नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल जी’ ने भाऊराव देवरस हॉस्पिटल में निर्मित मेडिकल आक्सीजन निर्माण संयत्र (Pressure swing adsorption), पोर्टेबुल एक्स-रे एवं मेडिकल गैसेज पाइप लाइन का किया वर्चुअल लोकार्पण

112.46 लाख रूपये की लागत से तैयार हुआ मेडिकल आक्सीजन निर्माण संयत्र (Pressure swing adsorption), पोर्टेबुल एक्स-रे एवं मेडिकल गैसेज पाइप लाइन
लखनऊ, 13 जून 2021 मा. नगर विकास मंत्री श्री आशुतोष टंडन ‘गोपाल जी’ ने विधान मण्डल क्षेत्र विकास निधि योजना के अन्तर्गत भाऊराव देवरस चिकित्सालय महानगर लखनऊ में निर्मित मेडिकल आक्सीजन निर्माण संयत्र (Pressure swing adsorption), पोर्टेबुल एक्स-रे एवं मेडिकल गैसेज पाइप लाइन का वर्चुअल लोकार्पण आज किया। जिसके निर्माण में कुल 112.46 लाख रुपये खर्च हुए। मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर बनाने के क्रम में 100 बेड की क्षमता के भाऊराव देवरस चिकित्सालय परिसर में रिकॉर्ड 25 दिनों के भीतर प्लांट व अन्य चीजों को चिकित्सालय में स्थापित किया गया।
भाऊ राव देवरस अस्पताल में निर्मित आक्सीजन निर्माण संयन्त्र (Pressure swing adsorption) के निर्माण में 75.75 लाख रुपये, मेडिकल गैसेज पाइप लाइन निर्माण 19.19 लाख रुपये व अन्य चिकित्सीय सुविधा जैसे पोर्टेबुल एक्स-रे, सी.आर. सिस्टम के लिए 17.52 लाख रुपये मंत्री ने विधान मण्डल क्षेत्र विकास निधि योजना से दिए। मंत्री ने कहा कि भाऊराव देवरस चिकित्सालय महानगर लखनऊ के लिए एक महत्वपूर्ण दिवस है, आज जब चिकित्सालय ऑक्सीजन की दृष्टि से आत्मनिर्भर बन गया है। मा. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के मार्गदर्शन में आज इस वैश्विक आपदा को सीमित करने में सफल हो पाएं हैं। मंत्री जी जानकारी दी कि आरटीपीसीआर जांच मशीन जोकि विधान मण्डल क्षेत्र विकास निधि योजना से लगभग 20 लाख रूपये की लागत से राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय में स्थापित की जा रही वह संभवता 10 दिन बाद की संचालित हो जायेगी। इससे अस्पताल में प्रतिदिन 2500 से 3000 हजार कोविड-19 की जांच की क्षमता बढ़ जायेगी। साथ ही मंत्री जी ने बताया कि शंकरपुरवा वॉर्ड में एक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र 1.36 लाख लागत से तैयार किया जा रहा है। इसका कार्य भी जल्द ही पूर्ण हो जायेगा और चिकित्सालय संचालित हो जायेगा। वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में आंशिक कर्फ्यू लगाना सरकार का बेहतरीन कदम रहा। सभी धार्मिक स्थल बंद हो गए। महामारी का कहर जब अपने पीक पर था, उस दौरान हमारे डॉक्टरों और लोगों को जीवनदान देने वाले मंदिर यानी अस्पतालों ने अपनी क्षमता से ज्यादा कार्य किया। ऐसे में इन्हें और मजबूत और सुदृढ़ करने के लिए बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति कटिबद्ध उत्तर प्रदेश सरकार इस दिशा में सतत कार्य कर रही है। कार्यक्रम के दौरान निदेशक C & DS विद्युत यांत्रिक, उत्तर प्रदेश जल निगम श्री सत्य प्रकाश कुरील द्वारा ऑक्सीजन प्लांट, मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन एवं एक्स-रे मशीन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान सुव्यवस्थित स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए विकास निधि योजना के अंतर्गत, लखनऊ स्थित भाऊराव देवरस चिकित्सालय में 75.75 लाख की लागत से अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त 600 एलपीएम प्रतिदिन क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट, 19.19 लाख की लागत से निर्मित मेडिकल गैस पाइपलाइन तथा 17.52 लाख की लागत से सी आर सिस्टम युक्त पोर्टेबल एक्सरे मशीन की स्थापना की गई है। शहर के बीचों बीच स्थित ये मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल COVID -19 के दौरान मरीजों के लिए पूरी तरह समर्पित रहा है। अब यह और भी नवीन सुविधा से लैस होगा, जिससे मरीजों के इलाज के लिए और ज्यादा सहूलियत होगी। इस मौके पर मुख्य चिकित्साधिकारी लखनऊ डा. सजंय भटनागर ने कहा कि शहर के नागरिकों की अच्छे स्वास्थ्य एवं सुविधाओं देने के लिए प्रतिबद्ध हैं साथ ही हम शहरवासियों के लिए बेहतर प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे। वहीं, जिलाधिकारी श्री अभिषेक प्रकाश ने कहा कि ये प्लांट शहर के लिए न सिर्फ बल्कि प्रदेश के लिए प्रेरणा का स्रोत बना गया है। साथ ही कहा कि इसी चिकित्सालय की तरह शहर के अन्य चिकित्सालयों को भी आत्मनिर्भर बनाया जायेगा। भाऊराव देवरस चिकित्सालय महानगर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में भाऊराव देवरस चिकित्सालय के सीएमएस डॉ. आर.सी. सिंह जी, निदेशक C & DS विद्युत यांत्रिक, उत्तर प्रदेश जल निगम श्री सत्य प्रकाश कुरील जी, पार्षद श्री राकेश मिश्रा जी, श्री हरीश चन्द्र लोधी जी एवं श्री मनोज अवस्थी जी, भाजपा मण्डल अध्यक्ष श्री देवेन्द्र वर्मा जी समते कई लोग मौजूद रहे। दूसरी ओर वर्चुअल तौर पर जिलाधिकारी लखनऊ श्री अभिषेक प्रकाश व मुख्य चिकित्साधिकारी लखनऊ डा. सजंय भटनागर समेत बीजेपी कार्यकर्ताओं एवं कई स्थानीय सम्मानित नागरिक भी जुड़े रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा