भारतीय जनता पार्टी मीडिया कार्यशालाओं के माध्यम से प्रदेश, क्षेत्र व जिला स्तर पर प्रशिक्षण देगी

लखनऊ 23 जून 2021, भारतीय जनता पार्टी मीडिया कार्यशालाओं के माध्यम से प्रदेश, क्षेत्र व जिला स्तर पर प्रशिक्षण देगी। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री स्वतंत्र देव सिंह व प्रदेश महामंत्री (संगठन) श्री सुनील बंसल ने नवनियुक्त प्रदेश मीडिया टीम के साथ पहली बैठक में मीडिया से जुडे़ तमाम पहलुओं पर बारीकी से चर्चा की। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सपा-बसपा व कांग्रेस की भ्रष्टाचारी व अपराधियों की संरक्षण देने वाली सरकारें सभी को याद है। इन सरकारों ने वोट बैंक की राजनीति के चलते राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दों पर भी समझौता किया। वहीं भाजपा की केन्द्र व प्रदेश सरकारों ने सबका साथ-सबका विकास व सबके विश्वास के साथ काम करते हुए बिना भेदभाव के प्रत्येक योजना का लाभ गरीब व वंचित तक पहुंचाया। प्रदेश में कानून का राज स्थापित हुआ तथा भ्रष्टाचार पर जीरो टाॅलरेंस की नीति अपनाई गई। हमारे पास मोदी जी व योगी जी जैसा ईमानदार, परिश्रमी एवं अनवरत गरीबों के कल्याण के लिए काम करने वाला नेतृत्व है। उन्होंने पार्टी की मीडिया टीम से चर्चा करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार, अपराधी संरक्षण, तुष्टीकरण तथा परिवारवाद व जातिवाद के फार्मूलें पर चलने वाले सपा-बसपा व कांग्रेस जैसे दलों द्वारा किये जा रहे दुष्प्रचार व जनता को गुमराह करने के लिए बोले जा रहे झूठ का तथ्यपरक ढंग से मीडिया के माध्यम से जनता के सामने पर्दाफाश करे। पार्टी के प्रदेश मीडिया विभाग की बैठक का मार्गदर्शन करते हुए प्रदेश महामंत्री (संगठन) श्री सुनील बंसल ने कहा कि जनसंचार समाज में संवाद का सशक्त माध्यम है। प्रिन्ट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया तथा डिजिटल मीडिया के रूप में निरन्तर इसका विस्तार हो रहा है। जनसंचार माध्यमों से संवाद के लिए पार्टी का मीडिया विभाग कार्यशालाओं के द्वारा प्रदेश, क्षेत्र, जिला तथा मण्डल के मीडिया प्रभारियों को प्रशिक्षण देगा। श्री बंसल ने कहा कि पार्टी पहली बार मण्डल स्तर पर मीडिया प्रभारी नियुक्त करने जा रही है। जुलाई माह में प्रदेश, क्षेत्र व जिला स्तर पर मीडिया कार्यशाला आयोजित की जाएंगी। बैठक में प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित, सह प्रभारी हिमांशु दुबे, धर्मेन्द्र राय, प्रियंक पाण्डेय, अभय प्रताप सिंह, प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव, डा. समीर सिंह, मनीष शुक्ला, हीरो बाजपेयी, आलोक अवस्थी, अशोक पाण्डेय, जुगल किशोर, राकेश त्रिपाठी, प्रशान्त वशिष्ठ, संजय चैधरी, आनन्द दुबे, साक्षी दिवाकर, आलोक वर्मा तथा महामेधा नागर उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि