टीकाकरण केन्द्रों को स्थान बदल-बदलकर आयोजित किया जाये -मिशन निदेशक एन0एच0एम0 अपर्णा उपाध्याय

कोरोना के कम हुए प्रकोप को देखते हुए बच्चों के छूटे हुए टीकाकरण को शीघ्र पूरा किया जाये -अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद लखनऊ: 04 जून, 2021 प्रदेश के चिकित्सा, स्वास्थ्य, परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने आज बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण के लिए पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध है। केन्द्र सरकार जून में प्रदेश को प्राथमिकता से टीकाकरण हेतु वैक्सीन उपलब्ध करा रही है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण में तेजी लाकर जुलाई 2021 तक प्रतिदिन 10 लाख नागरिकों का टीकाकरण सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाये। हर जिले को टीकाकरण हेतु निर्धारित लक्ष्य दे दिया जाये, जिससे अपेक्षित परिणाम प्राप्त हो सके। अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने ये निर्देश आज यहां लाल बहादुर शास्त्री भवन (एनेक्सी) स्थित अपने सभाकक्ष में नियमित टीकाकरण कार्यक्रम की स्टेट टास्क फोर्स की बैठक में दिये। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उन्होंने कहा कि आगामी सोमवार दिनांक 07 जून, 2021 से हर जिले में 02 महिला स्पेशल टीकाकरण सत्र आयोजित किये जायें। जिले की आवश्यकतानुसार 02 से अधिक महिला टीकाकरण सत्र भी आयोजित किये जा सकते हैं। ये सत्र ‘अभिभावक स्पेशल टीकाकरण’ सत्र की तर्ज पर आयोजित किये जायें। इन सत्रों पर सिर्फ महिलाओं का टीकाकरण ही किया जाये। समीक्षा बैठक में हेल्थ वर्कर्स को कोविड-19 टीकाकरण की पहली और दूसरी डोज के डाटा अंकन में भेद हो जाने का तथ्य भी चर्चा में आया। अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि डेटा का सही-सही और शत-प्रतिशत अंकन कर लिया जाये, जिससे छूटे हुए हेल्थ वर्कर्स को भी आच्छादित किया जा सके। अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि गांवों में टीकाकरण प्रारम्भ करने से पूर्व व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा नेतृत्व के स्थान पर बैठे भद्रजन, ग्राम प्रधान, धर्मगुरू, स्थानीय विधायक-सांसदों के लिए भी अलग से सत्र का आयोजन कर प्राथमिकता से टीकाकरण किया जाये, जिससे जनता में एक सकारात्मक संदेश प्रचारित हो और नागरिकों में कोविड-19 के टीकाकरण के प्रति जागरूकता उत्पन्न हो। बैठक में अमित मोहन प्रसाद ने 45 वर्ष से अधिक आयु के नागरिकों का टीकाकरण प्रतिशत बढ़ाने के लिए हर जिले में उनके लिए अलग से सत्र चलाने का निर्देश भी दिया। उन्होंने कोरोना के कम हुए प्रकोप के दृष्टिगत बच्चों के नियमित टीकाकरण को शीघ्र पूरा करने का निर्देश भी दिया। मिशन निदेशक एन0एच0एम0 अपर्णा उपाध्याय ने टीकाकरण केन्द्रों को अलग-अलग विभिन्न जगहों पर बदल-बदल कर आयोजित करने का सुझाव दिया, जिससे अलग-अलग जगहों के निवासी लाभान्वित हो सके। बैठक में जूम पर जिलावार समीक्षा भी की गयी जिसमें टीकाकरण में पिछड़े जिलों को टीकाकरण में सुधार लाने तथा वैक्सीन का वेस्टेज अधिक कर रहे जिलों को वेस्टेज रोकने की चेतावनी भी दी गयी। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के समस्त वरिष्ठ अधिकारी तथा जूम पर प्रदेश के समस्त जिलों के सम्बंधित चिकित्सा अधिकारियों सहित डब्ल्यू0एच0ओ0, यूनीसेफ तथा रोटरी क्लब के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर