आबकारी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री नितिन अग्रवाल ने की विभागीय समीक्षा बैठक


निर्धारित लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त करना हमारी प्राथमिकता है-नितिन अग्रवाल


लखनऊ  07 अप्रैल, 2022


उत्तर प्रदेश को वन ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी बनाने हेतु मा. मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के संकल्प को पूर्ण करने में आबकारी विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका है। सरकार की प्रंभावी नीतियों के कारण पिछले पांच वर्षों में आबकारी विभाग द्वारा उल्लेखनीय राजस्व अर्जित किया गया है। अब विभाग को लक्ष्य से 20 प्रतिशत अधिक राजस्व संग्रहण पर बल देना चाहिए, ताकि प्रदेश के विकास कार्यों को और तीव्र गति मिल सके। निर्धारित लक्ष्य से अधिक राजस्व प्राप्त करना हमारी प्राथमिकता है।

यह बात प्रदेश के आबकारी राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री नितिन अग्रवाल ने आज ये गन्ना संस्थान में आबकारी विभाग की प्रथम समीक्षा बैठक के दौरान कहीं। उन्होनें कहा कि मुख्यमंत्री जी को विभाग से बहुत अपेक्षायंे हैं। हमारा प्रयास अधिक से अधिक राजस्व में वृद्धि करें, जिससे डेवलपमेंट के कार्य किये जा सकें, विकास होगा तो प्रदेश की इकोनॉमी बढे़गी। श्री अगवाल ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विभागीय समीक्षा कर जनपद स्तर पर कार्य योजना में बनाकर कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होने 100 दिन की कार्य योजना बनाते हुये टारगेट बेस पर कार्य करने के भी निर्देश दिये।

समीक्षा बैठक के दौरान आबकारी मंत्री ने कहा जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है। जनपदों में तैनात अधिकारी नियमों का पालन करते हुए ही कार्य करें, कोई भी लापरवाही या उनके द्वारा की गई गलत कार्यवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होने अधिकारियों की निर्देश देत हुए कहा कि प्रवर्तन के कार्य को और कारगर बनाया जाये तथा अवैध मदिरा के उत्पादन पर पूरी तरह से अंकुश लगाते हुए दोषियों के विरूद्व कड़ी कार्यवाही की जाये। उन्होंने दूसरे पड़ोसी राज्यों से बिना सीमा शुल्क दिये आ रही मदिरा के व्यापार पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही दुकानों की नियमित चेकिंग सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये।

बैठक के दौरान अपर मुख्य सचिव आबकारी, श्री संजय आर. भूसरेड्डी ने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी एक टीम के रूप में सक्रिय होकर कार्य करना सुनिश्चित करें। उन्होंने प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप दिये गये लक्ष्य को पूरा करने के भी निर्देश दिये। श्री भूसरेड्डी ने कहा कि कुचेष्टा और बेइमानी कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि सभी जनपदीय अधिकारी नियमित रूप से दुकानों का निरीक्षण करें, जिससे कि अवैध शराब व अन्य अवैध कार्यों पर तत्काल रोक लगायी जा सके।


  श्री भूसरेड्डी ने राजस्व प्राप्तियों की जानकारी देते हुए बताया कि माह मार्च, 2022 तक 36,208.44 करोड़ रूपये की प्राप्ति हुई, जो गत वर्ष की तुलना में 20.45 प्रतिशत राजस्व की वृ़ि़द्ध हुई है। उन्होंने प्रवर्तन कार्य की जानकारी देते हुए बताया कि मार्च, 2022 तक कुल 78,544 अभियोग पकड़े गये, जबकि गत वर्ष इस अवधि में कुल 59,915 अभियोग पकड़े गये थे। उन्होंने बताया कि इसी अवधि में 27.87 तथा 8.528 व्यक्तियों को जेल भेजा गया ।

बैठक में विशेष सचिव आबकारी, श्रीमती निधि गुप्ता वत्स, आबकारी आयुक्त,श्री सेंथिल पंडियन सी.अपर आबकारी आयुक्त श्री दिव्य प्रकाश गिरि, अपर आबकारी आयुक्त, डॉ0 योगेन्द्र सिंह, संयुक्त आबकारी आयुक्त, श्री हररीश चन्द्र, श्री राजेश मणि त्रिपाठी के साथ अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर