ट्रांसफार्मरों के खराब होने पर डीएम ने जतायी नाराजगी


वैक्सीन के सेकेंड डोज के लिए प्लानिंग करने के दिये निर्देश
ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। कोविड टीकाकरण की समीक्षा में बताया गया कि आज 1589 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है जिसमें 18 से 44 वर्ष के 1053 एवं 60 वर्ष से ऊपर के 536 व्यक्ति शामिल है, यह भी बताया गया कि शासन से 27000 डोज प्राप्त होने वाली हैं, *इस पर निर्देश दिए गए कि पहली डोज के साथ-साथ सेकंड डोज के लिए भी प्लानिंग करें। विद्युत आपूर्ति की समीक्षा में बताया गया कि 8 ट्रांसफार्मर खराब है जिन्हें 48 घंटे में सही कराया जाएगा। इस पर जिलाधिकारी ने घोर नाराजगी व्यक्त करते हुए भ्रमण कर लाइन मेंन के संपर्क में रहकर भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए। पेयजल आपूर्ति की समीक्षा में बताया गया कि शहर में नई बस्ती एवं महरौनी क्षेत्र में मरम्मत का कार्य किया गया है इस पर निर्देश दिये गए कि शिकायत प्राप्त होते ही तुरन्त कार्यवाही करें। वर्तमान में फैल रहे बुखार के मामलों की समीक्षा में मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि विगत 14 दिन में 112 केस पाए गए हैं, इस हेतु 574 टीमें गठित की गई हैं जो बुखार के मामलों की निगरानी करेंगी। इस पर जिलाधिकारी महोदय ने निर्देश दिए कि इन केसों में अननोन बुखार वाले मामलों की सूची उपलब्ध कराएं, साथ ही इस संबंध में शासन द्वारा जो फॉर्मेट दिया गया है उस पर स्पष्ट सूचनाएं उपलब्ध कराएं। ऑक्सीजन प्लांट की समीक्षा में बताया गया कि तालबेहट में प्लांट की स्थापना हेतु पैनल लग गया है यहां पर चेंज ओवर की समस्या है। बैठक में स्पष्ट सूचनाओ पर जिलाधिकारी ने घोर नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी चिकित्सा अधिकारियों को स्पष्ट सूचनाओं के साथ बैठक में उपस्थित होने के निर्देश दिए। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में सैनिटाइजिंग की प्लानिंग हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडेय, अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे लवकुश त्रिपाठी, अपर जिलाधिकारी न्यायिक रजनीश राय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ जी0पी शुक्ला, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (पुरुष) डॉ राजेन्द्र प्रसाद, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (महिला) डॉ हरेंद्र सिंह चौहान, क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी डॉक्टर जे0एस0 बक्शी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ हुसैन खान, डॉक्टर दोहरे सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि