बेटी के जन्म पर मिलने वाली आर्थिक मदद बनेगी विकास में सहायक

 


कन्या सुमंगला योजना के तहत लक्ष्य के सापेक्ष 123 प्रतिशत लाभार्थियों को किया चिन्हित

21 अगस्त को मुख्यमंत्री द्वारा एक साथ दो लाख बच्चियों को दिया जाएगा योजना का लाभ

जनपद स्तर पर भी आयोजित होगा कार्यक्रम

ललितपुर। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत मण्डल को दिये गए 4900 नए लाभार्थियों के लक्ष्य के सापेक्ष 5939 यानि 123 प्रतिशत लाभार्थियों को चिन्हित कर लिया गया है। इन सभी लाभार्थियों को 21 अगस्त को लाभान्वित किया जायेगा। इसके लिए प्रदेश स्तर पर मुख्यमंत्री की उपस्थिति में एक कार्यक्रम के माध्यम से दो लाख लाभार्थियों को एक साथ योजना का लाभ दिया जाएगा। यह जानकारी महिला कल्याण विभाग झांसी मण्डल उपनिदेशक श्रवण कुमार गुप्ता ने दी।

उन्होंने बताया कि समान लिंगानुपात कन्या भ्रूण हत्या को रोकने, बालिकाओं के स्वास्थ्य शिक्षा को सुदृढ़ करने, बालिका के परिवार को आर्थिक मदद और बालिका के प्रति आमजन की सोच में बदलाव लाने के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना मार्च 2019 में शुरू हुई। वर्ष 2019 से अब तक मण्डल में 21380 लाभार्थियों को लाभ पहुंचा दिया गया है, जिसमें झांसी से 9305, जालौन से 4255 और ललितपुर से 7820 लाभार्थी हैं। इससे अलग मंडलायुक्त डा.अजय शंकर पाण्डे के निर्देश पर 27 जुलाई से 18 अगस्त के बीच सभी मण्डलों को नए लाभार्थी चिन्हित करने के लिए लक्ष्य दिया गया था, जिसमें झांसी मण्डल को 4900 का लक्ष्य दिया गया था, इसमें झांसी जनपद को 2000, जालौन को 1700 और ललितपुर को 1200 का लक्ष्य दिया गया था। इसके सापेक्ष झांसी में 2782, जालौन में 1727 और ललितपुर में 1430 लाभार्थियों को चिन्हित कर, उनके ऑनलाइन फार्म भरवा दिये गए हैं। इन सभी लाभार्थियों को मुख्यमंत्री द्वारा 21 अगस्त को खातों में धनराशि भेजी जाएगी। प्रतीकात्मक तौर पर सभी जनपदों में और मुख्यालय पर भी कुछ लाभार्थियों को दिया जाएगा।

क्या है योजना

कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत बेटियों के जन्म पर पात्र लाभार्थियों को उनके जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई तक 15000 रुपये की सहायता राशि प्रदान की जाती है। यह राशि 6 किस्तों में दी जाती है।

योजना की पात्रता एवं धनराशि

योजना का लाभ पाने के लिए उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए। परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों और वार्षिक आय तीन लाख से कम हो। योजना के तहत बालिका के जन्म पर 2000 रूपये, एक साल का टीकाकरण पूर्ण होने पर 1000 रूपये, कक्षा-1 में प्रवेश के समय 2000 रूपये, कक्षा-6 में प्रवेश के समय 2000 रूपये, कक्षा-9 में प्रवेश के समय 3000 रूपये, 10वीं/12वीं परीक्षा उत्तीर्ण कर डिग्री या दो वर्षीय या अधिक डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने पर 5000 रूपये एकमुश्त सीधे बैंक खाते में दिए जाते हैं।

 

 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा