सरकार ने बन्द की जीरो फीस व छात्रवृत्ति सुविधा

 







समाजवादी छात्रसभा ने महामहिम राज्यपाल को भेजा ज्ञापन

ललितपुर। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इसकी व्यवस्था को समाप्त किए जाने से छात्र छात्राओं व उनके अभिभावकों पर पडऩे वाले आर्थिक बोझ को समाप्त करने की मांग पर आज समाजवादी छात्र सभा जिला अध्यक्ष सत्येंद्र सिंह यादव सेतु के नेतृत्व में प्रदेश की महामहिम राज्यपाल को संबोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा है। ज्ञापन में बताया गया कि कोरोना वैश्विक महामारी में छात्रों की शैक्षिक व्यवस्था में व्यवधान उत्पन्न होने के साथ ही अभिभावकों की आर्थिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। वर्तमान परिवेश में आमजन का जीवन यापन अव्यवस्थित है। ऐसे समय में सरकार द्वारा जीरो फीस सुविधा समाप्त कर दलितों व कमजोर वर्ग के छात्रों के अधिकारों पर कुठाराघात किया है। वहीं दूसरी ओर पिछड़े एवं गरीब सामान्य वर्ग के छात्रों की छात्रवृत्ति व शुल्क प्रतिपूर्ति रोके जाने की वजह से छात्रों का आगे पढ़ाई जारी रख पाना दुर्लभ हो गया है। उत्तर प्रदेश में दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक व गरीब सामान्य वर्ग के छात्र कमजोर आर्थिक स्थिति की वजह से पढ़ाई छोडऩे को मजबूर हैं। उन्होंने महामहिम राज्यपाल को अवगत कराया कि ऐसी विपरीत परिस्थितियों में समाजवादी छात्र सभा जीरो फीस व छात्रवृत्ति की सुविधा को जारी रखने हेतु शासन को निर्देश करने की मांग करती है जिससे दलित, पिछड़े, अल्पसंख्यक एवं गरीब सामान्य वर्ग के छात्र अपनी पढ़ाई जारी रख सकें। उन्होंने बताया कि समाजवादी छात्र सभा दलित वर्ग के छात्रों के लिए जीरो फीस की सुविधा एवं हर वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए छात्रवृत्ति की बहाली को प्रतिबद्ध हैं। समाजवादी छात्रसभा जिलाध्यक्ष सेतू यादव ने मांगे पूरी ना होने की स्थिति में पूरे प्रदेश में आंदोलन करने की चेतावनी दी। ज्ञापन देते समय छात्रसभा जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र सिंह यादव सेतू, महासचिव मो.निजाम शाह, आशीष कुमार, अश्वनी, ताहिर अली, फरदीन खान, सोहेल खान, साहिल, मोहित, अजय, अमन, गोलू यादव, मोहित, अहमद अली, केपी, मौसम साहू के अलावा अनेकों छात्र मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि