चार बांस चौबीस गज, अंगुल अष्ट प्रमाण, ता ऊपर सुल्तान है, मत चुके चौहान

क्षत्रिय महासभा ने मनाया पृथ्वीराज चौहान का जन्मोत्सव
ललितपुर। अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के तत्वाधान में मुन्ना सिंह चौहान के मुख्य आतिथ्य में एवं जिलाध्यक्ष बृजेन्द्र सिंह परमार की अध्यक्षता में महान प्रतापी राजा पृथ्वीराज चौहान का जन्मोत्सव मनाया गया। वक्ताओं ने चौहान के जीवन पर प्रकाश डाला गया। जिला महामंत्री भगवत सिंह बैस ने कहा कि पृथ्वीराज चौहान के दरवारी कवि चंद्रवरदाई ने लिखा कि चार बांस चौविस गज अंगुल अष्ट प्रमाण। ता ऊपर सुल्तान है,मत चुके चौहान।। यह पक्तियां उन्होंने तब कहि जब वह मोहम्मद गौरी के सामने बन्दी बने खड़े थे। इन पंक्तियों को सुनकर राजा ने सामने बैठे मोहम्मद गौरी के ऊपर शब्द भेदी बाण चलाकर ढेर कर दिया था। वक्ताओं ने कहा कि पृथ्वीराज का जन्म उनके नाना के घर गुजरात राज्य में हुआ था। इनके पिता का नाम सोमेश्वर चौहान एवं माता का नाम कर्पूरी देवी था। 13 वर्ष की आयु में इन्होंने अजमेर की गद्दी पर राज्य किया इसके बाद दिल्ली की राज गद्दी संभाली और अनेक राज्यों में अपना राज्य स्थापित कर लिया। 1192 के युद्ध मे चंद गदद्दारों की बजह से इन्हें हार का सामना करना पड़ा था। अन्य वक्ताओं ने कहा कि क्षत्रिय वंश के महान प्रतापी राजाओं ने हमेशा देश की रक्षा के लिए बलिदान दिए है। अत: आज देश को उनका आभार व्यक्त करना चाहिए। इस अवसर पर मुन्ना सिंह चौहान, बृजेन्द्र सिंह परमार, बेबी राजा बुन्देला, भूपेंद्र सिंह तोमर, बॉबी राजा, भगवत सिंह बैस, भरत सिंह चौहान, राजेन्द्र सिंह राठौर, सुरेन्द्र पाल सिंह बघेल, जयहिन्द सिंह परमार धर्मेन्द्र सिंह बबलू राजा राजेन्द्र सिंह राजावत कल्याण सिंह राजावत जंडेल सिंह परमार चन्द्रपाल सिंह परमार गुड्डे राजा सुरेन्द्र सिंह बुन्देला राघवेंद्र सिंह सिसोदिया सतेन्द्र सिंह आदि उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या