किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पर सम्पर्क करे - अमित मोहन प्रसाद


लखनऊ: 07 सितम्बर, 2021
अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ श्री नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित करने में सफलता मिली है। इस अभिनव प्रयोग सेें कोरोना संक्रमण में कमी आयी है। अन्य प्रदेशों में कोविड के केस बढ़ रहे है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 227 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 22 हो गये है। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। लक्षणयुक्त व्यक्तियों का टेस्ट कराकर लगभग 16 लाख से अधिक निःशुल्क मेडिकल किट भी बांटी गयी है।
श्री सहगल ने बताया कि सतत प्रयासों से कोरोना की दूसरी लहर पर बने प्रभावी नियंत्रण के बीच जनजीवन तेजी से सामान्य हो रहा है। आज प्रदेश के 28 जनपदों में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। प्रदेश के 59 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया, जबकि 16 जनपदों में इकाई अंक में मरीज पाए गए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा कोविड की नियंत्रित स्थिति को देखते हुए रात्रिकालीन कर्फ्यू रात्रि 11 बजे से प्रातः 06 बजे तक प्रभावी किया गया है। उन्होंने बताया कि विभिन्न राज्यों में कोविड के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए कोविड प्रोटोकॉल का पालन किया जाना आवश्यक है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। कोविड संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए समय से पहचान व इलाज जरूरी है। प्रदेश देश में 7.38 करोड़ से अधिक टेस्ट तथा 8 करोड़ से अधिक टीकाकरण किये जा चुके है। उन्होंने बताया कि बड़े वृहद स्तर पर कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। जिसके तहत कल एक दिन में 33 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन की डोज दी गयी है जो देश में सर्वाधिक है।
श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा कोविड की संभावित तीसरी लहर के संबंध में निरन्तर कोविड-19 प्रबंधन हेतु गठित टीम-09 की बैठक में मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर फिरोजाबाद, मथुरा, आगरा के साथ-साथ सभी जिलों में डेगूं व अन्य वायरल बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक इंतज़ाम किये गये है। अस्पतालों में अतिरिक्त बेड, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, दवाइयां, जांच उपकरण आदि की व्यवस्था की गई है। डेंगू से बचने हेतु ग्राम्य विकास, नगर विकास, महिला बाल विकास, स्वास्थ्य और मेडिकल एजुकेशन विभाग अंतर्विभागीय समन्वय के साथ स्वच्छता और स्वास्थ्य सुरक्षा का विशेष अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार सभी 75 जिलों में न्यूनतम एक-एक मेडिकल कालेज की स्थापना के लिए संकल्पित है। सतत नियोजित प्रयासों से प्रदेश के 59 जनपदों में न्यूनतम एक मेडिकल कालेज क्रियाशील हो रहे हैं। शेष 16 जनपदों के लिए पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कालेज स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा टोक्यो पैरालम्पिक में शानदार प्रदर्शन करने वाले उत्तर प्रदेश की खेल प्रतिभाओं सम्मानित किया जायेगा।
श्री सहगल ने बताया कि कोविड की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए प्रदेश में 555 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये है, जिनमें से 392 प्लांट क्रियाशील हो गये है। इन प्लांट्स के संचालन के लिए आईटीआई से प्रशिक्षित युवाओं को  जिम्मेदारी दी गई है। स्थानीय स्तर पर पैरामेडिक्स व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों का भी व्यवहारिक प्रशिक्षण कराया जाए। उन्होंने बताया कि 6500 से अधिक पीकू/नीकू बेड भी तैयार कर लिये गये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री पंडित गोविंद वल्लभ पंत जी की जयंती 10 सितंबर को सभी जनपदांे में मनाई जाएगी।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,82,624 सैम्पल की जांच की गयी है। 1,06,898 सैम्पल आरटीपीसीआर जांच के लिए विभिन्न जनपदों से भेजे गये है। प्रदेश में अब तक कुल 7,38,21,487 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 22 नये मामले आये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 16,86,389 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 227 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 189 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,79,494 घरों के 17,24,70,976 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। कल बड़े वृहद स्तर पर मेगा कोविड वैक्सीनेशन का कार्य करते हुए एक बैंच मार्क स्थापित किया गया है जिसके अन्तर्गत कल एक दिन में 34.23 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन की डोज दी गयी है, जो देश में सर्वाधिक है। प्रदेश में पहली डोज 6,76,73,551 तथा दूसरी डोज 1,32,04,584 तथा कुल 8,08,78,135 डोजें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि प्रदेश में जलभराव व जलजनित रोग डेंगू, मलेरिया आदि बिमारियों से बचाव के लिए लगातार जन-जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है तथा लोगों से जागरूक रहने की अपील की जा रही है। कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पर सम्पर्क करे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि