ट्रेस, टेस्ट, ट्रीट और टीकाकरण की नीति के प्रभावी क्रियान्वयन से राज्य में कोविड संक्रमण नियंत्रित स्थिति में: मुख्यमंत्री



कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की
व्यवस्थाओं को निरन्तर सुदृढ़ रखने के निर्देश

कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित कराया जाए

41 जनपदों में कोविड का एक भी मरीज नहीं

पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 1,38,271 कोरोना टेस्ट किए गए,
अब तक 08 करोड़ 39 लाख 22 हजार 453 कोविड टेस्ट सम्पन्न

प्रदेश में टीकाकरण कार्य तेजी से किया जा रहा

अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आ रहे लोगों की कोविड जांच अवश्य की जाए

जनपद कानपुर नगर में जीका वायरस से संक्रमित
11 मरीजों की पुष्टि होने के दृष्टिगत विशेष सतर्कता बरती जाए

सभी जनपदों में स्वच्छता सैनिटाइजेशन तथा
फॉगिंग का कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किया जाए

वर्तमान राज्य सरकार हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर
बनाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही

वर्षों बाद उ0प्र0 में 05 हजार नवीन स्वास्थ्य उपकेन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं,
इससे ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को सुगमतापूर्वक चिकित्सा सुविधाएं प्राप्त होंगी

प्रधानमंत्री जी द्वारा गंगा एक्सप्रेस-वे और नोएडा इन्टरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया 
जाना शीघ्र प्रस्तावित, इस सम्बन्ध में सभी तैयारियां समय से पूर्ण करने के निर्देश

‘नैमिषारण्य तीर्थ विकास परिषद’ के गठन के लिए आवश्यक कार्यवाही की जाए

प्रदेश में निवेश कर रही औद्योगिक इकाइयों को प्रोत्साहन देने के
उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा इन्सेंटिव प्रदान किया जा रहा

आगामी पर्वों के दौरान शहरों में ट्रैफिक जाम की स्थिति न हो,
इसके लिए पुलिस द्वारा नियमित तौर पर फुट पेट्रोलिंग की जाए

जहां पटाखों का क्रय-विक्रय हो, वहां पर फायर सेफ्टी का पूरा ध्यान रखा जाए


 लखनऊ: 02 नवम्बर, 2021

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि ट्रेस, टेस्ट, ट्रीट और टीकाकरण की नीति के प्रभावी क्रियान्वयन से राज्य में कोविड संक्रमण नियंत्रित स्थिति में है। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को निरन्तर सुदृढ़ रखने के निर्देश देते हुए कहा कि कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित कराया जाए।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 07 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 10 व्यक्तियों को सफल उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 102 है।
जनपद आगरा, अलीगढ़, अमेठी, अमरोहा, औरैया, अयोध्या, बदायूं, बागपत, बलिया, बहराइच, भदोही, बिजनौर, बुलन्दशहर, चन्दौली, चित्रकूट, देवरिया, एटा, इटावा, गाजीपुर, गोण्डा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, जौनपुर, कानपुर देहात, कासगंज, कुशीनगर, महराजगंज, महोबा, मैनपुरी, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, संतकबीर नगर, शामली, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, सोनभद्र, सुलतानपुर और उन्नाव में कोविड का एक भी मरीज नहीं है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.7 प्रतिशत है। पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 1,38,271 कोरोना टेस्ट किए गए। अब तक राज्य में 08 करोड़ 39 लाख 22 हजार 453 कोविड टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार लक्षित आयु वर्ग के सभी नागरिकों को कोरोना टीकाकरण का सुरक्षा कवच निःशुल्क उपलब्ध करा रही है। प्रदेश में टीकाकरण कार्य तेजी से किया जा रहा है। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि राज्य में गत दिवस तक 13 करोड़ 17 लाख 28 हजार से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई गईं। 09 करोड़ 85 लाख 49 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त हो चुकी है। 03 करोड़ 31 लाख 78 हजार से अधिक लोगों ने टीके की दोनों डोज प्राप्त कर ली हैं। इस प्रकार लक्षित आयु वर्ग के 66.85 प्रतिशत लोगों ने एक डोज तथा 22.51 प्रतिशत लोगों ने टीके की दोनों डोज लगवा ली हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विश्व के अनेक देशों में कोविड के केस बढ़ रहे हैं। देश के कई राज्यों में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में बढ़ोत्तरी हो रही है। ऐसे में अतिरिक्त सतर्कता और सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों से उत्तर प्रदेश आ रहे लोगों की कोविड जांच अवश्य की जाए। उन्होंने बस, रेलवे स्टेशन तथा एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट कराए जाने पर विशेष बल दिया। उन्होंने कहा कि निगरानी समितियां गांव-गांव जाकर लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करें।
बैठक में मुख्मयंत्री जी को अवगत कराया गया कि जनपद कानपुर नगर में जीका वायरस से संक्रमित 11 मरीजों की पुष्टि हुई है। मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित किया कि इसके दृष्टिगत विशेष सतर्कता बरती जाए। डेंगू, मलेरिया, डायरिया आदि बीमारियों से प्रभावित जनपदों में रोगियों के उपचार के लिये सभी प्रबन्ध सुनिश्चित किये जाएं। उन्होंने सभी जनपदों में स्वच्छता सैनिटाइजेशन तथा फॉगिंग का कार्य पूरी सक्रियता से संचालित किये जाने के निर्देश भी दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाने के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि वर्षों बाद उत्तर प्रदेश में 05 हजार नवीन स्वास्थ्य उपकेन्द्र स्थापित किये जा रहे हैं। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को सुगमतापूर्वक चिकित्सा सुविधाएं प्राप्त होंगी। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग इन सभी केन्द्रों पर चिकित्सीय उपकरण, प्रशिक्षित चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ की व्यवस्था सुनिश्चित करे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी द्वारा गंगा एक्सप्रेस-वे और विश्वस्तरीय नोएडा इन्टरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया जाना शीघ्र प्रस्तावित है। इन दोनों परियोजनाओं से प्रदेश के विकास को एक नयी गति मिलेगी। उन्होंने इस सम्बन्ध में सभी तैयारियां समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार ने विगत साढ़े चार वर्षों के दौरान प्रदेश के धार्मिक, आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहरों के जीर्णोद्धार और समग्र विकास के लिए सक्रिय प्रयास किये हैं। उन्होंने कहा कि जनपद सीतापुर स्थित नैमिषारण्य धाम ऐसा ही एक पवित्र धाम है। श्रद्धालुओं की सुविधा और धार्मिक पर्यटन की सम्भावनाओं को विस्तार देने के लिए ‘नैमिषारण्य तीर्थ विकास परिषद’ का गठन किया जाना आवश्यक है। इसके दृष्टिगत आवश्यक कार्यवाही की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में निवेश कर रही औद्योगिक इकाइयों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा इन्सेंटिव प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे सभी प्रकरणों की गहन समीक्षा कर शीघ्र समाधान किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आगामी पर्वों के दौरान शहरों में ट्रैफिक जाम की स्थिति न हो, इसके लिए पुलिस द्वारा नियमित तौर पर फुट पेट्रोलिंग की जाए। उन्होंने पुलिस गश्त को सतत जारी रखने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि जहां पटाखों का क्रय-विक्रय हो वहां, पर फायर सेफ्टी का पूरा ध्यान रखा जाए।
-------------

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?