मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्द्धन योजना’ की नियमित समीक्षा कर जनपद में आवश्यकतानुसार कार्य किए जाएं

लखनऊ: 03 अगस्त, 2021 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद श्रावस्ती में देवीपाटन मण्डल के विकास कार्यों, कानून व्यवस्था एवं कोविड प्रबन्धन की समीक्षा की। उन्होंने देवीपाटन मण्डल में कोविड प्रबन्धन कार्य की सराहना करते हुए निर्देश दिए कि ऑक्सीजन प्लाण्ट के लिए अलग-अलग नोडल अधिकारी नामित किए जाएं। उन्होंने कोविड-19 की सम्भावित थर्ड वेव के दृष्टिगत सभी अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ‘ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट’ में किसी प्रकार की कोताही न बरती जाए। निगरानी समितियों को क्रियाशील रखा जाए। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण की रोकथाम व प्रबन्धन में अच्छा कार्य करने वाले लोगों को प्रोत्साहन दिया जाए। मुख्यमंत्री जी ने आगामी 05 अगस्त को आयोजित होने वाले ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के तहत खाद्यान्न वितरण की सभी तैयारियां समय से पूर्ण कर कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतः पालन करते हुए आयोजन को सफल बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक फेयर प्राइस शॉप हेतु नोडल अधिकारी नामित करते हुए सभी पात्र लाभार्थियों को मानक के अनुसार खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने खाद्यान्न वितरण कार्य की वीडियोग्राफी कराए जाने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने कानून व्यवस्था की समीक्षा के दौरान जनपद बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिए कि अवैध शराब के निर्माण, संचरण एवं बिक्री पर प्रभावी अंकुश के लिए ऐसे कार्यों में संलिप्त व्यक्तियों एवं व्यापारियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती जिले होने के कारण पेट्रोलिंग बढ़ायी जाए, वनों की अवैध कटान तथा अवैध खनन पर प्रभावी अंकुश लगाया जाए। उन्होंने जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी को ‘हर घर नल योजना’ की साप्ताहिक समीक्षा करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि योजना को धरातल पर कार्यान्वित किया जाए। उन्होंने आगामी 15 अगस्त के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को भव्यता एवं गरिमापूर्ण तरीके से आयोजित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों को भी आमंत्रित किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने मण्डल में विद्युत आपूर्ति कार्य की नियमित समीक्षा करते हुए स्थानीय फॉल्ट को समय से दुरुस्त करने के साथ-साथ निर्धारित अवधि में खराब ट्रांसफार्मर को बदलने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सड़कों को गड्ढामुक्त करने के कार्यों की नियमित समीक्षा की जाए। उन्होंने गन्ना किसानों का समय से गन्ना बकाए का भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि गौ-संरक्षण केन्द्रों में संरक्षित पशुओं को चारे, पानी इत्यादि की किसी भी प्रकार समस्या नहीं होनी चाहिए। उन्होंने जिलाधिकारियों एवं मुख्य विकास अधिकारियों को गौ-संरक्षण केन्द्रों का नियमित पर्यवेक्षण करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक गौ-संरक्षण केन्द्र के लिए पशु चिकित्साधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित किया जाए। मुख्यमंत्री जी ने ‘उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना’, ‘मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना’, विभिन्न प्रकार की पेंशन योजनाओं सहित अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं के सभी पात्र व्यक्तियों को आच्छादित कराने के साथ-साथ विकासपरक योजनाओं को निर्धारित मानक व गुणवत्ता के साथ समय से पूरा कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण एवं शहरी), मुख्यमंत्री आवास योजना, पंचायत भवनों एवं सामुदायिक शौचालयों के निर्माण कार्य को समय से पूर्ण कराकर उन्हें जनता के उपयोग में लाया जाए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ‘मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेले’ के आयोजन के दौरान लाभार्थियों को अन्य कल्याणकारी योजनाओं से भी आच्छादित किया जाए। उन्होंने आयुष्मान गोल्डेन कार्ड की प्रगति में सुधार लाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ‘मुख्यमंत्री पर्यटन संवर्द्धन योजना’ की नियमित समीक्षा कर जनपद में आवश्यकतानुसार कार्य किए जाएं। उन्होंने जनसमस्याओं के त्वरित, समयबद्ध व गुणवत्तापरक निस्तारण सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्तरों से प्राप्त होने वाली शिकायतों को प्राथमिकता पर निस्तारित कराया जाए। बैठक का संचालन करते हुए प्रभारी आयुक्त/जिलाधिकारी गोण्डा श्री मारकण्डेय शाही ने देवीपाटन मण्डल की उपलब्धियों का विवरण प्रस्तुत किया। इसके पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने संयुक्त जिला चिकित्सालय, भिनगा का निरीक्षण किया। उन्होंने चिकित्सालय प्रशासन द्वारा प्रदान की जा रही स्वास्थ्य सेवाओं, कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव तथा टीकाकरण के लिए की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मुख्यमंत्री जी ने संयुक्त जिला चिकित्सालय, भिनगा में संचालित कोविड वैक्सीनेशन सेण्टर का भी निरीक्षण किया। उन्होंने इस अवसर पर पंजीकरण कक्ष, प्रतिक्षालय कक्ष, वैक्सीनेशन कक्ष तथा ऑब्ज़र्वेशन कक्ष का निरीक्षण करते हुए मौजूद अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने वैक्सीनेशन सेण्टर के निरीक्षण के दौरान टीकाकरण के लिए आए हुए परिवारों से कुशलक्षेम पूछा तथा परिवारों के साथ मौजूद बच्चों को प्यार कर आशीर्वाद भी दिया। मुख्यमंत्री जी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उनके प्रयासों से सभी प्रदेशवासियों को कोरोना का निःशुल्क टीका लगाया जा रहा है। टीकाकरण कोविड संक्रमण से बचाव का सुरक्षा कवच है। इसलिए सभी पात्र नागरिक स्वयं का टीकाकरण कराएं तथा दूसरे लोगों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। उन्होंने लोगों से अपील की कि अभी कोरोना का खतरा टला नहीं है, इसलिए कोविड प्रोटोकॉल का पूरी कड़ाई के साथ पालन करें तथा परिवार के सभी पात्र सदस्यों का टीकाकरण अवश्य कराएं। समीक्षा बैठक के दौरान समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री, खाद्य एवं रसद तथा नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री श्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह (धुन्नी सिंह), विधान परिषद सदस्य श्री स्वतंत्रदेव सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। समीक्षा बैठक के उपरान्त, मुख्यमंत्री जी ने मीडिया प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि देवीपाटन मण्डल के चारों जनपदों में कोरोना नियंत्रण एवं प्रबन्धन का कार्य स्थानीय प्रशासन ने कोरोना वॉरियर्स व हेल्थ वर्कर्स के साथ मिलकर बहुत अच्छी तरह से सम्पादित किया है, जिससे कोरोना लगभग नियंत्रित हो गया है। श्रावस्ती जनपद में आज कोई भी एक्टिव केस नहीं है। शेष जनपदों में कुछ एक केस बचे हैं। उन्होंने कहा कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की कार्यवाही इसी प्रकार चलती रही, तो कोरोना अगले कुछ दिनों में यहां से पूरी तरह नियंत्रित हो जाएगा। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से आज पूरे प्रदेश में कोरोना टीकाकरण का विशेष ड्राइव चलाया गया है। अब तक 05 करोड़ 07 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लगायी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अब तक देवीपाटन मण्डल के 28 लाख से अधिक लोगों को कोरोना का वैक्सीन लगायी जा चुकी है तथा 26 लाख से अधिक कोविड टेस्ट किए जा चुके हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में प्रदेश में ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु पी0एम0 केयर्स तथा राज्य सरकार की मदों से 552 ऑक्सीजन प्लाण्ट लगाने की कार्यवाही प्रारम्भ की गई है, जिसमें से 275 से अधिक ऑक्सीजन प्लाण्ट अब तक लग चुके हैं। देवीपाटन मण्डल में 13 ऑक्सीजन प्लाण्ट लग चुके हैं तथा 09 ऑक्सीजन प्लाण्ट निर्माणाधीन हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि 05 अगस्त, 2021 को ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के तहत पूरे प्रदेश में निःशुल्क खाद्यान्न वितरण किया जाएगा, जिसका शुभारम्भ प्रधानमंत्री जी के कर-कमलों से किया जाएगा। पूरे प्रदेश में लगभग 80,000 सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानें हैं, जिनके माध्यम से प्रदेश के 80 लाख से 01 करोड़ लोग निःशुल्क खाद्यान्न वितरण से लाभान्वित होंगे। प्रदेश सरकार ने ई-पॉस मशीन एवं आधार आइडेण्टिफिकेशन द्वारा तकनीकी रूप से सार्वजनिक वितरण प्रणाली को मजबूत किया है। ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के तहत खाद्यान्न वितरण के लिए देवीपाटन मण्डल की 3,993 फेयर प्राइस शॉप में नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि शासन की योजनाओं का लाभ गांव, गरीब, किसान को उपलब्ध कराने के लिए जनपद के जनप्रतिनिधिगण एवं जिला प्रशासन द्वारा सफलतापूर्वक कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश में कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा की स्थिति काफी मजबूत हुई है। प्रदेश की कानून व्यवस्था ने देश एवं दुनिया के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। अपराधियों एवं भ्रष्टाचारियों के प्रति राज्य सरकार की ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति के तहत कार्य करने की जो मंशा है, वह निरन्तर आगे बढ़ती रहेगी। -------

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा