प्रदेश में दिव्यांगजन के लिए संचालित समस्त निजी व शासकीय संस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण किया जाए, निरीक्षण के उपरान्त मुख्यमंत्री कार्यालय को विस्तृत आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश

लखनऊ : 07 जुलाई, 2021 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि कोविड नियंत्रण के सम्बन्ध में प्रदेश सरकार द्वारा अपनायी जा रही रणनीति अत्यन्त कारगर सिद्ध हो रही है। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 की रोक-थाम के लिए निर्धारित प्रोटोकॉल का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने कोरोना संक्रमण की नियंत्रित स्थिति के बावजूद एग्रेसिव कोविड टेस्टिंग को जारी रखने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि विगत 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 120 नए मामले सामने आये हैं। इसी अवधि में 191 संक्रमित व्यक्तियों को सफल उपचार के बाद डिस्चार्ज किया गया है। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामलों की संख्या 1,947 है। मुख्यमंत्री जी को यह भी अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में प्रदेश में 02 लाख 57 हजार 897 कोविड टेस्ट किये गये हैं। राज्य में अब तक 05 करोड़ 95 लाख 89 हजार 422 कोरोना टेस्ट किये जा चुके हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर बढ़कर 98.6 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के प्रति लोगों को सतत जागरूक किया जाए। कोविड टीकाकरण की सुगमता के लिए ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग को प्रोत्साहित किया जाए। इससे वैक्सीनेशन सेण्टर पर भीड़ एकत्र नहीं होगी। उन्होंने कहा कि गांवों में कॉमन सर्विस सेन्टर के माध्यम से कोविड टीकाकरण हेतु प्रदान की जा रही निःशुल्क पंजीकरण सुविधा का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि कल दिनांक 06 जुलाई, 2021 को प्रदेश में 10 लाख 03 हजार 425 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के सम्बन्ध में भविष्य के आकलन के दृष्टिगत चिकित्सा सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण का कार्य तेजी से किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी जनपदों में पीकू व नीकू बेड तीव्र गति से स्थापित किये जाएं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना वायरस की लड़ाई में कोविड प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन करना होगा, क्योंकि थोड़ी सी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। मास्क के अनिवार्य उपयोग, दो गज की दूरी, स्वच्छता और सैनिटाइजेशन जैसे कोविड बचाव सम्बन्धी व्यवहार को पूरी तरह अपनाना होगा। कहीं भी भीड़ एकत्र न होने पाए इसके लिए पुलिस द्वारा प्रभावी पेट्रोलिंग की जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोविड के दौरान सभी जरूरतमंदों को राशन उपलब्ध कराने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश नेशनल राशन पोर्टेबिलिटी से जुड़ा है। इसके तहत प्रदेश के नागरिक देश के किसी भी राज्य में तथा अन्य राज्य के नागरिक उत्तर प्रदेश में राशन प्राप्त कर सकते हैं। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये कि प्रदेश में दिव्यांगजन के लिए संचालित समस्त निजी व शासकीय संस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण किया जाए। निरीक्षण के दौरान संस्थान के कार्यों तथा निवासरत लोगों से संस्थान के विषय में जानकारी प्राप्त की जाए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि संस्थान की सभी व्यवस्थाएं दुरूस्त हों। उन्होंने निरीक्षण के उपरान्त मुख्यमंत्री कार्यालय को विस्तृत आख्या उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए। -------- --

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या