कोरोना संक्रमण से मृतक के आश्रित परिवार को आर्थिक सहायता दे सरकार : गुडडू राजा

 

 

 





ग्राम कंधारीकलां में श्रीमद भागवत का समापन, किया गया वृहद वृक्षारोपण

ललितपुर। जिले के वरिष्ठ समाजसेवी गुडडू राजा बुन्देला ग्राम कंधारीकलां में आयोजित श्रीमद भागवत कथा के समापन अवसर पर शामिल होने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने श्रीमद भागवत कथा के समापन अवसर पर लोगों को संबोधित भी किया। तदोपरान्त मंदिर प्रांगण में वृहद वृक्षारोपण भी किया। इस दौरान युवाओं ने वरिष्ठ समाजसेवी गुडडू राजा बुन्देला का फूलमालायें पहनाकर स्वागत सम्मान किया।

                कार्यक्रम के दौरान गुडडू राजा बुन्देला ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौर में कई परिवार प्रभावित हुये हैं। ऐसे परिवारों को मदद पहुंचाने के लिए वह सदैव तत्पर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना संकट के दौरान प्रभावित हुये गरीब परिवारों को वर्तमान प्रदेश सरकार ने राहत पहुंचाने का कोई कार्य नहीं किया गया, जिससे ऐसे परिवारों की स्थिति अब तक नहीं सुधर पायी है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से जनपद के कई शिक्षक, वरिष्ठ चिकित्सक, पुलिस कर्मी, सफाई कर्मी और पत्रकारों को अपने कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ते हुये प्राण न्यौछावर करने पड़े। ऐसे परिवारों को मुआवजा देने के लिए शासन को अलग से प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मृतक आश्रित परिवार को आर्थिक सहायता के साथ शासकीय नौकरी भी दी जानी चाहिए। इसके अलावा उन्होंने जनपदवासियों को हर संभव मदद पहुंचाने का आह्वान किया। इस दौरान जिला पंचायत थाना से सदस्य बृजेन्द्र सिंह यादव, युवराज राजा बुन्देला, राजू यादव, गोविंद सिंह यादव दादा दौलता पूर्व प्रधान, धर्मेंद्र यादव परोंदा, क्षत्रिय महासभा जिलाध्यक्ष भगतराजा राजा अंधियारी, ग्राम प्रधान संघ संरक्षक जितेंद्र सिंह जीतू राजा, के.पी.यादव तालबेहट, रघुराज यादव, राजपाल यादव, बलवीर यादव धमकना, सोहन सिंह हिंगौरा, छात्रसभा अध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह सेतु यादव, बॉबी राजा खोंखरा, राजू यादव नदनवारा, के.के.नामदेव, राहुल कुशवाहा, अभिषेक दीक्षित, सत्येन्द्र राजा सिंगेपुर, सचिंद राजा, गजेंद्र राजा मिर्चवारा, योगेंद्र यादव पठारी, धीरेंद्र राजा रोंडा, मनोज राजा चौबारा, सोनू यादव बांसी, सोहन सिंह हिगोरा, सजन यादव प्रधान नत्थीखेड़ा, हैबी दुबे, देवी सिंह प्रधान, डा.सुनील यादव, धर्मेंद्र राजा, आजाद यादव एवं अनेक साथी मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि