राम वन गमन मार्ग के तैयार हो जाने से अयोध्या, प्रयागराज एवं चित्रकूट होगा बहुमुखी विकास - केशव प्रसाद मौर्य




लखनऊः दिनांकः 12 अगस्त, 2021

 
 

मा0 उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरूवार को सर्किट हाउस प्रयागराज के सभागर में अयोध्या से चित्रकूट तक बनने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग (रामवनगमन मार्ग) के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने सभी सम्बंधित जिलो से आये हुए अधिकारियों व कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से कहा कि यह सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट है। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण में आने वाली अड़चनों को सम्बंधित जनपदों के जिलाधिकारियों से मिलकर इस समस्या का समाधान तत्काल करा लें, साथ ही इस कार्य की प्रगति से निरंतर अवगत कराने के लिए भी कहा है। भूमि अधिग्रहण के कार्यों में वन विभाग की अनापत्ति प्राप्त कर कार्य को आगे बढ़ाया जाये। सभी सम्बंधित विभाग मिलकर कार्य करें।
  इसके उपरांत मा0 उपमुख्यमंत्री जी ने मीडिया बंधुओं से वार्ता करते हुए जानकारी दी कि राम वन गमन मार्ग अयोध्या से चित्रकूट तक ऐसे स्थल जहां पर मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम द्वारा वनवास के दौरान विश्राम किया गया हो अथवा जिन स्थलों का महत्व राम वन गमन की दृष्टि से हो, उनको उक्त दोनों राष्ट्रीय राजमार्गाे से जोड़ने की कार्ययोजना है, जिसमें से 44 स्थलों का चयन कर लिया गया है।  
श्री मौर्य  ने कहा कि मोहनगंज से जेठवारा-श्रृंगवेरपुर-मूरतगंज-महेवाघाट- राजापुर से चित्रकूट तक की लम्बाई 132.00 किमी0 को रा0मा0 संख्या-731ए के विकास एवं निर्माण हेतु 4 पैकजों में बांटा गया है, जिसमें प्रथम पैकेज में मोहनगंज से औतारपुर की लम्बाई 35 किमी0 है। दूसरे पैकेज में औतारपुर से मूरतगंज की लम्बाई 29.682 किमी0, जिसमें श्रृंगवेरपुर धाम पर गंगा नदी पर 6 लेन 1200 मी0 लम्बा पुल का प्रस्ताव पारित है। पैकेज तृतीय में मूरतगंज से महेवाघाट की कुल लम्बाई 48.068 है, इसे चार लेन चौड़ा किया जाना प्रस्तावित है। साथ ही इसमें मंझनपुर बाईपास एवं राजापुर बाईपास सम्मिलित है। पैकेज चतुर्थ में राजापुर से रायपुरा कुल लम्बाई 19.25 किमी0 है। इस प्रकार मोहनगंज से प्रारम्भ होकर चित्रकूट के निकट रायपुरा तक चारों पैकेजेज की कुल लम्बाई 132 किमी0 है, जिसकी अनुमानित लागत लगभग 3300 करोड़ होगी। इस मार्ग के निर्माण कार्य को चरणबद्ध तरीके से आने वाले तीन वर्षों में पूर्ण किया जायेगा।

उपमुख्यमंत्री जी ने बताया कि यह कार्य समयबद्ध तरीक से पूरा कराया जायेगा, इससे अयोध्या से चित्रकूट तक आने जाने में श्रद्धालुओं को सुविधा होगी। साथ ही रास्ते में पड़ने वाले धार्मिक स्थलों व भगवान श्रीराम से जुड़ी हुए धार्मिक स्थलों को इस राजमार्ग के साथ जोड़कर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही देश-विदेश से आने वाले राम भक्तों को अयोध्या से लेकर चित्रकूट के रास्ते में वनवास के दौरान भगवान राम द्वारा गये हुए स्थलों को देखने का सौभाग्य आसानी से प्राप्त होगा। यह राम वन गमन मार्ग बन जाने के उपरांत और तीव्र गति से विकास के कार्य होंगे, पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा, जिससे रोजगार के भी अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि विकास का रास्ता सड़कों से होकर ही जाता है। इसलिए हमारा प्रयास होगा कि यह मार्ग जल्द से जल्द तैयार होकर जनता की सेवा में समर्पित हो। इस राम वन गमन मार्ग के तैयार हो जाने के बाद अयोध्या, प्रयागराज एवं चित्रकूट का भी विकास होगा।
इस अवसर पर , मा0 विधायक चायल श्री संजय गुप्ता, मा0 विधायक फूलपुर श्री प्रवीण पटेल, मा0 विधायक शहर उत्तरी श्री हर्ष वर्धन वाजपेयी, जिलाधिकारी श्री संजय कुमार खत्री सहित सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा