सुरक्षा सम्मान व स्वावलम्बर के लिए मिशन शक्ति फेज-3 होगा शुरू

 

 



ललितपुर। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिये मिशन शक्ति फेज-1 फेज-2 के भांति बृहद रूप से मिशन शक्ति फेज-3 को संचालित किया जाना है जिसका शुभारम्भ 21 अगस्त 2021 से किया जायेगा, जो कि 31 दिसम्बर 2021 तक एक विशेष अभियान के रूप में संचालित होगा। मुख्यमंत्री की उपस्थिति में इन्दिरा गॉंधी प्रतिष्ठान लखनऊ में मुख्य कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। उक्त अवसर पर पुलिस महानिदेशक .प्र. के आदेशानुसार विभिन्न तिथियों में शासन की मंशा के अनुरूप 05 चरणों में चरणबद्ध तरीके से निम्नानुसार अभियान चलाकर कार्यवाही की जायेगी। इस सम्बन्ध में रेंज के तीनों जनपदों के वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षको को निर्देशित किया गया हैै। जिसमें प्रथम अभियान 21 अगस्त से 15 सितम्बर तक चलाया जायेगा। जिसमें पिछले 03 वर्षों में महिला सम्बन्धी अपराधों में गिरफ्तार तथा फरार अभियुक्तों की सूची तैयार कर उनके सत्यापन का अभियान चलाया जाए। फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करायी जाए। इन पीडि़त शिकायतकर्ता/महिलाओं से शक्ति मोबाइल, महिला थाना और महिला चौकी के कर्मियों तथा समस्त थानों में पूर्व से स्थापित महिला हेल्प डेस्क में नियुक्त महिला पुलिस कर्मियों द्वारा संवाद स्थापित किया जाए जिससे यह जानकारी सुलभ हो कि पीडि़ता तथा उसके परिवारीजनों को प्रताडि़त करना शब्दों से और कृत्यों से भय का माहौल बनाना/अनाधिकृत रुप से केस वापस लेने अथवा समझौता करने पर दबाव बनाना जैसी शिकायतें सत्यापित हों। ऐसी शिकायतें प्राप्त होने पर इस अभियान के अन्तर्गत ऐसे शरारती तत्वों अपराधियों के विरूद्ध विभिन्न विधिक धाराओं के अन्तर्गत वैधानिक कार्यवाही की जाए। जमानत निरस्तीकरण की भी कार्यवाही सम्पादित की जाए। इसी अभियान के अन्तर्गत ऐसे युवक जिनसे मिशन शक्ति के प्रथम तथा द्वितीय चरण में शपथ पत्र भराया गया था, उनका भी सत्यापन करा लिया जाए। यदि शपथ पत्र के उपरान्त भी ऐसे तत्वों द्वारा महिलाओं के विरुद्ध अपराध कारित किये गये हों तो उनके विरुद्ध भी विधि सम्मत तरीके से कठोर कार्यवाही की जाए। द्वितीय अभियान 15 सितम्बर 2021 से 15 अक्टूबर 2021 तक संचालित होगा। जिसमें ग्रामीण अंचलों पर ध्यान केन्द्रित करके शक्ति मोबाइल के प्रवर्तन का अभियान 15 सितम्बर से 15 अक्टूबर 2021 तक चलाया जाए। इसमें मुख्यत: अल्पव्यस्क, व्यस्क बालिकाओं, महिलाओं तथा ग्रामीण क्षेत्र के नवयुवकों की अलग-अलग काउन्सिलिंग की व्यवस्था हो- जागरुकता अभियान हो तत्पश्चात प्रवर्तन की कार्यवाही-प्रथम चरण के अनुरुप हो। तृतीय अभियान 21 से 31 अगस्त 2021 तक होगा, जिसमें सभी जनपदों में एवं अन्य विभागीय समितियों के द्वारा महिला जेल, नारी निकेतन, नारी संरक्षण गृह, वन स्टाप सेन्टर का निरीक्षण कर लिया जाए। इसी प्रकार बाल संरक्षण गृह तथा अभिरक्षा में लिये गये बच्चे तथा बच्चियों का भी निरीक्षण कर लिया जाए। प्रोफेशनल/प्रशिक्षित काउन्सलर्स द्वारा इन महिलाओं/बच्चिायों की काउन्सिलिंग करायी जाये। चतुर्थ अभियान 27 अगस्त, 2021 से निरन्तर जारी होगा। जिसमें परिक्षेत्र के सभी 61 थानों में स्थापित महिला हेल्पडेस्क के माध्यम से वरिष्ठ एकल महिला नागरिक  अथवा एकल महिला अभिभावक की एक सूची  बनाना तथा उनसे संवाद। उनकी छोटी-छोटी समस्याओं का भी हल करने का प्रयास हो। आवश्कतानुसार जिला प्रशासन का भी सहयाग लिया जाए। पंचम अभियान 01 से 30 सितम्बर 2021 तक होगा, जिसमें प्रत्येक जनपद के नगरीय क्षेत्रों में बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, मण्डियों, बाजारों तथा महत्वपूर्ण चौराहों अथवा मार्गों के पास बहुत सारी महिलायें, बच्चे तथा पुरुष विक्षिप्त अवस्था अथवा अन्य उद्देश्य से घूमते नजर आते है। कालान्तर में अनेक प्रकार की कुरीतियों अथवा अपराध में कतिपय तत्वों द्वारा इन्हें जबरन सम्मिलित कर लिया जाता है। इनका सत्यापन कराया जाए। तत्पश्चात् चिकित्सीय परीक्षण कराते हुये इनके पनर्वास की व्यवस्था जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित करते हुये किया जाए। यदि इन्हें अपना पता मालूम हो तो वहाँ सकुशल पहुंचाया जाए। यदि यह लावारिश हों तो इनके योग्य नारी संरक्षण गृह बाल संरक्षण गृह तथा पुरुषों के संरक्षण गृह पहुँचाया जाए। इनकी काउन्सिलिंग सुनिश्चित कराते हुये बच्चों की शिक्षा का प्रबन्ध तथा नारी एवं पुरुषों को रोजगार से जोडऩे का यथोचित प्रबन्ध हो। पुलिस उपमहानिरीक्षक झॉसी परिक्षेत्र झॉसी द्वारा उपरोक्तानुसार मिशन शक्ति फेज-3 को जनपद झॉसी जालौन एवं ललितपुर में सफलतापूर्वक निम्न निर्देशों के साथ सम्पादित कराये जाने एवं दिनंाक 21.08.2021 को प्रारम्भ होने वाले कार्यक्रम में निम्नानुसार कार्यवाही कराये जाने हेतु निर्देश दिये गये है। इन निर्देशों के तहत 21 अगस्त 2021 को आयुक्त झॉसी मण्डल झॉसी एवं जिलाधिकारी के द्वारा सभागार में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम एवं कानून व्यवस्था डियूटी में जिन महिला पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों ने अच्छा कार्य किया है। उन्हें समन्वय स्थापित कर उत्साहवर्धन हेतु पुरस्कार दिये जाने हेतु सम्मिलित कराना सुनिश्चित करें। उक्त तिथि में मुख्यमंत्री द्वारा लाईव स्ट्रीमिंग के माध्यम से संवाद किया जायेगा जिसमें सभी थानों पर स्थापित महिला हेल्प डेस्क पर महिला पुलिस कर्मी के साथ समस्त स्टॉफ उपस्थित होकर लाईव स्ट्रीमिंग को देखेंगे एवं निर्देशों का अनुपालन करेंगे। महिला पुलिस अधिकारी/कर्मियों को बीट वितरण के सम्बन्ध में आबंटित बीटोंं का विवरण पोस्टर आदि के माध्यम से सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित किया जायेे, ताकि अधिक से अधिक महिला/बालिकायें अपने बीट पुलिस महिला अधिकारी/कर्मी से भलभांति परिचित हो सकें। समस्त महिला पुलिस अधिकारी/कर्मियों के साथ कल दिनंाक 21.08.2021 को महत्वपूर्ण चोराहों पर पैदल, मोटर साईकिल जिप्सी से गश्त कराकर महिलाओं एवं बालिकाओं में सुरक्षा की भावना जागृत करने हेतु कार्य करेंगे। सभी थानों में महिला सम्बन्धी अपराधों की प्रभावी रोकथाम एवं शरारती तत्वों पर तात्कालिक रूप से कार्यवाही किये जाने हेतु एक शेरनी दस्ता (शक्ति मोबाईल) का गठन करेेंगे। उक्त कार्यक्रम में स्वास्थ विभाग से सम्बन्धित महिला नर्स, एनसीसी गर्ल्स बिंग को भी सम्मिलित कराया जाये।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा