वट सावित्री व्रत पर राष्ट्रीय वृक्ष बरगद का पूजन

ललितपुर। जनपद ललितपुर श्री श्री 1008 श्री लक्ष्मी नृसिंह मंदिर तालाबपुरा में आज वटवृक्ष का महिलाओं द्वारा पूजन किया गया। मान्यता है कि पतिव्रता सावित्री ने अपने पति सत्यवान के प्राण वापस लाने के लिए बरगद के पेड़ के नीचे बैठ कर तपस्या की थी। इसीलिए इसे वट सावित्री व्रत कहा जाने लगा इस दिन वट वृक्ष को जल से सींचकर हल्दी लगाकर कच्चा सूत लपेटते हुए उसकी परिक्रमा की जाती है वट वृक्ष के आयुर्वेद में बहुत से औषधीय घरेलू उपयोग हैं पुराने लोग बरगद के पत्तों पर सौंठ लगाकर सिर में बांधने से सिर की पीड़ा दूर करने घरेलू उपचार के रूप में किया जाता रहा है इसलिए वट वृक्ष महत्वपूर्ण हैं। आज के दिन सुहागन महिलाओं ने व्रत रखकर वट वृक्ष की पूजा अर्चना की और अपने पति की लंबी आयु की कामना की।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या