कान्हा उपवन, नादरगंज, नगर निगम, लखनऊ का निरीक्षण किया गया


गोशाला में गोवंश के रख-रखाव एवं संरक्षण-संवर्धन, व्यवस्था की प्रसंशा की गयी

 
लखनऊः  13 अगस्त, 2021

 उ0प्र0 गोसेवा आयोग द्वारा प्रदेश व्यापी निरीक्षण अभियान 30 जुलाई, .2021 को प्रारम्भ किया गया था। इसी क्रम में आज 13 अगस्त, .2021 को उ0प्र0 गोसेवा आयोग के उपाध्यक्ष, श्री अतुल सिंह द्वारा पूर्वान्ह 11ः30 बजे कान्हा उपवन, नादरगंज, नगर निगम, लखनऊ का निरीक्षण किया। गोशाला में लगभग 9025 गोवंश संरक्षित है। इस गोशाला में गोवंश के रख-रखाव एवं संरक्षण-संवर्धन, व्यवस्था की प्रसंशा की। संयुक्त निदेशक, डा0 अरविन्द कुमार राव ने बताया कि संरक्षित गोबंशों का भरण-पोषण नगर विकास विभाग से प्राप्त प्रतिवर्ष लगभग 9 करोड़ रूपये की धनराशि से किया जाता है।
 गोशाला के प्रबंधक श्री यतेन्द्र त्रिवेदी द्वारा अवगत कराया गया कि गोशाला को स्वावलम्बी बनाने हेतु गोमय उत्पादों जैसे-गो-काष्ठ, गोनाइल, गोबर के गमले, दीपक, मूर्तियां, वर्मी कम्पोस्ट आदि का निर्माण किया जाता है। गोशाला में पॉलीक्लीनिक की सुविधा है जिसमें गोवंश का इलाज किया जाता है जहां पर चार पशुचिकित्सक उपलब्ध हैं, जिनमें से एक 24 घण्टे मोबाइल पर उपलब्ध हैं।
कान्हा उपवन में संचालित अन्नपूर्णा भोजनालय में गोशाला में कार्यरत 250 कर्मचारियों को 1000 रुपये प्रतिमाह से सुबह का नास्ता, दोपहर व शामका खाना व परिवार के लिये 1 लीटर दूध दिया जाता है साथ ही परिवार के साथ रहने वाले कर्मचारियों को गोबर गैस की सुविधा भी प्रदान की जाती है। प्रत्येक परिवार को एक गाय पालने के लिये दी गयी है तथा उनके बच्चों को नगर निगम के स्कूल में पढ़ाया जाता है।
कान्हा उपवन द्वारा उत्पादित अवशिष्ट के लिये भारत बायोटेक एनर्जी लिमिटेड (बी0बी0ई0एल0) गुजरात एवं जे0बी0एल0 कम्पनी, गुजरात के अधिकारियों का संयुक्त दौरा हुआ है। इनके द्वारा लगभग 25 करोड़ लागत से पी0पी0पी0 मॉडल प्लान्ट बनाया जायेगा, जिसमें गोबर से बायो गैस सी0एन0जी0 गैस का उत्पाद किया जायेगा। उत्पादित सी0एन0जी0 नगर निगमों के वाहनों में सस्ती दरों पर उपलब्ध होगी एवं 15 लाख रूपये लीज रेन्ट के रूपमें नगर निगम को प्रतिवर्ष मिलेगा। मा0 उपाध्यक्ष, उ0प्र0 गोसेवा आयोग द्वारा गोशाला में संरक्षित गोवंश के भरण-पोषण, रख-रखाव तथा कान्हा उपवन में स्वावलम्बन की ओर अग्रसित हो रहे कार्यों की सराहना करते हुये कहा कि प्रदेश के अन्य नगर निकायों में उक्त मॉडल व क्रियाकलापों को अपना कर स्वावलम्बी बनाया जा सकता है।
निरीक्षण के दौरान श्री राकेश कुमार यादव, अपर नगर आयुक्त, लखनऊ, डा0 अरविन्द कुमार राव, संयुक्त निदेशक, स्थानीय निकाय, डा0 वीरेन्द्र सिंह, सचिव, उ0प्र0 गोसेवा आयोग एवं भाजपा, विश्व हिन्दू महासंघ तथा हिन्दू युवा वाहिनी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा