भाजपा ने कोरोना संकट काल में भी अपनी फरेबी राजनीति से परहेज नहीं किया-अखिलेश यादव

लखनऊ- दिनांक-08.06.2021 समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा सरकार ने कोरोना संक्रमण से बचाव पर कम अपने राजनीतिक स्वार्थ साधन पर ज्यादा ध्यान दिया है। विशेषज्ञों की राय पर चलने के बजाय भाजपा बर्बादियों का उत्सव मनाती रही। उसने हमेशा जनता को धोखे में रखा है। वैक्सीन को लेकर भाजपा सरकार ने जैसी अनिर्णय भरी लापरवाही प्रदर्शित की है उससे कोरोना संक्रमण का संकट ज्यादा बढ़ गया। बार-बार पैंतरा बदले जाने से जनता के मन में अविश्वास भी पैदा हुआ। यह बात तो नोबेल पुरस्कार से सम्मानित प्रसिद्ध अर्थशास्त्री श्री अमर्त्य सेन ने भी कही है कि ‘‘भारत सरकार ने भ्रम में रहते हुए कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए काम करने के बजाय अपने कामों का श्रेय लेेने पर ध्यान केंद्रित किया जिसका नतीजा काफी हद तक स्किज़ोफ्रेनिया (भ्रमित मानसिकता) जैसा था।‘‘ भाजपा नेतृत्व काम कम वाहवाही ज्यादा लेने पर भरोसा करती है। लेकिन जनता भाजपा राज के कारनामों से भलीभांति परिचित हो चुकी है और वह अब उसकी चालों में आने वाली नहीं है। भाजपा ने कोरोना संकट काल में भी अपनी फरेबी राजनीति से परहेज नहीं किया। समाजवादी पार्टी के प्रति उसका कुप्रचार अभियान चलता ही रहता है। जन दबाव में आखिरकार भाजपा सरकार ने सभी को टीका लगवाने का ऐलान किया है। समाजवादी पार्टी का यही मानना रहा है कि गरीबों तथा अन्य सभी लोगों को फ्री वैक्सीन लगनी चाहिए। भाजपा उल्टे वैक्सीन के मामले में कई रंग बदल चुकी है। उसके कारण ही जनता में वैक्सीन के प्रति उदासीनता दिखाई दी। यह भाजपा के प्रति जनता के अविश्वास की भी द्योतक है। जिस धीमी रफ्तार से वैक्सीन का कार्यक्रम चल रहा है उससे यह स्पष्ट है कि भाजपा तो सभी का टीकाकरण का लक्ष्य दिवाली तक पूरा करने से रही। टीकाकरण कार्यक्रम तो अब बस सन 2022 में समाजवादी सरकार बनने पर ही गति पकड़ सकेगा। सबको फ्री वैक्सीन देने का वादा समाजवादी सरकार में ही पूरा होगा। जो लोग टीका नहीं लगवा सके उनसे भी टीका लगवाने की अपील की गई है। उ0प्र0 की भाजपा सरकार ने बड़े जोर शोर से प्रचारित किया था कि वह कोरोना के प्राइवेट इलाज का खर्च देगी। अब भाजपा बताए कि अभी तक जनता के कितने बिलों का भुगतान किया गया है। जनता के सामने सरकार अपना आंकड़ा रखे। सरकारी विज्ञापनों के बोझ तले दबकर भाजपा सरकार की बदइंतजामी से ऑक्सीजन, बेड और अब टीके के लिए जूझ रही जनता के सवालों का जवाब नहीं देने वाले भाजपाई प्रोपैगंडा रचने वालों को जनता माफ नहीं करेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या