जेम पोर्टल के माध्यम से खरीदारी करने के कारण भ्रष्टाचार पर बड़े पैमाने पर रोक लगी



विभिन्न विभागों द्वारा खरीदारी में मितव्ययिता,
गुणवत्ता और पारदर्शिता को प्राथमिकता दी जा रही


लखनऊ: 10 अगस्त, 2021

    उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा सरकारी प्रोक्योरमेण्ट को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के प्रयास निरन्तर किए जा रहे हैं। इसके चलते सरकारी खरीद फरोख्त जेम पोर्टल के माध्यम से की जा रही है। केन्द्र सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 में जेम पोर्टल के माध्यम से सबसे अधिक खरीद करने के लिए उत्तर प्रदेश को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस अवधि में राज्य द्वारा कुल 4,611 करोड़ रुपये की खरीद जेम पोर्टल के माध्यम से की गई।
   प्रदेश के अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल द्वारा आज वर्चुअली यह पुरस्कार जेम की पांचवीं वर्षगांठ पर सीआईआई के नेशनल पब्लिक प्रोक्योरमेंट 2021 के दो दिवसीय कॉन्क्लेव के समापन पर प्राप्त किया गया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में श्री सहगल ने कहा कि राज्य सरकार सरकारी खरीद में पारदर्शिता बरतने और भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि जेम पोर्टल के माध्यम से खरीदारी करने के कारण भ्रष्टाचार पर बड़े पैमाने पर रोक लगी है। विभिन्न विभागों द्वारा जो खरीदारी की जा रही है, उसमें मितव्ययिता, गुणवत्ता और पारदर्शिता को प्राथमिकता दी जा रही है।
    ज्ञातव्य है कि प्रदेश के विभिन्न विभागों ने जेम पोर्टल से वित्तीय वर्ष 2017-18 में 602 करोड़ रुपये, वित्तीय वर्ष 2018-19 में 1674 करोड़ रुपये और वित्तीय वर्ष 2019-20 में 2401 करोड़ रुपये की खरीदारी की, जो लगातार बढ़ते हुए वित्तीय वर्ष 2020-21 में कुल 4675 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2021-22 में अब तक 3363 करोड़ रुपये की खरीद की गई है।
---------

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा