तालबेहट ब्लाक प्रमुख पद के लिए हो सकता है कड़ा संघर्ष

ललितपुर। जिले के छह ब्लाकों में तालबेहट ब्लाक में प्रमुख का चुनाव काफी चर्चित हो गया है। यहां क्षत्रिय समाज से ताल्लुक रखने वाले दो दिग्गज प्रत्याशियों के नामाकंन पत्र दाखिल होने से राजनैतिक गलियारों में हलचलें तेज हो गयी हैं। अब नामाकंन पत्रों की जांच और 9 जुलाई को नामाकंन पत्र वापिसी के बाद स्पष्ट हो जायेगा कि तालबेहट ब्लाक प्रमुख के चुनावी समर में कितने प्रत्याशी हैं। लेकिन गुरूवार को नामाकंन पत्र दाखिल करते समय जो माहौल था और समर्थकों के उत्साह को देखकर यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगा कि सत्तादल निर्दलीय प्रत्याशी व समर्थित प्रत्याशी के बीच कड़ा संघर्ष होने के आसार नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि बुन्देलखण्ड की राजनीति में तालबेहट कस्बे का काफी महत्व है। विधानसभा क्षेत्र की दृष्टि से सदर विधानसभा में आने वाला तालबेहट क्षेत्र काफी विकसित तहसील में शामिल हैं। यहां तेजी से विकास होने के साथ-साथ यहां राजनैतिक हस्तक्षेप काफी है। तालबेहट ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए भी यह क्षेत्र काफी अहम माना जाता है, जिसका बड़ा कारण यह भी माना जाता है कि ललितपुर व झांसी क्षेत्र के सम्पर्क में रहने वाले तालबेहट राजनेताओं के सम्बन्ध काफी बेहतर होते हैं। यही कारण है कि इस क्षेत्र में ब्लाक प्रमुख बनने के लिए ऐडी-चोटी का जोर लगाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि विगत कुछ दिनों पहले निर्दलीय प्रत्याशी राजदीप सिंह के साथ क्षेत्र के कुल 84 क्षेत्र पंचायत सदस्य (बी.डी.सी.) में से दो तिहाई सदस्यों की फोटो वायरल हुयी थी। इस फोटो के जरिए निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा दो तिहाई से अधिक बी.डी.सी. सदस्यों का समर्थन होने का दावा पेश किया गया था, जिसे समाचार पत्रों में खूब सुर्खियां मिलीं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या