भाजपा संविधान को समाप्त करना चाहती है : व्यासजी गौंड़



भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए एकजुट हों सभी वर्ग : तिलक यादव

पूर्व मंत्री के नेतृत्व में संविधान बचाओ यात्रा पहुंची ललितपुर

ललितपुर। केन्द्र व प्रदेश सरकार देश में संविधान को समाप्त करना चाहती है। इस प्रकार के आरोप लगाते हुये एस.सी.एस.टी. वर्ग के लोगों के साथ समाज के प्रत्येक वर्ग को जागरूक करने के लिए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान पर प्रदेश भर में संविधान बचाओ यात्रा निकाली जा रही है। इस यात्रा का नेतृत्व कर रहे पूर्व मंत्री/ एस.सी.एस.टी. प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व्यासजी गौंड़ रविवार को ललितपुर पहुंचे। सर्वप्रथम तहसील तालबेहट स्थित दलित बस्ती में पहुंच कर पूर्व मंत्री ने लोगों से मुलाकात की और उन्हें आरक्षण के अधिकार के बारे में जानकारी देते हुये संविधान बचाने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया। तदोपरान्त स्टेशन रोड स्थित समाजवादी पार्टी जिला कार्यालय पर एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री/एस.सी.एस.टी. प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष व्यासजी गौंड़ रहे, जबकि अध्यक्षता सपा के नि.जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने की। इसके पूर्व लोहिया वाहिनी व मुलायम सिंह यूथ बिग्रेड ने संयुक्त रूप से संविधान बचाओ यात्रा का नेतृत्व कर रहे पूर्व मंत्री का फूलमालाओं से स्वागत किया, तत्पश्चात जेल चौराहा स्थित भारतरत्न डा.भीमराव अम्बेड़कर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री व्यासजी गौंड़ ने कहा कि आरक्षण व्यवस्था में गड़बड़ी उत्पन्न कर वर्तमान की केन्द्र व प्रदेश सरकार देश से संविधान को समाप्त करने का भरशक प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि संविधान को बचाने के लिए प्रत्येक वर्ग के लोगों को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी प्रत्येक वर्ग को योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए योजनाओं का संचालन किया था, जिसका लाभ निष्पक्षता के साथ प्रत्येक वर्ग के लोगों तक पहुंचा। कहा कि दलित समुदाय के लोगों को एकजुट होकर अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना होगा और संविधान की सुरक्षा करनी होगी। अध्यक्षता कर रहे सपा के नि.जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने गरीब व मध्यम परिवारों को योजनाओं से लाभान्वित किया था। कहा कि आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में सभी वर्गों को लामबंद होकर प्रदेश की भाजपा सरकार को जड़मूल से उखाड़ फेंकने के लिए संकल्पबद्ध होना पड़ेगा। इस दौरान रमाशंकर सिंह बलिया, पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा, अरविंद नागिल एस.सी.एस.टी अध्यक्ष झांसी, ज्योति सिंह लोधी, उपाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह जीतू, जगदीश कंचन, स्वामी प्रसाद एड., जिला पंचायत सदस्य भवानी सिंह, शक्ति बग्गन, ओमकार बरार, अमर सिंह भैरा, सुरेंद्र सिंह, महेंद्र सिंह यादव, रामदास श्रोती, मुलायम सिंह बैस, कोमल प्रजापति,गीता मिश्रा, मुन्नालाल रजक, मानसिंह खैरा एड., विजय शिक्षक, आशीष अहारिया, हृदेश मुखिया, सुदीप यादव, रामविलास रजक, रामप्रताप सिंह, कोमल बरार, उदय सिंह एड., शरीफ जावेद, धर्मेंद्र कुशवाहा, शेरसिंह टोढ़ी, प्रभु, परशु रजक, राजेंद्र सिंह, रमनसिंह, विक्रम सिंह, नीतेश राज, बिटटू विशाल बाल्मीकि, रिंकू, अखलाक, नीलू रजक, पुष्पेन्द्र प्रतापपुरा, यूसुफ खान, करन पाल, लालसिंह, शाकिर अली, प्यारेलाल, चिंतामन बरार एड, मनभावन, गौरव विश्वकर्मा, अनिल अहिरवार, प्रीतम लाल, राजकुमार नाहर, बालचंद्र अहिरवार, हरिचरन अहिरवार, सोबरन अहिरवार, शनि बाल्मिकी, अरविंद कपासी, रोहित के अलावा अनेकों कार्यकर्ता मौजूद रहे। संचालन गिरधारी सिंह ने किया।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा