इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 16 अक्टूबर से 15 दिवसीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का आयोजन


 
इस अवसर खादी वस्त्रों पर आधारित फैशन-शो भी होगा
 
फैशन-शो में आसमा हुसैन, रूना बनर्जी, रीना ढाका, रीतू बेरी, हिम्मत सिंह तथा
फरहा अंसारी द्वारा तैयार किये गये खादी वस्त्रों का होगा प्रदर्शन
 
कार्यक्रम में सोलर चर्खा, दोना पत्तल मशीन, पॉपकार्न मेकिंगमशीन, विद्युत चालित कुम्हारी चॉक एवं ऋण स्वीकृत पत्र भी वितरित किये जायेंगे
 
-डा0 नवनीत सहगल


लखनऊ: 14 अक्टूबर, 2021
 
‘‘आजादी का अमृत महोत्सव’’ के अवसर पर उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा आगामी 16 से 30 अक्टूबर तक इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में 15 दिवसीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का आयोजन किया जायेगा। इस अवसर पर देश के सुप्रसिद्ध फैशन डिजाइनर्स आसमा हुसैन, रूना बनर्जी, रीना ढाका, रीतू बैरी, हिम्मत सिंह तथा फरहा अंसारी द्वारा डिजाइन किये गये खादी वस्त्रों पर आधारित वृहद फैशन-शो का भी आयोजन होगा। इसके साथ ही सरकार द्वारा संचालित विभिन्न रोजगारपरक योजना के तहत कारीगरों में टूलकिटएवं लाभार्थियों को ऋण आवेदन पत्रों का वितरण भी किया जायेगा।
      यह जानकारी अपर मुख्य सचिव खादी एवं ग्रामोद्योग डा0 नवनीत सहगल ने दी। उन्होंने बताया कि खादी को आमजन मंे और अधिक लोकप्रिय बनाने के उद्देश्य से पहले भी खादी फैशन-शो का आयोजन किया जाता रहा है, जिसकी हर तरफ काफी प्रसंशा भी हुई है। उन्होंने बताया कि इस बार के फैशन-शो का आयोजन उ0प्र0 खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड एवं फर्स्ट इण्डिया द्वारा संयुक्त रूप से किया जायेगा। फैशन-शो में फैशन डिजाइनर्स आसमा हुसैन, रूना बनर्जी, रीना ढाका, रीतू बैरी के साथ-साथ जयपुर के फैशन डिजाइनर हिम्मत सिंह एवं फरहा अंसारी के डिजाइन किये हुए खादी के परिधान आकर्षण का केन्द्र होंगे। उन्होंने बताया कि इसके माध्यम से प्रदेश के युवावर्ग को खादी से जोड़ने की मुहिम को तीव्र गति मिलेगी।
      अपर मुख्य सचिव ने बताया कि इस अवसर पर स्वरोजगार की स्थापना हेतु लाभार्थियों में दोना पत्तल मशीन, माटीकला के उद्योग में लगे कारीगरों एवं हस्तशिल्पियों में विद्युत चालित चाक का वितरण होगा। साथ ही पॉपकार्न मेकिंग मशीन, मौन पालन बॉक्स एवं ऋण स्वीकृत पत्रों का भी वितरण किया जायेगा। इसके अतिरिक्त प्रदेश में खादी का उत्पादन बढ़ाने के लिए खादी संस्थाओं को सोलर चरखे भी प्रदान किये जायेंगे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा