छत्तीसगढ़ व पंजाब की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री ने लखीमपुर के शहीद किसानों व पत्रकार के परिवार से किया वादा निभाया-प्रियंका गांधी



ऽ शहीद किसानों व पत्रकार को, कांग्रेस सरकार के मंत्रियों ने सौंपी 50-50 लाख रुपये की सहयोग राशि
ऽ न्याय मिलने व हर जरूरत पर कांग्रेस पीड़ित परिवारों के साथ, भाजपा ने किसानों के साथ अन्याय किया, कृषि कानून किसान विरोधी-रणदीप सिंह नाभा- कैबिनेट मंत्री पंजाब सरकार
ऽ लखीमपुर के पीड़ित परिवारों के प्रति कांग्रेस संवेदनशील, किसानों का दुख हमारा दुख-रणदीप सिंह नाभा
ऽ कांग्रेस किसानों के साथ, उनके दुख बांटने आये है-शिव कुमार डहरिया-मंत्री छत्तीसगढ़ सरकार
ऽ किसानों को बर्बाद करने पर तुली है भाजपा सरकार, कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है-शिव कुमार डहरिया

लखनऊ 22 अक्टूबर 2021

छत्तीसगढ़ व पंजाब की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्रियों ने अपने मंत्री भेजकर लखीमपुर के शहीद किसानों व पत्रकार के पीड़ित परिवार से किया गया अपना वादा निभाते हुए आज लखनऊ में 50-50 लाख रुपये की सहायता राशि पांचों परिवार के हाथों सौंपी।

पंजाब सरकार के कृषि मंत्री श्री रणदीप सिंह नाभा व छत्तीसगढ़ सरकार के नगरीय प्रशासन मंत्री श्री शिवकुमार डहरिया ने शहीद पत्रकार रमन कश्यप की पत्नी श्रीमती आराधना कश्यप, माता श्रीमती संतोष कुमारी व पिता श्री रामदुलारे, शहीद किसान सरदार नक्षत्र सिंह की पत्नी श्रीमती जसवंत कौर, लवप्रीत सिंह के पिता सरदार सतनाम सिंह, दलजीत सिंह की पत्नी श्रीमती परमजीत कौर व गुरविंदर सिंह के पिता सरदार सुखविंदर सिंह को 50-50 लाख रूपए का चेक सौंपा। अश्रुपूरित नेत्रों के साथ आश्रितों ने सहयोग राशि प्राप्त करने के बाद कहा कि हम कांग्रेस व श्रीमती प्रियंका गांधी, श्री राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल व पंजाब के मुख्यमंत्री श्री चरनजीत सिंह चन्नी के आभारी है, उंन्हांनें हमारा दुख साझा किया। हमें न्याय चाहियें, न्याय की आशा के साथ हम आयें हैं। कांग्रेस की प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने पंजाब व छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किये गए वादे को निभाने पर ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस पार्टी किसानों के लिये न्याय की लड़ाई पुरजोर तरीके से लड़ेगी। यही हमारी प्रतिज्ञा भी है और प्रतिबद्धता भी।

पंजाब सरकार के कृषि मंत्री सरदार रणदीप सिंह नाभा ने कहा कि शहीद किसानों के परिवारों को न्याय मिले, इसके लिये यथासम्भव प्रयास करेंगें। मानव जीवन को वापस नहीं लाया जा सकता, लेकिन उनके आश्रितों के प्रति हमारे दायित्व थे, हमनें आपसे वादा किया था, उसे निभाने आयें हैं। उंन्होनें कहा कि हर जरूरत पर कांग्रेस पीड़ित परिवारों के साथ खड़ी है, भाजपा ने किसानों के साथ अन्याय किया, तीनां कृषि कानून किसान विरोधी है, कृषि कानूनों का लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करने की कीमत भाजपा सरकार की क्रूरता के कारण उन्हें अदा करनी पड़ी। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र ने अमानवीय क्रूर घटना की, हम शहीद किसानों व पत्रकार के परिवार को न्याय दिलाने के लिए साथ खडे़ है।

श्री नाभा ने कहा कि लखीमपुर के पीड़ित परिवारों के प्रति कांग्रेस संवेदनशील है।  किसानों का दुख हमारा दुख है। आपके दर्द व पीड़ा को समझतें हैं, इसलिये आपके संघर्ष में कांग्रेस नेतृत्व आपके साथ है। पंजाब सरकार आपके साथ है।  

छतीसगढ़ सरकार के नगरीय प्रशासन मंत्री श्री शिव कुमार डहरिया ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के वादे के अनुसार लखीमपुर के पत्रकार व किसानों के आश्रितों को 50-50 लाख रुपये की सहायता राशि देने आयें हैं। कांग्रेस किसानों के शोक संतप्त परिवारों के साथ खड़ी है। हम आपका दुख बांटने आये है।

उन्होंनें कहा कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र व राज्य सरकार किसानों को अपने कारपोरेट मित्रों की हित में बर्बाद करने पर तुली है। कांग्रेस अपना वादा पूरा करना, वचन निभाना जानती है, हम अपना वचन निभाने व आपके दर्द को साझा करने आये है। उंन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार आपके साथ खड़ी है, देश के किसानों के साथ खड़ी है, राज्य की योगी सरकार एक तानाशाह के रूप में हत्यारों व उनकों प्रेरित करने वालों को बचाने में लगी है।

सहायता राशि सौंपे जाने के समय पूर्व मंत्री व कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व विधायक श्री सतीश अजमानी, महासचिव श्री शिव पाण्डेय, श्री अशोक सिंह, जीशान हैदर, श्री संजय सिंह, जावेद अहमद, आसिफ रिजवी, प्रदीप सिंह, अब्बास हैदर, अभिषेक पटेल, ज्ञानेश शुक्ला, जिलाध्यक्ष बहराइच जेपी मिश्रा, जिलाध्यक्ष लखमीपुर प्रहलाद पटेल, अलिफ पठान आदि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर