प्रदेश के कुल 590 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा संपादित होगी, जिसमें से 213 राजकीय, 373 अशासकीय सहायता प्राप्त एवं 04 वित्तविहीन विद्यालय परीक्षा केन्द्र बनाये गये -अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा



लखनऊः दिनांक: 17 सितम्बर, 2021
 
       माध्यमिक शिक्षा परिषद् उ०प्र० प्रयागराज की हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की अंक सुधार बोर्ड परीक्षा कल दिनांक 18 सितंबर 2021 से कोविड गाइडलाइन का अक्षरशः पालन करते हुए प्रारंभ हो रही हैं। माध्यमिक शिक्षा परिषद, उ०प्र० प्रयागराज की घोषित परीक्षाफल 2021 में अंक सुधार हेतु 18-9-2021 से 06-10-2021 के मध्य हाईस्कूल एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षाएं आयोजित की जायेगी। हाईस्कूल परीक्षा 12 कार्य दिवसों में सम्पन्न होकर 4-10-2021 को समाप्त होगी। इण्टरमीडिएट परीक्षा 15 कार्य दिवसों में सम्पन्न होकर 6-10-2021 को समाप्त हो जाएंगी।

 अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा श्रीमती आराधना शुक्ला ने यह जानकारी देते हुए बताया कि माध्यमिक शिक्षा परिषद, उ०प्र० प्रयागराज की घोषित परीक्षाफल 2021 में अंक सुधार हेतु आयोजित की जाने वाली परीक्षा में हाईस्कूल में 24667 बालक, 13264 बालिका सहित कुल 37931 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं जबकि इंटरमीडिएट में 27949 बालक, 13406 बालिका सहित कुल 41355  परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। इस प्रकार हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट में कुल परीक्षाथिर्यों की संख्या-79286 है। हाईस्कूल में 36788 संस्थागत एवं 3764 व्यक्तिगत  कुल 37931 परीक्षार्थी जबकि इंटरमीडिएट में 36788 संस्थागत एवं 3764 व्यक्तिगत  कुल 37931 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

   अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा ने बताया कि अंक सुधार परीक्षा वर्ष 2021 में निर्धारित किये गये परीक्षा केन्द्रों की कुल संख्या 590 है, जिसमें से 213 राजकीय, 373 अशासकीय सहायता प्राप्त एवं 04 वित्तविहीन विद्यालय परीक्षा केन्द्र बनाये गये हैं। अंक सुधार परीक्षा वर्ष 2021 की परीक्षा में 2971 परीक्षा कक्ष एवं 1180 अतिरिक्त कक्ष सहित कुल 4151 कक्ष उपयोग में लाये जायेंगे। प्रदेश के सभी जनपदों में वरिष्ठ अधिकारियों की तैनाती की गयी है जो सभी मूलभूत सुविधाओं तथा कोविड प्रोटोकाल के अनुसार हो रही परीक्षाओं का पर्यवेक्षण करेंगे। सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को कायर्पालक मजिस्ट्रेट की शक्तियां प्रदान की गयी है।

     अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा ने बताया कि अंक सुधार परीक्षा को पूरी पारदर्शिता के साथ नकलविहीन संपन्न कराए जाने हेतु पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पूरे प्रदेश में परीक्षा केन्द्रों पर लगभग 8302 सी सी टी वी एवं 4151 वायस रिकार्डर का प्रयोग किया जाएगा। परीक्षा कक्षों में लगभग 5942 कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी लगायी जायेगी। प्रदेश के अन्तर्गत 02 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील चिन्हित किये गये हैं (जनपद गोण्डा में)। सवार्धिक 21 परीक्षा केन्द्र जनपद जौनपुर में बनाये गये हैं जबकि सबसे कम परीक्षा केन्द्र जनपद श्रावस्ती में बनाये गये हैं। सवार्धिक 3797 परीक्षार्थी जनपद सीतापुर में पंजीकृत हुए हैं। सबसे कम 152 परीक्षार्थी जनपद महोबा में पंजीकृत हैं।

  अपर मुख्य सचिव ने बताया कि परीक्षा से संबंधित समस्त तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। प्रश्न पत्रों को सीसीटीवी की निगरानी में रखा गया है एवं प्रश्न पत्रों की सुरक्षा हेतु पुलिस बल की व्यवस्था कर ली गयी है। नकल विहीन परीक्षा संपादित करने के लिए समस्त जनपदों में कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जा चुकी है। परीक्षा केन्द्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट/जोनल मजिस्ट्रेट नियुक्त किये जा चुके हैं। परीक्षों केंद्रों पर सी0सी0टी0वी0 एवं वायस रिकार्डर लगाने की व्यवस्था कर ली गयी है। माध्यमिक शिक्षा निदेशालय (शिविर कायार्लय) लखनऊ में केन्द्रीयकृत आनलाइन मॉनिटरिंग हेतु राज्य स्तरीय कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी है। जिसमें लगभग 50 कम्प्यूटर स्थापित किये गये हैं। इस कन्ट्रोल रूप से प्रत्येक जनपद के प्रत्येक परीक्षा केन्द्र की निगरानी की जा रही है। परीक्षा केंद्रों पर धारा 144 लागू रहेगी। परीक्षा केंद्र परिसर में मोबाइल फोन पूर्णता प्रतिबंधित रहेगा। नकल विहीन परीक्षा संपादित कराने हेतु परीक्षा केंद्रों पर एसटीएफ की भी निगरानी रहेगी।

   श्रीमती शुक्ला ने बताया की छात्रदृछात्राओं, अभिभावकों तथा जन सामान्य की शंकाओं के समाधान व वांछित जानकारी हेतु ई-मेल- ंदोनकींतनच/हउंपसण्बवउ, फेसबुक - ंदोनकींतनचइवंतक, ट्विटर- /।दोनकींतठ, व्हाट्सएप- 9454457561 तथा हेल्पलाइन नम्बर- 18001805310, 18001805312 (प्रयागराज) पर संपर्क कर सकते हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा