भारतीय जनता पार्टी जो सदैव वंशवाद का विरोध करती रही है परंतु स्वंय इस वंशवादी राजनीति को चरितार्थ करती चली आ रही है

लखनऊ 07 जुलाई भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर अपना चाल, चरित्र और चेहरा दिखा दिया है। भारतीय जनता पार्टी जो सदैव वंशवाद का विरोध करती रही है परंतु स्वंय इस वंशवादी राजनीति को चरितार्थ करती चली आ रही है। भारतीय जनता पार्टी ने आज जारी एक बयान में यह घोषणा की कि आने वाले चुनाव में एक परिवार के अनेक सदस्य चुनाव लड़ सकते है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता डॉ. हिलाल अहमद ने कहा कि जो भारतीय जनता पार्टी सदैव वंशवाद पर प्रहार करती चली आ रही है आज वह स्वंय में वंशवाद से इतना घिर गई है उसने अधिकारिक रूप से यह स्वीकार कर लिया है कि उनके पार्टी में वंशवाद ने इतनी गहरी जड़े बना ली है कि उन्होंनें ने सार्वजनिक रूप से घोषणा कर दी है कि भारतीय जनता पार्टी वंशवाद की ना सिर्फ हिमायती है बल्कि उसको बढ़ावा भी देगी। प्रवक्ता ने आगे कहा कि भारतीय जनता पार्टी में वंशवाद सदैव से रहा ह,ै विशेषकर उत्तर प्रदेश में जहां श्री राजनाथ सिंह, श्री कल्याण सिंह तथा लालजी टण्डन जी के सुपुत्र पहले से ही भाजपा की राजनीति में सक्रिय रहे है। भाजपा सदैव से यह झूठ बोलती चली आई की उसकी पार्टी में वंशवाद नहीं है। प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि क्या भारतीय जनता पार्टी अब सार्वजनिक रूप से मांफी मांगेगी उन लोगों से जिन पर वह वंशवादी राजनीति का आरोप लगाते थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर