लखनऊ मेट्रो के सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन का नाम ‘लिम्का बुक ऑफ़ रेकॉर्ड्स’ में दर्ज




सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन को मिला सबसे तेज़ गति के साथ पूरे होने वाले मेट्रो स्टेशन का दर्जा

दिनांक: 16 अगस्त, 2021
लखनऊ। अपनी उपलब्धियों की लंबी फ़ेहरिस्त में उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लि. (यूपीएमआरसी) ने एक और नई उपलब्धि जोड़ ली है। यूपीएमआरसी की लखनऊ मेट्रो परियोजना के चौधरी चरण सिंह (सीसीएस) एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन ने सबसे तेज़ी के साथ निर्मित होने वाले मेट्रो स्टेशन के तौर पर लिम्का बुक ऑफ़ रेकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करा लिया है। 19 महीने और 10 दिन में तैयार हुए इस भूमिगत मेट्रो स्टेशन का निर्माण कार्य 13 जुलाई, 2017 को शुरू हुआ था और यूपीएमआरसी (पूर्व में लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लि.) ने 22 फ़रवरी, 2019 को इसका निर्माण कार्य पूरा कर लिया था। सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन, लखनऊ मेट्रो परियोजना के 22.878 किमी. लंबे उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर के 4 भूमिगत मेट्रो स्टेशनों में से एक है। यह मेट्रो स्टेशन, यात्रियों को लखनऊ के राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से सीधी कनेक्टिविटी की सहूलियत मुहैया कराता है।
इसके साथ-साथ लखनऊ मेट्रो परियोजना को देश में सबसे तेज़ गति के साथ निर्मित होने वाली मेट्रो परियोजना का दर्जा भी हासिल है। यूपीएमआरसी ने परियोजना के संपूर्ण उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर का निर्माण 4.5 सालों से भी कम समय में पूरा किया था, जो निर्माण कार्य पूरा करने की प्रस्तावित समय-सीमा से 36 दिन पूर्व था।
यूपीएमआरसी के प्रबंध निदेशक श्री कुमार केशव ने मुख्य सचिव श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी जी से भेंट करके लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा। मुख्य सचिव ने लखनऊ मेट्रो को हासिल हुई इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए यूपीएमआरसी के उत्कृष्ट कार्य की प्रशंसा की। उन्होंने कानपुर और आगरा मेट्रो परियोजना के तेज निर्माण कार्य पर भी संतोष व्यक्त किया है।  
बता दें कि सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन का निर्माण लखनऊ मेट्रो परियोजना के बैलेंस सेक्शन के अंतर्गत हुआ था। सर्वप्रथम ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग़ के बीच निर्मित प्रयॉरिटी सेक्शन पर 15 सितंबर, 2017 को मेट्रो सेवाएँ आरंभ हुईं, जिसके पश्चात मुंशीपुलिया तक बैलेंस सेक्शन का कार्य पूरा कर, 8 मार्च, 2019 को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की गरिमामय उपस्थिति में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के कर कमलों द्वारा विडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से सीसीएस एयरपोर्ट से लेकर मुंशीपुलिया तक मेट्रो की यात्री सेवाओं का शुभारंभ हुआ था। 2017 से लेकर अभी तक 3.25 करोड़ से भी अधिक यात्री लखनऊ मेट्रो की सवारी कर चुके हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि