समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने को संकल्पित : तिलक यादव

पं.जनेश्वर मिश्र की जयन्ती पर निकाली गयी विशाल समाजवादी साइकिल यात्रा
ललितपुर। उत्तर प्रदेश में बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी, आपराधिक ग्राफ के अलावा पंचायत चुनाव में लोकतंत्र की हत्या किये जाने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुये गुरूवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर विशाल साइकिल यात्रा निकाली गयी। छोटे लोहिया पं.जनेश्वर मिश्र की जयन्ती पर निकाली गयी यह समाजवादी साइकिल यात्रा शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुये वापस सपा कार्यालय पहुंचकर समाप्त हुयी। यात्रा के जरिए सपाईयों ने जनता को संदेश दिया कि बेहतर कल के लिए समाजवादी पार्टी ही एक मात्र विकल्प है। समाजवादी साइकिल यात्रा का शुभारंभ करते हुये सपा के नि.जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिला है। केबल लोगों को गुमराह करते हुये एजेण्डा चलाया जा रहा है। कहा कि पंचायत चुनाव में जनता ने अपना वोट जिला पंचायत सदस्यों को दिया, जिसमें अधिकांश सदस्य सपा के जीतकर आये। इससे घबराई सरकार ने लोकतंत्र की हत्या करते हुये कहीं प्रत्याशियों को नामाकंन नहीं भरने दिये तो कहीं प्रत्याशियों का अपहरण कर लिया। अराजकता का माहौल बनाया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बढ़ती मंहगाई, बेरोजगारी के अलावा लोगों के साथ लूटपाट, छिनौती, दुराचार जैसी घटनायें भी बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में इस सरकार को उखाड़ फेंकने का काम समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता करेंगे। यह साइकिल यात्रा स्टेशन रोड स्थित कार्यालय से शुरू होकर घण्टाघर, आजाद चौक, नदीपार, चौकाबाग होते हुये बड़ी नहर से वापस होकर शनिचरा चौराहा, तालाबपुरा, नझाई बाजार वाटर वक्र्स, तुवन चौक से वर्णी कॉलेज चौराहा होते हुये पुन: सपा कार्यालय पहुंचकर समाप्त हुयी। यात्रा को नि.जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान फूल सिंह लखनपुरा, कैलाश सिंह, ज्योति सिंह, दशरथ लंबरदार, प्रकाश नारायण शुक्ला, यादवेन्द्र दादा, जितेन्द्रसिंह जीतू, रमेश सिंह, शिशुपाल सिंह, रामजीवन सिंह, अनुराग खरे, अशोक अहिरवार, शाकिर अली, रामदास श्रोती, भवानी सिंह, पवन तिवारी, आशीष अहारिया, इंजी.हृदेश मुखिया, सोबरन सिंह फौजी, गोविंद बनोली, नरेंद्र राजपूत, भागीरथ कुशवाहा, विनोद रैकवार, प्रताप एड., सुरेन्द्रपाल, शरीफ जावेद, गीता मिश्रा, महेंद्र यादव एड., संतोष साहू, रामप्रताप सिंह, शत्रुघन सिंह, हर्ष यादव, राजेंद्र यादव, अजय यादव, अरविंद यादव, राजकुमार सिंह, विक्रम बरखेड़ा, पुष्पेंद्र, अभिषेक, पंकज श्रीवास, रोहित मेंबर, रमन सिंह, केफी पठान, लाखन बनोली, दीपक यादव, अंकित के अलावा सैकड़ों सपाई मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा