मुख्यमंत्री ने उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद की चतुर्थ बैठक की अध्यक्षता की मुख्यमंत्री ने ब्रज तीर्थ क्षेत्र के विकास कार्यों की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की


 
मुख्यमंत्री के समक्ष उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद की तृतीय बैठक
में लिए गए निर्णयों की पुष्टि एवं अनुपालन आख्या को प्रस्तुत किया गया

मुख्यमंत्री जी के समक्ष परिषद द्वारा वर्ष 2022-23 के दौरान
तैयार की जाने वाली परियोजनाओं की जानकारी प्रस्तुत की गयी

मथुरा एवं गोकुल परिक्रमा मार्ग विकसित करने के साथ ही
जनपद मथुरा में तीन वन परिक्रमा मार्ग विकसित किए जाएंगे

चौरासी कोसीय परिक्रमा मार्ग में पड़ाव स्थलों का विकास किया जाएगा

गोवर्धन, राधाकुण्ड, बल्देव, बरसाना तथा नंदगांव में
पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) निर्मित किए जाएंगे

वृन्दावन व गोवर्धन परिक्रमा मार्गों को सुगम बनाने हेतु लेपन कार्य कराया जाएगा

तीर्थ स्थलों को स्वच्छ, सुन्दर एवं आकर्षक ढंग से विकसित करने
के लिए सभी विभाग अन्तर्विभागीय समन्वय के साथ कार्य करें: मुख्यमंत्री

तीर्थ स्थलों पर संचालित कार्यों को समय-सीमा के
अन्तर्गत पूर्ण करने के लिए पूरी तत्परता के साथ कार्य किया जाए
 
लखनऊ: 28 दिसम्बर, 2021

     उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज अपने सरकारी आवास पर उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद की चतुर्थ बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में उन्होंने ब्रज तीर्थ क्षेत्र के विकास कार्यों की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की।
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जी के समक्ष उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद की तृतीय बैठक में लिए गए निर्णयों की पुष्टि एवं अनुपालन आख्या को प्रस्तुत किया गया। साथ ही, उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद की चतुर्थ बैठक में वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत प्रस्तावित एजेण्डे के विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की गयी। इसमें वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत परिषद के अनुमोदन की प्रत्याशा में शासन को स्वीकृति हेतु प्रेषित 16 परियोजनाओं पर चर्चा की गयी। जनपद मथुरा स्थित वृन्दावन में जयपुर मंदिर के सामने परिषद द्वारा निर्मित अन्नपूर्णा भवन के संचालन के सम्बन्ध में चर्चा की गयी।
मुख्यमंत्री जी के समक्ष जनपद मथुरा स्थित उ0प्र0 ब्रज तीर्थ विकास परिषद के कार्यालय के वित्तीय वर्ष 2021-22 में शासन द्वारा स्वीकृत बजट के सापेक्ष 25 दिसम्बर, 2021 तक वास्तविक प्राप्तियों/व्यय का मदवार विवरण अवलोकनार्थ प्रस्तुत किया गया। मुख्यमंत्री जी के समक्ष परिषद द्वारा वर्ष 2022-23 के दौरान तैयार की जाने वाली परियोजनाओं की जानकारी प्रस्तुत की गयी। इनमें मथुरा परिक्रमा मार्ग का विकास कार्य, जनपद मथुरा में तीन वन परिक्रमा मार्ग का विकास कार्य, गोवर्धन में पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) का निर्माण कार्य, राधाकुण्ड में पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) का निर्माण कार्य तथा बल्देव में पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) का निर्माण कार्य शामिल हैं।
इसके अलावा, बरसाना में पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) का निर्माण कार्य, नंदगांव में पर्यटक जन सुविधा केन्द्र (टी0एफ0सी0) का निर्माण कार्य, चौरासी कोसीय परिक्रमा मार्ग में पड़ाव स्थलों का विकास कार्य, कुण्डों का रख-रखाव का कार्य, वृन्दावन परिक्रमा मार्ग को सुगम बनाने हेतु लेपन कार्य, गोवर्धन परिक्रमा मार्ग को सुगम बनाने हेतु लेपन कार्य, यमुना जी के विश्राम घाट से स्वामी घाट कंस किला तक यमुना रिवर फ्रण्ट का विकास कार्य, स्वामी घाट से दुर्वासा ऋषि मंदिर तक सस्पेंशन ब्रिज का निर्माण कार्य, विश्राम घाट पर हर की पैड़ी की तरह कृष्णा पैड़ी का विकास तथा श्री द्वारिकाधीश मंदिर के पीछे बजरिया वाली सड़क एवं पाठक गली की सीढ़ियों का पुनरोद्धार कार्य शामिल हैं।
साथ ही, मथुरा में रेलवे स्टेशन गेट नं0 2 पर टी0एफ0सी0 का निर्माण, गोकुल परिक्रमा का विकास कार्य, नगर पंचायत कार्यालय बल्देव रोड के पास कैमारावन तालाब की बाउण्ड्रीवॉल व सीढ़ियों, लाइट एवं बेंच की स्थापना का कार्य, गणेश बाग में बाउण्ड्रीवॉल, मिट्टी भराव व इण्टरलॉकिंग, लाइट, बैठने हेतु बरामदा एवं यात्री बेंच की स्थापना का कार्य, ब्रज चौरासी कोसीय परिक्रमा के लिए 03 गेट का निर्माण कार्य, सौंख में स्टेट आर्किओलॉजी के टीले की बाउण्ड्रीवॉल व विकास कार्य, नौहझील जल संचय क्षेत्र का विकास कार्य तथा वृन्दावन धोबी घाट के पास वॉटर बॉडी का विकास कार्य भी शामिल हैं।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि तीर्थ स्थलों को स्वच्छ, सुन्दर एवं आकर्षक ढंग से विकसित करने के लिए सभी विभाग अन्तर्विभागीय समन्वय के साथ कार्य करें। तीर्थ स्थलों पर संचालित कार्यों को समय-सीमा के अन्तर्गत पूर्ण करने के लिए पूरी तत्परता के साथ कार्य किया जाए। संचालित कार्यों को समयबद्ध ढंग से मानक के अनुरूप गुणवत्तापूर्ण ढंग से पूर्ण कराया जाए।
इस अवसर पर दुग्ध विकास मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव वन श्री मनोज सिंह, अपर मुख्य सचिव शहरी विकास डॉ0 रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री नितिन रमेश गोकर्ण, प्रमुख सचिव परिवहन श्री आर0के0 सिंह, प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति श्री मुकेश कुमार मेश्राम, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !