एकीकृत कुटीर उद्योग क्लस्टर का पायलट प्रोजेक्ट प्रयागराज में शीघ्र शुरू होगा

लखनऊः दिनांकः 14 जुलाई, 2021 उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघुएवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश में मौजूद औद्योगिक क्षेत्रों को युद्ध स्तर पर अपग्रेड किया जाए। औद्योगिक क्षेत्रों में सड़क, निकासी एवं बिजली की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को एमएसई-सीडीपी योजना के तहत औद्योगिक क्षेत्रों के अपग्रेडेशन के प्रस्ताव भेजें जा रहें हैं । अभी तक सात प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजें जा चुके है तथा 23 प्रस्ताव प्रक्रियाधीन हैं । श्री सिंह आज खादी भवन में एमएसई-सीडीपी योजना के तहत मौजूदा औद्योगिक क्षेत्रों के उन्नयन के संबध में बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण प्रदेश में नए प्दजमहतंजमक ब्वजजंहम प्दकनेजतल ब्सनेजमत (एकीकृत कुटीर उद्योग क्लस्टर) विकसित किये जाए। जिनमें कुटीर उद्योगों के लिए फ्लैटेड फैक्ट्री परिसर, डिस्प्ले सेंटर, रॉ मटेरियल बैंक, डारमेट्री, कैंटीन आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा इस सम्बन्ध में एक पायलट प्रोजेक्ट प्रयागराज में शीघ्र-अतिशीघ्र किया जाए। श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग से वाराणसी एवं झाँसी में ज्मबीदवसवहल ब्मदजतम एवं म्गजमदेपवद ब्मदजतम विकसित किये जाएँ जिससे की उद्योगों के लिए एक इकोसिस्टम तैयार हो सके। विभागीय अधिकारीयों ने माननीय मंत्री जी को अवगत कराया कीसूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन विभाग, उत्तर प्रदेश 3 ज्मबीदवसवहल ब्मदजतम एवं 6 म्गजमदेपवद विकसित करने की दिशा में कार्य कर रहा है । बैठक में अपर मुख्य सचिव, सूक्ष्म, लघुु एवं मध्यम उद्यम डा0 नवनीत सहगल भी मौजूदे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा