वाहन चालकों से यातायात नियमों का पालन करने का आह्वान



सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत हुआ नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन
ललितपुर। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा त्रैमासिक द्वितीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 24 से 30 सितम्बर 2021 तक मनाये जाने के निर्देशों के क्रम में निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पंचम दिवस में स्थानीय बस स्टैंड पर स्वास्थ/नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में यात्री कर अधिकारी सुरेंद्र कुमार अग्रवाल द्वारा चालक/परिचालकों को सड़क सुरक्षा संबंधी नियमों के बारे में बड़े ही विस्तार से बताया। साथ ही नियमों का पालन करने के लिये जोर दिया गया और कहा कि दुर्घटना के तीन आधार नशा, नींद और तेज रफ्तार ड्राईवर ने यदि नशा कर डाला तो समझो फोटो पर लगी माला, इसलिये चालक/परिचालक नशा करके वाहन न चलाये और न ही किसी वाहन को ओवरटेक करे सड़क सुरक्षा के बताये गये नियमों का हमेशा वाहन चलाते समय पालन करे। इसके बाद यातायात विभाग के एटीएसआई नरेन्द्र सिंह ने भी सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में चालक/ परिचालकों को जागरूक किया और कहा कि दुपहिया वाहन चालक वाहन चलाते समय हेलमेट जरुर पहने, तेज रफ्तार में वाहन बिल्कुल न चालाये और 18 साल से कम उम्र के बच्चों को बच्चों के माता-पिता वाहन चलाने बिल्कुल न दे, जब तक बच्चा पूरा 18 साल का न हो जाये और उसका ड्राइविंग लाइसेंस न बन जाये और चारपहिया वाहन चालक वाहन चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करें। डगर डगर और गली गली, दुर्घटना से देर भली सोच समझ कर चलना है, दुर्घटना से बचना है, सावधानी हटी, दुर्घटना घटी। इसलिये हमेशा वाहन चलाते समय सड़क सुरक्षा नियमों का पालन जरुर करे जिससे आप का जीवन सुरक्षित रहे। इसके बाद नेत्र विशेषज्ञ डा.रईश कुरैशी द्वारा 28 चालकों /परिचालकों का नेत्र परीक्षण किया गया जिनमें से कुछ चालक परिचालक अस्वस्थ पाये गये जिसके लिए चिकित्सक ने उक्त चालक/ परिचालकों को चश्मा लगाये जाने की सलाह दी फिर चालकों/ परिचालकों को सड़क सुरक्षा नियमों के बारे में पम्पलेट बाटे गये। कार्यक्रम का सफल संचालन अवधेश कौशिक ने किया। इस कार्यक्रम में यात्रीकर अधिकारी सुरेंद्र सिंह अग्रवाल, एटीएसआई नरेन्द्र सिंह, अवधेश कौशिक, महेन्द्र जैन, अशोक कुमार साहू, रंगमंच कलाकार देवेन्द्र राय, विश्व मानवाधिकार कानून एवं अपराध नियंत्रण ट्रस्ट भारत के चन्दन सिंह अहिरवार, संकेत कुशवाहा, राहुल श्रीवास व चालक परिचालक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा