निषाद विकास संघ की ऑनलाइन मीटिंग में मछुआ समाज की राजनीतिक क्रांति के लिए बौद्धिक वर्ग ने बनाई रणनीति





सुलतानपुर। निषाद विकास संघ, उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष शिक्षक श्यामलाल निषाद "गुरुजी" की अध्यक्षता में बीते रविवार को देर सायं ऑनलाइन मीटिंग सकुशल सम्पन्न हुई।
          प्रदेश अध्यक्ष शिक्षक श्यामलाल निषाद "गुरुजी" ने कहा कि मछुआ समाज में क्रांतिकारी राजनीतिक परिवर्तन के लिए निषाद विकास संघ ऐतिहासिक टीम के गठन के लिए हम लोग कार्य कर रहे हैं।
          निषाद विकास संघ प्रदेश कार्यालय लखनऊ के सह प्रभारी जीशान अहमद ने बताया कि शीघ्र ही निषाद विकास संघ और विकासशील इंसान पार्टी के मध्य समन्वय, संचार, सहकारिता व सहयोग की भावना का कार्य करने के अनुक्रम में विशेष प्रयास किया जाएगा।
          प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेशचंद्र निषाद ने कहा कि प्रदेश के मछुवा समाज के इम्प्लाइयों एवं संविदा कर्मचारियों की सूची बनाई जाय, जिनके माध्यम से हम मछुआ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंच कर समाज को मजबूत कर सकते हैं।
          प्रदेश महासचिव रक्षपाल कश्यप ने कहा कि निषाद विकास संघ इसी तरह कार्य करता रहा तो निकट भविष्य में देश और प्रदेश की सत्ता मछुआ समाज के हाथ में होगी।
          प्रदेश कोषाध्यक्ष बीएल साहनी ने कहा कि संघ की सक्रियता के लिए हर सप्ताह ऑनलाइन मीटिंग होना जरुरी है।
          निषाद विकास संघ महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष आरती कश्यप ने कहा कि निषाद विकास संघ स्वस्थ मछुआ समाज के निर्माण का कार्य करेगा।
          निषाद विकास संघ लखनऊ मण्डल की महिला मोर्चा अध्यक्ष इंजी. दुर्गा देवी रामसखा ने महिला कार्यकारिणी के गठन व महिला सशक्तिकरण के लिए मछुआ समाज से सहयोग की अपील की।
         प्रदेश सचिव योगेन्द्र निषाद ने कहा कि प्रत्येक जनपद में निषाद विकास संघ की मीटिंग कराई जाय।
          प्रदेश सचिव जितेन्द्र बिन्द ने कहा आरएसएस की तरह ही एनवीएस को मछुआ बहुल्य क्षेत्रों में विद्यालय खोलने की आवश्यकता है।
          आजमगढ़ के जिलाध्यक्ष शिक्षक हरिश्चन्द्र निषाद ने बताया कि मछुआ समाज एनवीएस से बड़ी तेजी से जुड़ रहा है और हमें मछुआ समाज के इम्प्लाइयों से सम्पर्क स्थापित करने की जरूरत है।
          सुलतानपुर के जिलाध्यक्ष सन्तराम निषाद ने कहा कि समाज मे क्रांतिकारी परिवर्तन के लिए निषाद विकास संघ एक प्लेटफार्म के रूप में मिला है। मछुआ समाज को क्रांतिकारी परिवर्तन के लिए इस प्लेटफॉर्म से आगे बढ़ना चाहिए।
          मीटिंग के सफल समापन पर प्रदेश मीडिया प्रभारी (आईटी) गुरु प्रसाद निषाद ने एनवीएस को चुस्त-दुरुस्त और प्रभावी रूप से काम करने के लिए प्रत्येक रविवार को ऑनलाइन मीटिंग की घोषणा की।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि