मनवता से बड़ा कोई धर्म नही- सानू बाबा

 मनवता से बड़ा कोई धर्म नही- सानू बाबा 


ललितपुर। रक्तदान जीवनदान को चरितार्थ करता हुआ ललितपुर सेवा ग्रुप द्वारा निरंतर समाज सेवा के क्षेत्र में कार्य किए जा रहे हैं। इसी क्रम में जब ग्रुप के अध्यक्ष अंकुर जैन को फोन आया कि मेनका तिवारी नामक एक महिला की डिलीवरी के बाद हीमोग्लोबिन कम हो गया है जिस कारण उसे बी पॉजिटिव रक्त की आवश्यकता है जिसके लिये ग्रुप के ही एक अन्य सदस्य स्वप्निल सर्राफ से संपर्क किया गया और वे तत्काल रक्त देने के लिए तैयार हो गए। ललितपुर सेवा ग्रुप के सदस्य स्वप्निल सराफ ने पांचवीं बार अपना रक्त दान किया। रक्त देने के बाद उनके उनका अपना निजी अनुभव है कि बहुत हल्का महसूस होता है और अच्छा लगता है। आप भी रक्तदान कीजिए और किसी का जीवन इसी का परिवार टूटने से बचाएं। इस मौके पर अंकुर सानू बाबा, दीपराज तिवारी, अनूप ताम्रकार, पवन साहू आदि मौजुद रहे। 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि