प्रदेश के 15 यशस्वी रचनाधर्मी एवं भाषसेवी विद्वतजनों को किया गया सम्मानित

लखनऊः दिनांकः 19 जून, 2021 उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान द्वारा उत्तर प्रदेश एवं भाषा के क्षेत्र में साहित्यिक विनिमय, सौहार्द्र एयर समन्वय को संपुष्ट करने के लिए प्रदेश के 15 यशस्वी रचनाधर्मी एवं भाषसेवी विद्वतजनों को सम्मानित किया गया। विषम सामाजिक परिस्थितियों के चलते उक्त कार्यक्रम को वर्चुअली सम्पन्न किया गया। सभी आगंतुक विद्वतजनों ने सम्मान के प्रति आभार प्रकट किया और सभी तकनीकी विषयों के पाठ्यक्रम भी हिंदी में प्रकाशित होंने का एक सुर में पुरजोर समर्थन किया। संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. राजनारायण शुक्ल ने कहा, साहित्यकार राजनीतिक रूप से प्रेरित ना होकर अपनी कलम के प्रति वफादार रहें और आम जनता का मार्गदर्शन करते रहें। सम्मनित मंच के प्रति संस्थान निदेशक हरि बख्श सिंह ने आभार प्रकट किया। उत्तर प्रदेश भाषा सम्मान से डा0 मुरारी लाल अग्रवाल आगरा, डा0 उन्नत बहादुर सिंह रायबरेली, डा0 अमित भारती संतकबीरनगर, डा0 अमित मल्ल कानपुर, श्री पंकज प्रसून वैज्ञानिक लखनऊ तथा शब्द शिल्पी सम्मान से डा0 वीणा शर्मा गाजियाबाद, डा0 मुकेश चन्द्र गुप्ता मुरादाबाद, डा0 सतीश चतुर्वेदी एटा, डा0 गीता पाण्डेय गाजियाबाद, डा0 सत्य प्रकाश पाल वाराणसी, सुश्री गीता टण्डन प्रयागराज, डा0 अलका पाण्डेय लखनऊ वि0वि0, डा0 गोविन्द स्वरूप गुप्त लखनऊ वि0वि0, डा0 बृजेश कुमार पाण्डेय प्रयागराज, डा0 एच0एल0 विश्वकर्मा रायबरेली को सम्मानित किया गया है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?