वालिटी टेस्टिंग व क्लोरिनेशन कर होगी प्रदेश में शुद्ध जलापूर्ति : आशुतोष टंडन

कोविड-19 के दृष्टिगत मा. नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन जी ने की चौथी वर्चुअल समीक्षा
लखनऊ 4 मई 2021 कोविड-19 के दृष्टिगत मा. नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन जी द्वारा प्रदेश के सहारनपुर और मेरठ मण्डलो के 9 जिलों सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, हापुड़, गौतम बुद्ध नगर, बुलन्दशहर के 58 नगर पंचायतों के मा. अध्यक्षों व अधिशासी अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक की। मा. मंत्री जी द्वारा ये चौथी समीक्षा बैठक की गई। जिसमें मा. मंत्री जी ने समस्त निकायों को ग्रीष्म ऋतु के दृष्टिगत शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि प्रदेश भर में समस्त नगर निगमों, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों में कुल 10071 नलकूप स्थापित है, जिनमें से तकनीकी समस्या होने से अक्रियाशील कुल 904 नलकूपों में से अब तक कुल 342 को मरम्मत कर ठीक करा लिया गया है। मा. मंत्री जी ने बाकी बचे अन्य नलकूपों को एक सप्ताह के भीतर ठीक कराने के निर्देश दिए। इसके अलावा नगर निगमों, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों 250386 इण्डिया मार्का-2 हैण्ड पम्प स्थापित हैं, जिनमें से मरम्मत योग्य कुल 8227 हैण्ड पम्पों के सापेक्ष 4499 हैण्ड पंपों की मरम्मत की जा चुकी है शेष बचे हुए की एक सप्ताह के अंदर मरम्मत कराकर चालू किये जाने के लिए निर्देशित किया गया। मंत्री जी द्वारा जानकारी दी गई कि ये सभी कार्य केंद्रीय वित्त आयोग से मिलने वाली धनराशि व राज्य वित्त आयोग की धनराशि से होंगे। वहीं प्रदेश के समस्त स्थानीय निकायों द्वारा क्वालिटी टेस्टिंग व क्लोरिनेशन करते हुए शुद्ध पेयजल की समुचित आपूर्ति किए जाने के भी निर्देश मंत्री जी द्वारा दिए गए हैं। प्रदेश भर के 562 नलकूप की शीघ्र हो रिबोरिंग : श्री आशुतोष टंडन जी मा. मंत्री जी द्वारा जानकारी दी गई कि प्रदेश के समस्त नागर निकायों में प्रतिदिन आवश्यक पेयजल की आपूर्ति की जा रही है। समस्त नगर निगमों, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों में कुल 10071 नलकूप स्थापित है, जिनमें से टेक्नीकल समस्या होने से अक्रियाशील कुल 904 नलकूपों में से अब तक कुल 342 को मरम्मत कर ठीक करा लिया गया है बाकी बचे अन्य नलकूपों को एक सप्ताह के भीतर ठीक कराने के निर्देश मंत्री जी द्वारा दिये गए हैं। वहीं, रिबोर योग्य कुल 694 नलकूपों के सापेक्ष अब तक 161 को रिबोर करते हुए चालू कर लिया गया है, बाकी बचे 562 नलकूपों को शीर्ष ही रिबोर कराने के निर्देश दिए गए हैं। खराब हैण्ड पम्पों की जल्द मरम्मत हो : नगर विकास मंत्री नगर विकास मंत्री ने बताया कि प्रदेश के समस्त नगर निगमों, नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों 250386 इण्डिया मार्का-2 हैण्ड पम्प स्थापित हैं। जिनमें से मरम्मत योग्य कुल 8227 हैण्ड पम्पों के सापेक्ष 4499 हैण्ड पंपों की मरम्मत की जा चुकी है। शेष बचे हुए की एक सप्ताह के अंदर मरम्मत कराकर चालू किये जाने के निर्देश दिए गए है। मंत्री जी ने बताया कि रिबोर योग्य 16115 हैण्ड पम्पों में से 1525 को रिबोर किया गया है। वहीं उन्होंने बचे हुए हैंड पंपों को शीघ्र की रिबोर कराने के निर्देश दिए। प्रदेश भर में युद्ध स्तर पर चल रहा सैनिटाइजेशन व सफाई अभियान : श्री आशुतोष टंडन जी श्री आशुतोष टंडन जी ने बताया कि प्रदेश भर में युद्ध स्तर पर चला सैनिटाइजेशन व सफाई अभियान चलाया गया है। समस्त नगर निकायों में अब तक 5375 टीमें के माध्यम से 199150 स्थानों पर सैनिटाइजेशन का करवाया जा चुका है। इसके अलावा समस्त निकायों में 81087 श्रमिकों को लगाकर विशेष सफाई अभियान चलाया गया है। अभियान के अंतर्गत 9149 स्थलों को गार्बेज मुक्त करते हुए 11489 मीट्रिक टन अपशिष्ट को लैण्डफिल साइट/ प्रोसेसिंग साइट तक पहुंचाया गया है। इसी अभियान के दौरान 5555 वार्डों में फॉगिंग व 6566 वार्डों में एंटी लार्वा का छिड़काव करावाया गया है। 10 नगर पंचायतों से विशेष तौर की चर्चा मा. मंत्री जी ने नगर निकाय रबूपुरा (गौतमबुद्धनगर) के अध्यक्ष श्री विरेन्द्र प्रताप सिंह, बुढ़ाना (मुजफ्फरनगर) की अध्यक्ष श्रीमती बाला त्यागी, शाहपुर (मुजफ्फरनगर) के अध्यक्ष श्री प्रमेश कुमार सैनी, जानसठ (मुजफ्फरनगर) के अध्यक्ष श्री प्रवेंद्र कुमार भड़ाना, नरौरा (बुलन्दशहर) के अध्यक्ष श्री विवेक वशिष्ठ, भवनबहादुरनगर (बुलन्दशहर) की अध्यक्ष श्रीमती महेश रुड़कीवाल, परीक्षितगढ (मेरठ) के अध्यक्ष श्री अमित मोहन गुप्ता, अग्रवालमण्डी (बागपत) के अध्यक्ष डॉ० विनोद कुमार, बनत (शामली) के अध्यक्ष श्री राजीव कुमार चौधरी से सैनिटाइजेशऩ, कंटेंमेंट जोन, निगरानी समितियों, कंट्रोल रूम व हेल्प डेस्क, सफाई कर्मचारियों को दी जाने वाली सामग्री पर विस्तार से चर्चा की। वर्चुअल बैठक में सचिव नगर विकास विभाग श्री अनिल कुमार, नगरीय निकाय निदेशालय की निदेशक श्रीमती शकुन्तला गौतम, नगरीय निकाय निदेशालय के उप- निदेशक श्री सुनील कुमार यादव, विशेष सचिव नगर विकास विभाग श्री इंद्रमणि त्रिपाठी समेत दो मण्डल की 58 नगर पालिकाओं के अध्यक्ष एवं आधिशासी अधिकारियों(ईओ) जुड़े रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि