विश्वकर्मा पूजा दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करे सरकार


अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा ने राज्यपाल को भेजा ज्ञापन
ललितपुर। भगवान विश्वकर्मा पूजा दिवस 17 सितम्बर को सार्वजनिक अवकाश घोषित किये जाने की मांग को लेकर अखिल भारतीय विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा के जिलाध्यक्ष गौरव विश्वकर्मा के नेतृत्व में सजातीय बंधुओं ने एक ज्ञापन प्रदेश की महामहिम राज्यपाल को भेजते हुये कार्यवाही की मांग उठायी है।
ज्ञापन में उन्होंने बताया कि 17 सितम्बर को प्रतिवर्ष पूरे देश में भगवान विश्वकर्मा का पूजा दिवस मनाया जाता है। इस दौरान विश्वकर्मा समाज के सभी लोग लोहे एवं लकड़ी के काम करने वाले सभी दुकानदार एवं कारीगर सरकारी कार्यालयो इंजीनियरिंग उद्योगों एवं तकनीकी संस्थानों में काम करने वाले सभी अधिकारी व कर्मचारी गण एवं लोहे एवं लकड़ी के कार्य से सम्बन्धित सभी लोग अपना कार्य बन्द करके धूमधाम से केवल भगवान विश्वकर्मा की पूजा आरती करने व झांकी जुलुस इत्यादि निकालने का कार्यक्रम करते हैं। यह पर्व सभी विश्वकर्मा बंशियो मनु मय त्वष्टा दैवज शिल्पकार के आस्था श्रद्धा एवं स्वाभिमान से जुड़ा पर्व है। पूर्व में समाजवादी पार्टी की सरकार द्वारा दो बार 17 सितम्बर भगवान विश्वकर्मा पूजा दिवस का सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जा चुका है। उन्होंने राज्यपाल से प्रदेश के करोडो लोगों की भावनाओं को ध्यान में रखकर 17 सितमर भगवान विश्वकर्मा के पूजा दिवस पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने हेतु सरकार को निर्देशित करने की मांग उठायी। ज्ञापन देते समय जिलाध्यक्ष गौरव विश्वकर्मा, धर्मेंद्र कुमार विश्वकर्मा, सत्येन्द्र विश्वकर्मा, अनिल विश्वकर्मा, सुनील विश्वकर्मा, सौरभ विश्वकर्मा, जितेन्द्र झां ककड़ारी, राहुल विश्वकर्मा, शिवलाल झां, विकास विश्वकर्मा, मनोज विश्वकर्मा समेत अनेकों सजातीय बंधु मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि