गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (जीईएम) ने नेशनल पब्लिक प्रोक्योरमेंट कॉन्क्लेव के 5वें संस्करण का आयोजन किया

 



जीईएम ने देश में सार्वजनिक खरीदारी परिदृश्य को परिवर्तित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है: वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल

विक्रेताओं के विभिन्न उत्पादों और सेवाओं की जीईएम प्लेटफॉर्म पर डिजिटल प्रदर्शनी 9 अगस्त से 9 सितंबर, 2021 तक, यानी 30 दिनों के लिए उपलब्ध है

Posted On: 11 AUG 2021 1:04PM by PIB Delhi

गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस ने (जीईएम) भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के सहयोग से 9 और 10 अगस्त, 2021 को नेशनल पब्लिक प्रोक्योरमेंट कॉन्क्लेव के 5वें संस्करण का आयोजन किया। इस कॉन्क्लेव का आयोजन “प्रौद्योगिकी सक्षम सरकारी खरीदारी–दक्षता, पारदर्शिता और समावेशिता की ओर” विषय पर किया गया।

इस कॉन्क्लेव का उद्घाटन वाणिज्य और उद्योग राज्य मंत्री श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने वर्चुअल रूप से किया। इस अवसर वाणिज्य सचिव और जीईएम के अध्यक्ष श्री बीवीआर सुब्रह्मण्यम् भी उपस्थित थे। अपने उद्घाटन भाषण में श्रीमती अनुप्रिया पटेल ने कहा कि जीईएम की देश में सार्वजनिक खरीददारी परिदृश्य को बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उन्होंने समावेशिता पर ध्यान केंद्रित करते हुए जीईएम के बडे उद्देश्य पर जोर दिया। इस कार्यक्रम में विशेष अतिथि श्री बीवीआर सुब्रह्मण्यम् ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के “लोकल गोज ग्लोबल’’ के विजन पर जोर देते हुए सुझाव दिया कि जीईएम को आत्मनिर्भर भारत की अवधारणा का समर्थन करते हुए देश में मेक इन इंडिया इको सिस्टम को प्रोत्साहन देने की संभावनाओं का पता लगाना चाहिए।

इस कॉन्क्लेव में जीईएम के बारे में एक सिंहावलोकन सत्र का आयोजन किया गया, जिसमें सभी प्रतिभागियों को इस प्लेटफॉर्म की प्रमुख विशेषताओं और कार्यों के बारे में अवगत कराया गया। कॉन्क्लेव में सार्वजनिक खरीद में एमएसएमई को बढ़ावा देने से लेकर सरकार के साथ व्यापार करने वाले विक्रेताओं और सेवा प्रदाताओं के लिए क्रेडिट तक पहुंच को सक्षम करने के लिए पैनल चर्चाओं की एक विस्तृत श्रृंखला भी आयोजित की गई। इस सम्मेलन की कुछ अन्य विशेषताओँ में सरकारी खरीदारों और विक्रेताओं के बीच बी2बी और बी2जी बैठकें, जीईएम की विशेषताओं और नए विकासों के बारे में प्रशिक्षण और तकनीकी सत्र, मौके पर भी प्रश्नों का समाधान करने और विक्रेताओं और खरीदारों की पंजीकरण की सुविधा के लिए वर्चुअल जीईएम स्टॉल की स्थापना और जीईएम पर और डीआईवीई सत्रों में आतिथ्य, यात्रा और आवास बुकिंग जैसी सेवाओं के लिए विशेष सत्रों का आयोजन शामिल हैं, जिनमें खरीदारों और विक्रेताओं ने प्रतिभागियों के सामने ऑनलाइन प्रस्तुतियां दीं।

इस वर्ष के कॉन्क्लेव ने सरकारी खरीदारों, विक्रेताओं, उद्योग और शिक्षाविदों को एक-दूसरे के साथ बातचीत करने तथा विक्रेताओं के लिए सीआईआई के एचआईवीई डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपने उत्पादों और सेवाओं का प्रदर्शन करने के लिए ऑनलाइन मंच के रूप में कार्य करने का उत्कृष्ट अवसर प्रदान किया। जीईएम प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध विक्रेताओं द्वारा विभिन्न उत्पादों और सेवाओं की डिजिटल प्रदर्शनी 9 अगस्त से 9 सितंबर, 2021 तक यानि 30 दिनों के लिए इस कॉन्क्लेव के दौरान प्रदर्शित की जाएगी।

एक उचित समापन और जीईएम के हितधारकों के जोरदार समर्थन के उलक्ष्य में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खरीदारों और विक्रेताओं को वित्तीय वर्ष 2020-21 में जीईएम के माध्यम से उनके किए गए खरीदारी प्रयासों के लिए सम्मानित किया गया। जीईएम के सीईओ श्री. पी.के. सिंह ने दो शीर्ष संस्थाओं को ऑर्डर वैल्यू और ऑर्डर वॉल्यूम के आधार पर पुरस्कार प्रदान किए।

केंद्र सरकार के खरीदारों में रक्षा मंत्रालय विजेता रहा है जबकि इस श्रेणी में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय दूसरे स्थान पर रहा। राज्य सरकारों के खरीदारों में उत्तर प्रदेश को विजेता और गुजरात को उपविजेता घोषित किया गया। सीपीएसई श्रेणी में गेल इंडिया लिमिटेड विजेता और तेल और प्राकृतिक गैस निगम उपविजेता रहे। विक्रेताओं में टाटा मोटर्स लिमिटेड को सर्वश्रेष्ठ बिक्री प्रदर्शन के लिए विजेता तथा महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड को इस श्रेणी में उपविजेता का पुरस्कार दिया गया।

अपने समापन भाषण में जीईएम के सीईओ श्री. पी.के. सिंह ने पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और प्रौद्योगिकी के व्यापक उपयोग के माध्यम से सार्वजनिक खरीद में बदलाव करने की इस यात्रा में जीईएम के साथ भागीदारी के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने पारदर्शिता, दक्षता और समावेशिता को बढ़ावा देने के लिए एक सार्वजनिक खरीद पोर्टल के रूप में जीईएम के सर्जन की दिशा में प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को दोहराया।

***


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा