उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व निर्माण निगम के कोविड व अन्य कारणों से मृतक कार्मिकों के आश्रितों को वितरित किये नियुक्ति पत्र

लखनऊ: दिनांक 05 जुलाई, 2021 उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग स्थित विश्वेश्वरैया हाॅल में लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व निर्माण निगम के कोविड व अन्य कारणों से मृतक कार्मिकों के आश्रितों को नियुक्ति पत्र वितरित किये। इस अवसर पर दो मिनट का मौन रखकर विभाग के मृतक अधिकारियों व कर्मचारियों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। उपमुख्यमंत्री ने घोषणा की कि मृतकों के आश्रितों को नौकरी व अन्य देयों आदि के भुगतान के लिये लोक निर्माण मुख्यालय पर सिंगल विन्डो सिस्टम स्थापित किया जायेगा। उन्होने कहा कि मुख्य अभियन्ता (मुख्यालय-2) इसके नोडल आॅफिसर होंगे। श्री मौर्य ने यह भी कहा कि इसी तरह सेतु निगम व निर्माण निगम में भी सिंगल विन्डो सिस्टम डेवलप होगा। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि शैक्षिक योग्यता के आधार पर मृतक आश्रितों को नौकरी दिये जाने का प्राविधान किया जायेगा और मृतक आश्रितों के देयों का भुगतान 15 दिन में किये जाने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।
श्री मौर्य ने अपने मार्मिक सम्बोधन में कहा कि लोक निर्माण विभाग केवल सड़कें, पुल ही नहीं बना रहा है बल्कि सामाजिक सरोकारों से भी जुड़ा है। पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन के लिये भी लोक निर्माण विभाग अहम भूमिका निभा रहा है। विभाग द्वारा हर्बल मार्गों के साथ प्लास्टिक मार्गों का भी निर्माण किया जा रहा है। उन्होने कहा कि डाॅ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम पथों की पूरे देश में तारीफ हो रही है। उ0प्र0 सरकार द्वारा शहीदों और पदक विजेता खिलाड़ियों के नाम पर भी सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। वृक्षारोपण अभियान में भी लोक निर्माण विभाग काफी आगे है। पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों के आश्रितों को विभाग द्वारा रू0 22-22 लाख की धनराशि सहयोग के रूप में दी गयी है। कोरोना की पहली लहर में श्रमिकों व गरीबों को लाखों की तादाद में विभाग द्वारा लन्च पैकेट व राशन के पैकेट वितरित किये गये, साथ ही कम्यूनिटी किचन सेन्टरों का संचालन विभाग द्वारा किया गया और लाखों लोगों को रोजगार भी दिया गया। उन्होने कहा कि लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम व राजकीय निर्माण निगम के कोविड व नान-कोविड अन्य कारणों से मृतक 711 अधिकारियों, कर्मचारियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये उनके परिवारीजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की और विश्वेश्वरैया सभागार में 25 आश्रितों को प्रत्यक्ष रूप से बुलाकर सांकेतिक रूप में नियुक्ति पत्र वितरीत किये। उन्होने सभी आश्रितों को विश्वास दिलाया कि लोक निर्माण विभाग उनके साथ खड़ा है और हमेशा उनके दुःख सुख में साथ रहेगा तथा स्थापित किये जा रहे सिंगल विण्डो सिस्टम के माध्यम से सभी औपचारिकताएं जल्दी से जल्दी पूरी कराते हुये सभी मृतक आश्रितों को नौकरी व देयों का भुगतान कराया जायेगा। श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मृतक आश्रितों को ही नहीं बल्कि सेवानिवृत्त होने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के देयों आदि के भुगतान के लिये भी सिंगल विण्डो सिस्टम कार्य करेगा, जिसके लिये लोक निर्माण विभाग में मुख्य अभियन्ता (मु0-2) विभागाध्यक्ष के माध्यम से समस्याओं का त्वरित निदान करायेंगे, राजकीय निर्माण निगम में सिंगल विण्डो सिस्टम के नोडल ए0जी0एम0 (कार्मिक) होंगे तथा उ0प्र0 सेतु निगम में सिंगल विण्डो सिस्टम के प्रभारी प्रोजेक्ट मैनेजर देवेन्द्र वर्मा होंगे। लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव श्री नितिन रमेश गोकर्ण की सराहना करते हुये श्री मौर्य ने कहा कि श्री गोकर्ण ने विभाग को नयी उचाइयों पर ले जाने का कार्य किया है। उन्होने कहा कि जिन लोगों को नौकरी दी जा रही है, वह अपने तक सीमित न रहें बल्कि जिनकी मृत्यु हुयी है और उनकी जो जिम्मेदारी थी, उसका निर्वहन भी पूरी तत्परता से वह करें, यहीं मृतकों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कार्यक्रम को राज्यमंत्री लोक निर्माण विभाग श्री चन्द्रिका प्रसाद उपाध्याय, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव श्री नितिन रमेश गोकर्ण, विभागाध्यक्ष श्री पी0के0 सक्सेना ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का सफल संचालन मुख्य अभियन्ता श्री जे0के0 बांगा ने किया तथा प्रमुख अभियन्ता(ग्रामीण सड़क) श्री मनोज गुप्ता ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया। इस अवसर पर सचिव लोक निर्माण विभाग श्री समीर वर्मा, सेतु निगम के एम0डी0 श्री अरविन्द श्रीवास्तव, निर्माण निगम के एम0डी0 श्री एस0पी0 सिंघल, प्रमुख अभियन्ता श्री राकेश सक्सेना व अन्य मुख्य अभियन्तागण, अधिशासी अभियन्ता श्री राजीव राय, विशेष कार्याधिकारी श्री प्रदीप कुमार, सहायक अभियन्ता कामिनी कौशल आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या