हार के डर से घबराई और बौखलाई भाजपा सरकार यूपी चुनाव लडने के लिए केंद्रीय एजेंसियों को साथ लेकर आई है-अखिलेश यादव


 लखनऊ

            दिनांकः31.12.2021  
    समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में हार के डर से घबराई और बौखलाई भाजपा सरकार यूपी चुनाव लडने के लिए केंद्रीय एजेंसियों को साथ लेकर आई है। उन्होंने  कहा कि भाजपा के लोग नफरत की दुर्गंध फैलाने वाले हैं, यह सौहार्द की सुगंध को नहीं पसंद करते हैं। यह कन्नौज और इत्र को बदनाम कर रहे हैं। भाजपा लखनऊ से लेकर दिल्ली तक कन्नौज और इत्र को बदनाम कर रही है। जनता सब समझ रही है, विधानसभा चुनाव में जनता भाजपा का सफाया करेगी।
    श्री यादव आज कन्नौज में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा की रैलियों में जनता नहीं जा रही है। इनकी रैली के आयोजक लेखपाल और सरकारी अधिकारी हैं। कर्मचारी बेमन से ले जाये जाते है। भाजपा सरकार जाने वाली है और समाजवादी पार्टी की नई सरकार आने वाली है। इसी से घबराकर भाजपा छापेमारी कर रही है। भाजपा के लोगों को इत्र नहीं पसंद है, उन्हें दुर्गंध पसंद है। ये कागज के झूठे बिना सुगंध वाले फूल हैं।
    श्री अखिलेश यादव ने कहा विधानसभा चुनाव में जहां जहां भाजपा हारने लगती है वहां केंद्रीय एजेंसियों से छापे करवाती है। यही हाल बंगाल में किया। बंगाल की जनता ने उन्हें सबक सिखाया। तमिलनाडु में छापा मरवाया तो तमिलनाडु की जनता ने भी उन्हें सबक सिखाया। अब उत्तर प्रदेश की जनता भी उन्हें सबक सिखाएगी।
    श्री यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में राजनीतिक दलों से गठबंधन किया है। भाजपा ने ईडी, सीबीआई और आईटी  के साथ गठबंधन किया है। भाजपा के दिल्ली के नेता जब लखनऊ आते हैं तो अपने साथ केंद्रीय एजेंसियों को भी लेकर आते हैं। भाजपा इनको साथ लेकर चुनाव लड़ती है।
    श्री अखिलेश यादव ने कहा कि कानपुर में पहले जिस इत्र व्यापारी के यहां छापा मारा गया उसकी सीडीआर निकाली जाए तो पता चल जाएगा कि उसके संबंध किससे हैं। भाजपा के कार्यकर्ता से लेकर प्रधानमंत्री तक किस आधार पर उसका संबंध सपा से बता रहे थे। सच्चाई यह है कि वह भाजपा का आदमी है। सरकार बताए कि कानपुर में व्यापारी के पास इतना नोट कैसे आया? किन बैंकों से नोट निकाला गया? श्री यादव ने कहा कि भाजपा की नोटबंदी पूरी तरह से फेल हुई। ऐसी जीएसटी लाई गई कि लोग पैसा इकट्ठा करने लगे हैं। इन्हीं सबसे खिसिया कर सरकार के इशारे पर एजेंसियों ने आज समाजवादी पार्टी के एमएलसी के यहां छापा मारा है।  
    श्री यादव ने कहा कि भाजपा को चिढ़ है कि सपा के नाम पर इत्र कैसे बन गया। मैं कन्नौज के लोगों से अपील करता हूं कि सच्चे फूलों का व्यापार करने वाले लोग झूठे फूलों को हटाए। कन्नौज सुगंध की राजधानी है। भाजपाई दुर्गंध को पसंद करते हैं। यहां का किसान और व्यापारी इत्र से जुड़ा हुआ है। समाजवादियों का इतिहास कन्नौज से जुड़ा हुआ है। श्री यादव ने कहा कि यह गंगा-जमुनी संस्कृति से जुड़ा है। कन्नौज की जनता जयचंदो को पहचानती है। इस बार विधानसभा चुनाव में उन्हें सबक सिखाएगी।
    समाजवादी सरकार में कन्नौज का विकास हुआ। हम परफ्यूमरी पार्क और म्यूजियम बना रहे थे जिसे भाजपा सरकार ने रोक दिया। इसके साथ ही कॉउ मिल्क (गाय का दूध) के प्लांट का सत्यानाश कर दिया। सपा सरकार कन्नौज में परफ्यूम कोर्स शुरू करने के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज बना रही थी। सपा सरकार होती तो कन्नौज के इत्र का डंका पूरे देश में और दुनिया में बजता। जब से बीजेपी सरकार आई कन्नौज का कोई विकास नहीं हुआ। मंडियों का काम रोक दिया। भाजपा फॉरेंसिक लैब बनाने का काम रोक दिया। इस बार इत्र का इंकलाब होगा, 2022 में बदलाव होगा।
     श्री अखिलेष यादव ने कहा कि हिटलर के जमाने में तो प्रोपेगेंडा का एक विभाग होता था लेकिन यहां पर पूरी भाजपा नफरत, दुर्गंध और झूठ फैलाने के लिए काम कर रही है। यूपी के नए चीफ सेक्रेटरी को लेकर सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा यूपी के चुनाव को लेकर हर जुगाड़ अपना रही है। जिस अधिकारी को 2 दिन के बाद रिटायर होना था, उसे केंद्र सरकार ने एक साल का एक्सटेंशन देकर यूपी का मुख्य सचिव बना दिया। यहां बाबा मुख्यमंत्री सोते रहे।
भाजपा के डबल इंजन एक दूसरे से टकरा रहे हैं। उत्तर प्रदेश को डबल इंजन सरकारों से कोई लाभ नहीं हुआ है। समाजवादी पार्टी का एक रथ भाजपा के छह रथो पर भारी साबित हुआ है। इसीलिए भाजपा अब अनैतिक और अलोकतांत्रिक व्यवहार पर उतर आई है। सन् 2022 में जनता इसके लिए उसे माफ नहीं करेगी।        

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !