ड्यूटी ज्वाइन न करने वाले डाक्टरों पर लगेगा एस्मा

रजिस्ट्रेशन निरस्तीकरण के लिए शासन को भेजी जायेगी संस्तुति
कोर कमेटी की बैठक में जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिये निर्देश
शिवम अग्निहोत्री ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार की अध्यक्षता में जनपद के कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट पार्क में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। बैठक में यह भी बताया गया कि जनपद में सैंपल इन की सुविधा सुबह 10 से अपराह्न 3 बजे तक कोतवाली के सामने रेन बसेरा में भी शुरू कर दी गई है। जनपद में टेस्टिंग तथा रैपिड रिस्पांस टीम में फार्मासिस्ट की कमी को देखते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि इस कार्य में होम्योपैथी तथा आयुर्वेद के फार्मासिस्ट को इस टीम में शामिल किया जाए तथा आरआरटी टीम को क्रियाशील बनाया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में 73 हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर है जिसमें कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर तैनात है आवश्यकता पडऩे पर उनको भी इस कार्य में लगाया जाए। डीएफओ ने बताया कि रु1 एवं रु2 हॉस्पिटल के गेट पर होमगार्ड एवं पुलिस की व्यवस्था कराया जाना अत्यंत आवश्यक है जिससे एल-1, एल-2 हॉस्पिटल में बाहरी लोगों के प्रवेश को पूर्ण पर प्रतिबंधित किया जा सके। इस पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस कार्य के लिए एक सब इंस्पेक्टर को प्रभारी बनाया जाएगा। एल-1 एवं एल-2 हॉस्पिटल के नोडल डीएफओ डीएन सिंह से चर्चा के उपरांत डीएम ने निर्देश दिए कि डॉक्टर स्वयं पीपीई किट पहनकर मरीजों के पास जाएं तथा स्वयं उनसे बात कर उनका हौसला बढ़ाएं। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया कि दवा की सूची, डॉक्टर के फोन नंबर आदि मरीजों के बेड के पास चस्पा किए जाएं। बैठक में यह बात भी सामने आई की कुछ डॉक्टर अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने से इंकार कर रहे हैं जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि ड्यूटी ज्वाइन न करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ एस्मा के तहत कार्रवाई की जाएगी तथा उनके रजिस्ट्रेशन रद्द करने की संस्तुति शासन को भेज दी जाएगी। बैठक में जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए कि कोविड 19 महामारी के दृष्टिगत क्षेत्र में कार्य कर रही स्वास्थ्य विभाग की समस्त टीमें जनपद में स्थापित एकीकृत कन्ट्रोल कमाण्ड सेटर के नम्बरों (05176-274371, 05176-272200, 05176-272335, 05176 272613 तथा मो0नं0 9454416374) पर सूचनाएं उपलब्ध कराते रहें। जिलाधिकारी ने कहा कि आरआरटी टीम के ठीक से काम ना करने के कारण प्रतिदिन ऑन अटेंडेंट मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देश दिए की आरआरटी टीम का पुनर्गठन किया जाए तथा क्योंकि इसके नोडल जीटीएनआर आलम है अत: इस कार्य में एन आर एल एम के स्टाफ की भी मदद ली जाए। सेनेटाइजेशन एवं कंटेन्मेंट जोन की समीक्षा में जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए हैं कि प्रतिदिन जनपद के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में सघन सफाई, सैनेटाइजेशन व फॉगिंग अभियान चलाया जाए, जिससे कोरोना संक्रमण की चेन टूट सके, इस कार्य मे किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए, इसके साथ ही अभियान से सम्बंधित फ़ोटो भी उपलब्ध कराएं। बैठक में पुलिस अधीक्षक प्रमोद कुमार,विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडे,जिलाधिकारी वि0/रा0 अनिल कुमार मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ डी0के0गर्ग, उपायुक्त मनरेगा रविन्द्र वीर,मुख्य चिकित्सा अधीक्षक हरेंद्र सिंह चौहान, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ0 जे0एस0 बक्शी,बेसिक शिक्षा अधिकारी राम प्रवेश, डॉ0 मुकेश दुबे सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या