उत्तर प्रदेश में निवेशकों को निवेश के लिए पर्याप्त संभावनाओं के साथ प्रदेश में कारखानों को चलाने के लिए पर्याप्त दक्ष कार्य बल मौजूद है - नवनीत सहगल




लखनऊः दिनांक: 07 सितम्बर, 2021

प्रदेश की होमलैंड सिक्योरिटी (एचएलएस) और डिफेंस अपॉर्च्युनिटी में आवश्यकताओ को लेकर उत्तर प्रदेश में निवेश और व्यापार को बढ़ाने के संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार और यूनाइटेड किंग्डम इंडियन बिजनेस काउंसिल (यूकेआईबीसी) के बीच अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में आज लोक भवन में बैठक आयोजित की गई, जिसमें उत्तर प्रदेश और युनाइटेड किंगडम के बीच निवेश एवं व्यापार को बढ़ाने के लिए चर्चा की गयी। इस दौरान प्रदेश सरकार की नीति एवं निवेशकों को प्रोत्साहित करने के संबंध में अपर मुख्य सचिव लघु उद्योग एवं निवेश प्रोत्साहन श्री नवनीत सहगल ने प्रस्तुतीकरण दिया।
अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रदेश की होमलैंड सिक्योरिटी पर प्रस्तुतीकरण देते हुए कहा कि प्रदेश की स्टेट सिक्योरिटी प्लान के तहत अनेकों प्रोजेक्ट बनाए जा रहे हैं, जिसमें प्रदेश की सिक्योरिटी फोर्स और पुलिस बल को और अधिक आधुनिक और उन्नतशील बनाया जा सकेगा इससे प्रदेश की विशाल आबादी को पूर्ण सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में सबसे कम क्राइम दर वाला राज्य है। महिलाओं, बेटियों और लोगों को अब अपराधियों का डर नहीं रहा। प्रदेश की पुलिस किसी भी कॉल पर 10 से 12 मिनट में घटनास्थल पर पहुंचती है।
उन्होंने कहा कि उन्नत तकनीक का प्रयोग कर प्रदेश का क्राइम और क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क सिस्टम को मजबूत करना है, जिसमें सर्विलेंस कैमरा, ड्रोन और एंटी ड्रोन सिस्टम, प्रिडिक्टिव पोलिसिंग, फॉरेंसिक साइंस /किट, डीएनए टेस्टिंग, बॉडी वार्निंग कैमरा, सीसीटीवी युक्त मानीट्रिंग सिस्टम, साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में कार्य किया जाना है। इस क्षेत्र में विदेशी निवेश बढ़ाने के लिए भी कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि यूनाइटेड किंग्डम की 15 से 20 कंपनियां इस महीने के अंत में होमलैंड सिक्योरिटी क्षेत्र में निवेश करने आ रही हैं। इससे प्रदेश की सुरक्षा संबंधी जरूरतों को पूरा किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की मंशानुरूप प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत करने के लिए यहां की पुलिस फोर्स को आधुनिक बनाना है। इसके लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे लखनऊ को सुरक्षित जोन बनाने के लिए भी कार्य किया जा रहा है, जिसके लिए जरूरी सॉफ्टवेयर एवं हार्डवेयर को भी विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की मदद से लखनऊ शहर को सेफ सिटी प्रोजेक्ट के तहत विकसित किया जा रहा है।
  अपर मुख्य सचिव, लघु उद्योग एवं निर्यात प्रोत्साहन श्री नवनीत सहगल ने प्रदेश सरकार की निवेश प्रोत्साहन और निवेशकों को मिलने वाली सुविधाओं पर प्रस्तुतीकरण देते हुए कहा कि निवेश और व्यापार को बढ़ाकर उत्तर प्रदेश देश की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के साथ देश का चौथा सबसे बड़ा निर्यातक राज्य बन गया है। इसके लिए प्रदेश के इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाया जा रहा है तथा निवेशकों को जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जा रही।उन्होंने कहा कि प्रदेश में 05 इंटरनेशनल एयरपोर्ट बन रहे हैं। रेल और सड़क नेटवर्क को बेहतर किया जा रहा है। पांच एक्सप्रेस वे का निर्माण किया जा रहा है। प्रदेश में डिफेंस कॉरिडोर बन रहा है। रक्षा विनिर्माण क्षेत्र की जानी मानी कंपनियां प्रदेश में निवेश को इच्छुक हैं। उत्तर प्रदेश में निवेशकों को निवेश के लिए पर्याप्त संभावनाएं हैं तथा प्रदेश में कारखाने को चलाने के लिए पर्याप्त दक्ष कार्य बल मौजूद है।
  पुलिस महानिदेशक, श्री मुकेश गोयल ने कहा की होमलैंड सिक्योरिटी को मजबूत बनाने के लिए प्रदेश की पुलिस फोर्स को आधुनिक तकनीक से लैस करना होगा, जिसके लिए बॉडी वार्न कैमरा, ड्रोन, फुल बॉडी प्रोटेक्टर, सोशल मीडिया एनालिसिस सॉफ्टवेयर, फॉरेंसिक डाटा सेंटर, सीसीटीवी बेस्ड मॉनिटरिंग सिस्टम, आधुनिक पुलिसिंग प्रशिक्षण आदि की आवश्यकता होगी। बैठक में डिप्टी हेड, यूके डिफेंस व सिक्योरिटी एक्सपोर्ट मिस्टर डोमिनिक गिलेन, सीनियर ट्रेड एडवाइजर, सिक्योरिटी व साइबर सिक्योरिटी (यूके डीएसई) मिस्टर विभोर सिंह, डायरेक्टर एयरोस्पेस व डिफेंस (यूकेआईबीसी) श्री बंटी सेठी ने कहा कि  मैनुफैक्चरिंग सुविधाएं मिलने पर यूनाइटेड किंगडम की कंपनियां भी सिक्योरिटी सेक्टर व डिफेंस के क्षेत्र में निवेश करने को इच्छुक हैं। इससे प्रदेश को सिक्योरिटी के क्षेत्र में उन्नत तकनीक मिलेगी। बैठक में सचिव होम के साथ गृह विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि