अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का महत्व बताने हेतु 21 जून को डाक विभाग जारी करेगा विशेष विरूपण - पोस्टमास्टर जनरल कृष्ण कुमार यादव

चिट्ठियाँ करेंगी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के प्रति लोगों को जागरूक, डाक विभाग लगाएगा विशेष मुहर
7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को यादगार बनाने हेतु डाक विभाग सभी प्रधान डाकघरों में 21 जून को प्रत्येक डाक पर एक विशेष विरूपण (स्पेशल कैंसिलेशन) लगाएगा। योग के महत्व को लोगों तक पहुँचाने के लिए विभाग ने यह प्रयास किया है। योग दिवस के दिन वाराणसी प्रधान डाकघर और कैण्ट प्रधान डाकघर सहित देश के सभी 810 प्रधान डाकघरों में इस विशेष विरूपण को सचित्र डिजाइन के साथ जारी किया जाएगा, जो जन जागरूकता फ़ैलाने के साथ-साथ डाक टिकट संग्रह करने वालों के लिए भी विशेष धरोहर होगा। उक्त जानकारी वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। इसके अलावा विभिन्न डाकघरों में बैनर और एलईडी के माध्यम से भी योग दिवस के संबंध में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। एस्पिरेशनल जनपद के रूप में चंदौली के सकलडीहा में डाक विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में योग हेतु विशेष अभियान चलाया जा रहा है। पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि, 'योग' एवं 'अंतरराष्ट्रीय योग दिवस' डाक टिकट संग्रह के लिए भी लोकप्रिय विषय बन गया है। वर्ष 2015 में भारतीय डाक विभाग ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर दो डाक टिकट एवं एक मिनिएचर शीट का सेट जारी किया था। वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा द्वितीय अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सूर्य नमस्कार पर स्मारक डाक टिकट जारी किया गया। वर्ष 2017 में संयुक्त राष्ट्र डाक प्रशासन ने योग के दस आसनों को दिखाते हुए न्यूयार्क में डाक टिकट जारी किया। वर्तमान में ये सभी डाक टिकट और उनसे जुड़ी चीजें फिलेटलिस्ट्स के संग्रह का अभिन्न अंग बन चुकी हैं। श्री यादव ने कहा कि, कोई भी इच्छुक व्यक्ति आसानी से फिलाटेलिक जमा खाता देश के किसी भी डाकघर में 200 रुपए जमा कर खुलवा सकता है और स्मारक डाक टिकट एवं अन्य फिलेटलिक सामग्री को घर बैठे प्राप्त कर सकता है ।
(चित्र में : डाक विभाग द्वारा प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 2015 में जारी डाक टिकट)

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?