बालू अड्डा में जहरीला पानी आपूर्ति सरकार की संवेदनहीनता का नतीजा -दीपक सिंह



ऽ नगर निगम के जिम्मेदारों पर दर्ज किया जाए आपराधिक मुकदमा -दीपक सिंह

ऽ बच्चों की मौत के लिये सरकार की लचर नीति व नगर निगम जिम्मेदार -दीपक सिंह

ऽ मृतक बच्चों के परिजनों को सरकार दे आर्थिक सहायता -दीपक सिंह

ऽ सड़क से सदन तक कांग्रेस उठाएगी मुद्दा -दीपक सिंह
लखनऊ 11 अगस्त 2021
राजधानी के पॉश इलाके में शुमार बालू अड्डा की आबादी सीवर का पानी पीने के लिए मजबूर है, सरकार की लापरवाही से बच्चों की मौतें हुई हैं सैकड़ों बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं यहां के लोगों की लिखित मौखिक शिकायतों के बाद भी ध्यान नहीं देने से दुःखद मौतें हुई है।
विधान परिषद में कांग्रेस दल के नेता श्री दीपक सिंह ने बताया कि 2 दिन से पानी काट दिया गया है यहां के लोग टैक्स देते हैं और सरकार के लोग उस टैक्स से मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री की फोटो चमकाते हैं और बालू अड्डा के लोग लखनऊ के लोग नारकीय जीवन जीने के लिए मजबूर हैं, बच्चों की मौतें हो रही हैं सैकड़ों बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं।
कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने मौके पर पहुंच कर सैकड़ों घरों के लोगों से मुलाकात कर कहा कि कांग्रेस पार्टी मांग करती है सरकारी लापरवाही से हुए बच्चों की मौत का मामला बेहद संवेदनशील है और इसके लिये योगी सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि राज्य की राजधानी लखनऊ में जब जहरीला पानी आबादी पीने को विवश है तो दूरस्थ जनपदों व ग्रामीण इलाकों की क्या स्थित होगी।
श्री सिंह ने मृतकों के परिजनों को राहत राशि देने की मांग करते हुए कहा कि जो बच्चे अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं उनके इलाज की समुचित व्यवस्था की जाए, नगर निगम के दोषी अधिकारी जो यहां के लोगों से सफाई के नाम पर सीवर का पानी टंकी में रह जाए उसे काटने के नाम पर पैसा मांगते हैं, उन पर आपराधिक कार्रवाई हो, यदि 17 तारीख तक इस पर कार्यवाही नहीं होती है तो इस मामले को कांग्रेस पार्टी सदन में उठाएगी और इन्हें न्याय मिलने तक सड़क पर भी संघर्ष करेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा