कांग्रेसियों ने थाली बजाकर सरकार की नीतियों को कोसा

घण्टाघर पर प्रदर्शन करते हुये कांग्रेस ने किया धरना प्रदर्शन
ललितपुर। बढ़ती मंहगाई के विरोध में यूथ कांग्रेस, एनएसयूआई एवं समस्त फ्रन्टल के पदाधिकारियों ने स्थानीय घंटाघर प्रांगण पर जंगी धरना प्रदर्शन किया। इस मौके पर कांग्रेसियों ने थाली बजाकर केन्द्र व प्रदेश सरकार की नीतियों की घोर आलोचना की। यूथ कांग्रेस प्रदेश महासचिव दीपक शिवहरे व वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं की मौजूदगी में यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने प्रदर्शन करते हुये भाजपा सरकार की नाकामियां गिनायीं। प्रदर्शन के दौरान यूथ कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने बताया कि यह सरकार केवल और केवल आम आदमी को आर्थिक रूप से परेशान करने का काम कर रही है। आगे बताया कि घरेलू गैस के दाम आसमान छू रहे हैं। कोरोना काल के समय से रोजगार छिन गये हैं, अब मंहगाई की मार से आमजन त्रस्त हो चुका है। घरेलू खाद्य पदार्थ जैसे तेल, दाल, चीनी, घी जैसी अनेक वस्तुएं काफी मंहगीं हो गयीं हैं। कहा कि सरकार अपनी नाकामी छिपाने के लिए जनता को अन्य मुद़्दों पर गुमराह कर रही है। भाजपा जब से सत्ता में आयी है, तब से केवल बडे बड़े उद्योगपतियों को ही लाभ पहुंचाने का काम कर रही है। वहीं आम आदमी से मनमाना टैक्स वसूल कर अपनी गाढी कमाई कर रही हैं। इस मौके पर प्रदेश महासचिव यूथ कांग्रेस दीपक शिवहरे ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री जुमलेवाजी से बाज नही आ रहे हैं। जुमलों से आम आदमी का पेट नही भरता है। जनता को रोजगार चाहिए, और वह सरकार देने मेें संजीदा नही है। वहीं वरिष्ठ नेता व पूर्व नगराध्यक्ष हरीबाबू शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार जनता के मुंह से निवाला छिन रही है, यह सरकार हर मोर्च पर विफल साबित होती दिखायी दे रही है। जनता का भाजपा सरकार से विश्वास उठ चुका है। जनता का कांग्रेस की ओर झुकाव दिखायी पड़ रहा है। तो वहीं प्रदेश सचिव उवेश खान ने बताया कि घर की जरूरतों का सामान इतना मंहगा हो चुका है, कि गरीब तबके का व्यक्ति खरीदने में सक्षम ही नही है। प्रदेश सरकार तो केवल केन्द्र सरकार के इशारे पर कार्य कर रही है, इनका कोई विजन नही है। भ्रष्टाचार, कालाबाजारी चरम पर है। ऐसे में जनता जाए तो कहां जाए। इस मौके पर नगराध्यक्ष नवनीत किलेदार, पीसीसी सदस्य धर्मेन्द्र सिंह बुन्देला, बहादुर अहिरवार, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष रितिक शुक्ला मोन्टी, मनीष श्रीमाली, पुनील देवलिया, मुकेश रजक, राकेश रजक, राममूर्ति तिवारी, नीलेश पटेल प्यासा, पवन विश्वकर्मा, अजय तोमर, ऊदल पटेल, गिरधारी कुशवाहा, कमल किशोर दुबे, साहिल अली, जुनैद पठान, मुलायम सिंह यादव, सौरभ रैकवार, अरशद मंसूरी, नसीर पठान, रौमान नेता, विक्की रजक, सोनू शुक्ला, विवेक मिश्रा, डा. रामसिंह यादव, शिवांश तिवारी, दीपक चौहान, आशीष विश्वकर्मा, दीपक अहिरवार, रूस्तम शाह, यश यादव, रमेश खंगार, ऋषभ रजक, कुलदीप पाठक सहित अनेकों कांग्रेसी मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या