टीकाकरण के लिए तिमाही माइक्रोप्लान बनाकर कार्य करने कि आवश्यकता : सीएमओ



टीकाकरण को बेहतर बनाने के लिए हुआ मंथन

नियमित टीककरण के लिए चाई संस्था के सहयोग से हुआ एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

ललितपुर। नियमित टीकाकरण कार्यक्रम को और बेहतर प्रबंधन एवं सुदृढ़ीकरण के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। यह कार्यशाला क्लिंटन हेल्थ एक्सेस इनिशिएटिव (चाई) संस्था के द्वारा आनंद रेसीडेंसी में आयोजित की गई थी। कार्यशाला में नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में और सुधार लाने व कार्यक्रम को बेहतर प्रबंधन बनाने के लिए विस्तार से चर्चा की गयी। कार्यशाला की अध्यक्षता सीएमओ डा.जी.पी.शुक्ला ने की व संचालन चाई क्लस्टर लीड साजिद अली ने किया।

सीएमओ ने कहा कि डाटा के आधार पर माइक्रोप्लान बनाए। ड्यू लिस्ट पर भी बल दिया। साथ ही कोल्ड चैन के रखरखाब और उसकी गुणवत्ता के बारे में भी विस्तृत चर्चा की। साथ ही उन्होंने कहा कि टीकाकरण सेवाओं में चाई संस्था के सहयोग से सुधार करने का प्रयास करें और सभी पार्टनर से भी सहयोग अपेक्षित है इसके अलावा फील्ड में आ रही समस्याओं पर सभी को ध्यान में रखते हुए टीकाकरण में आवश्यक सुधार किए जाएं। जिससे शत प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित किया जा सके। साथ ही उन्होंने आशा, एएनएम और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के बीच बेहतर तालमेल पर भी जोर दिया। बेहतर टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए उन्होंने तिमाही माइक्रो प्लान बनाने का सुझाव दिया साथ ही ब्लाक पर ब्लाक रिव्यु मीटिंग और डिस्ट्रिक्ट रिव्यु मीटिंग कराने का सुझाव दिया। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा.हुसैन खान ने कहा कि नियमित टीकाकरण कार्यक्रम बच्चो व माताओं को जानलेवा बीमारियों से बचाने का सबसे सशक्त माध्यम है और स्वास्थ्य विभाग लक्ष्य की शत प्रतिशत प्राप्ति के लिए सभी सहयोगी संस्थाओं के साथ मिलकर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि क्लिंटन हेल्थ फाउंडेशन के जनपद में सहयोग के बाद निश्चित ही हमारे नियमित टीकाकरण सेवाओं के परिणाम ओर बेहतर आएंगे और हम टीकाकरण के द्वारा आसानी से शिशु और मृत्यु दर को और कम करने में सफल हो पाएंगे। कहा कि भविष्य में ब्लॉक मडावरा में टीकाकरण सेवाओं में अधिक सुधार होगा, एक बेहतर माइक्रो प्लान बनाया जायेगा जो कि अभी नही बन पाया है और सहयोगी संस्थाओं के सहयोग के बाद मॉडल ब्लॉक के रूप में विकसित किया जा सकेगा और हम अतिशीघ्र शतप्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त कर पाएंगे। जिला प्रतिक्षरण अधिकारी ने कहा कि कोविड के कारण नियमित टीकाकरण पिछड़ा रहा है। अब तक जिले सिर्फ 18 प्रतिशत ही टीकाकरण हो पाया है। भविष्य में टीकाकरण 90 प्रतिशत लक्ष्य तक पहुचने के लिए आपसी  सामंजस्य व सहयोग से टीकाकरण में निरंतर सुधार जरूरी है, लगातार प्रयास से टीकाकरण का लक्ष्य निश्चित रूप से पूरा किया जा सकेगा। क्लिंटन हेल्थ फाउंडेशन (चाई संस्था) के जिला प्रतिनिधि दीपक दुबे व चाई के क्लस्टर लीड साजिद अली ने नियमित टीकाकरण प्रोग्राम मैनजमेंट यूनिट के बारे में बताया कि टीकाकरण सुधार के लिए जनपद में आवशयक सहयोग करेगा संस्था प्रदेश के 34 जिलो के 100 महत्वाकांक्षी ब्लॉक में टीकाकरण के क्षेत्र में कार्य कर रही है इन ब्लॉक में जनपद का मडावरा ब्लाक भी शामिल है। डीपीएम रजिश फिरोज ने भी टीकाकरण के लक्ष्य पर ध्यान देने और चाई संस्था के सहयोग की बात कही। साथ ही ब्लॉक में आ रही कठिनाइयों के बारे में चर्चा की। इस अवसर पर वल्र्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन से सर्विलांस मेडिकल ऑफिसर डा.सुमित बघेल ने मॉनिटरिंग डाटा के आधार पर सभी प्रतिभागियों को बताया कि पार्शियल इम्यूनाइजेशन को पूर्ण प्रतिरक्षण में बदलने कि आवशयकता है, साथ ही उन्होंने जनवरी 2021 से जून जुलाई 2021 तक के टीकाकरण की समीक्षात्मक चर्चा की। राज्य स्तर से यूपीटीएसयू से डा. प्रवीण स्वामी ने ड्यु लिस्ट कि गुणवत्ता व डेटा वेलिडेशन पर अधिक ध्यान देने और सत्रों पर शत प्रतिशत अपडेटेड ड्यु लिस्ट उपलब्ध करने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिए माइक्रो प्लान में बहुत सुधार करने कि जरूरत है और शत प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण का प्रयास करें और उन्होंने बताया कि ज्यादा से ज्यादा एएनएम व आशा द्वारा टीका लगाने के लिए टीकाकरण के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। इस अवसर पर एसीएमओ डा.डी.सी.दोहरे, ब्लॉक के प्रभारी चिकित्साधिकारी, डीसीपीएम, एआरओ बीपीएम व डाटा आपरेटर एवं अन्य स्वास्थ्य विभाग के लोग उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा